कोरोना से ठीक होने के बाद लोगों में क्यों बढ़ रहा है डायबिटीज का खतरा? जानें कारण और बचाव के टिप्स

इन दिनों डायबिटीज मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। कोरोना से ठीक होने के बाद लोगों में इसका खतरा बढ़ रहा है। जानें इसके कारण और बचाव के टिप्स

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Jun 07, 2021
कोरोना से ठीक होने के बाद लोगों में क्यों बढ़ रहा है डायबिटीज का खतरा? जानें कारण और बचाव के टिप्स

देश में कोरोना के मामलों (Coronavirus in India) में लगातार कमी आ रही है। साथ ही कोरोना से ठीक होने वाले लोगों की संख्या में भी लगातार इजाफा हो रहा है। लेकिन कोविड से ठीक होने के बाद लोगों में डायबिटीज (Diabetes Risk in Covid Patients) का खतरा बढ़ रहा है। आइसोलेशन खत्म होने या हॉस्पिटल से डिस्चार्ज होने के बाद लोगों का ब्लड शुगर लेवल (Blood Sugar Level) बढ़ रहा है। कोरोना अपने साथ ही कई बीमारियों को भी न्यौता दे जाता है। ऐसे में कोविड से ठीक होने के बाद भी आपको अपने स्वास्थ्य का ध्यान रखना जरूरी होता है। इस बारे में विस्तार से जानने के लिए हमने फैमिली फिजिशियंस ऑफ इंडिया के अध्यक्ष डॉक्टर रमन कुमार (Dr. Raman Kumar, President, Family Physicians of India) से बातचीत की-

डॉक्टर रमन का कहना है कि कोरोना से ठीक होने के बाद कई लोगों में शुगर लेवल हाई (High Sugar Level) हो रहा है। ऐसे लोगों का ब्लड शुगर हाई दिख रहा है, जिन्हें पहले कभी डायबिटीज नहीं था। 10 प्रतिशत से भी कम कोरोना से संक्रमित मरीजों में डायबिटीज के लक्षण देखने को मिल रहे हैं। लेकिन कोरोना होने के बाद डायबिटीज होने के क्या कारण हो सकते हैं? साथ ही इससे कैसे बचाव किया जा सकता है? इसके बारे में जानें।

daibetes

कोरोना मरीजों में डायबिटीज होने के कारण (Diabetes in Covid Patients)

कोरोना मरीजों में डायबिटीज का खतरा भी बढ़ रहा है। इस दौरान कई ऐसे मरीज सामने आए हैं, जिन्हें पहले कभी डायबिटीज नहीं था लेकिन कोरोना के ठीक होने के बाद वे डायबिटीज का भी शिकार हो रहे हैं। कुछ लोगों में कोरोना के इलाज के दौरान भी डायबिटीज के लक्षण सामने आ रहे हैं।

  • - डॉक्टर रमन कुमार बताते हैं कि कई लोगों को पहले से ही डायबिटीज की समस्या रहती है। लेकिन उन्हें पता नहीं चलता है, ऐसे में कोविड होने पर जब उनका शुगर लेवल चेक किया जाता है तो डायबिटीज का पता चलता है।
  • - कोरोना संक्रमण की बीमारी और इसके तनाव की वजह से अकसर मरीजों का शुगर लेवल बढ़ जाता है। 
  • - कोरोना मरीजों को इलाज के दौरान स्टेरॉयड दिया जाता है। इसके अधिक सेवन से शरीर में शुगर लेवल हाई हो जाता है।
  • - कई लोगों में शुगर बॉर्डर लेवल पर होता है और जब वे कोरोना संक्रमित होते हैं, तो उनका शुगर लेवल हाई हो जाता है। 

डायबिटीज से ऐसे करें बचाव (Preventing Diabetes Post Covid Recovery)

daibetes

कोरोना से ठीक हो चुके लोगों को डायबिटीज का खतरा न हो, इसके लिए मरीजों को अपना बचाव करना बहुत जरूरी होता है। कोरोना रिकवरी के बाद लोगों को अपनी डाइट और लाइफस्टाइल पर खास ध्यान देना चाहिए, ताकि वे डायबिटीज का शिकार होने से बच सके।

  • - कोरोना से संक्रमित होने पर अपने ब्लड शुगर लेवल की समय-समय पर जांच करते रहना चाहिए।
  • - कोरोना से ठीक होने के 180 दिनों तक अपने शुगर लेवल को कंट्रोल करना जरूरी होता है। इससे आपको बाद भी ज्यादा समस्या नहीं होगी।
  • - कोरोना मरीजों को ठीक होने के बाद समय पर भोजन करना जरूरी होता है। साथ ही समय पर सोना भी जरूरी है।
  • - अपनी डाइट में हेल्दी चीजों को शामिल करें। इस दौरान मीठे का सेवन बंद कर दें।
  • - कोरोना से ठीक होने के बाद आपको तला-भुना और प्रोसेस्ड फूड खाने से बचना चाहिए। इसके साथ ही आपको ऐसे खाद्य पदार्थों से भी दूरी बनाकर रखनी चाहिए, जिनसे शरीर में ब्लड शुगर लेवल बढ़ता है।
  • - इस दौरान आपको खूब पानी पीना है। शरीर में पानी की कमी न होने दें।

डॉक्टर रमन कुमार बताते हैं कि कोरोना के दौरान या बाद में शुगर लेवल ज्यादा हो सकता है, ऐसे में आपको अपने डॉक्टर के संपर्क में रहना चाहिए। इस दौरान टाइप 1 और 2 दोनों तरह के डायबिटीज के मामले सामने आ रहे हैं। 

Read More Articles on Diabetes in Hindi

 

Disclaimer