Doctor Verified

मॉनसून सीजन में पीरियड्स के दौरान सफाई का रखें विशेष ध्यान, बरतें ये 5 सावधानियां

मानसून के दौरान पीर‍ियड्स में आपको खास ख्‍याल रखने की जरूरत होती है, नहीं तो इन्‍फेक्‍शन हो सकता है। जानते हैं जरूरी टि‍प्‍स 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Jul 05, 2022Updated at: Jul 05, 2022
मॉनसून सीजन में पीरियड्स के दौरान सफाई का रखें विशेष ध्यान, बरतें ये 5 सावधानियां

मानसून में उमस बढ़ जाती है ज‍िसके कारण कई तरह की शारीर‍िक समस्‍याएं हो सकती है। इनमें से एक है पीर‍ियड्स के दौरान वजाइनल इन्‍फेक्‍शन की समस्‍या। अगर आप मानसून के दौरान सही हाइजीन फॉलो न करें, तो संक्रमण की चपेट में आ सकती हैं। एक गलती के कारण बैक्‍टीर‍िया वजाइनल एर‍िया में ग्रो होकर आपकी परेशानी बढ़ा सकते हैं। संक्रमण से बचने के ल‍िए कुछ जरूरी ट‍िप्‍स को जरूर जान लें, ज‍िनके बारे में हम आगे बात करेंगे। इस विषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के झलकारीबाई अस्‍पताल की गायनोकोलॉजिस्ट डॉ दीपा शर्मा से बात की। 

vaginal infection in monsoon

1. ड्राई अंडरगार्मेंट पहनें (Wear Dry Undergarments Only)

मानसून के दौरान अगर आप बार‍िश के पानी में भीग गई हैं, तो वजाइनल इन्‍फेक्‍शन हो सकता है। संक्रमण से बचने के ल‍िए आप ड्राई अंडरगार्मेंट पहनें। पीर‍ियड्स के दौरान इन्‍फेक्‍शन होने की आशंका बढ़ जाती है इसल‍िए इस दौरान खास ख्‍याल रखें।

2. पैड को बदलते रहें (Change Period Pad Frequently)

कई मह‍िलाएं पीर‍ियड्स के दौरान एक ही पैड के सहारे घंटों न‍िकाल देती हैं। ये आदत ठीक नहीं है। खासकर अगर मानसून है, तो आपको जरूरत पड़ने पर पैड चेंज कर लेना चाह‍िए। कपड़ों के साथ-साथ इनरव‍ियर और पैड भी ड्राई होना जरूरी है। 

इसे भी पढ़ें- अनियमित पीरियड्स (Irregular Periods) की समस्या दूर करने के लिए अपनाएं ये 5 अच्छी आदतें

3. मानसून की उमस से बचें (Prevent Humidity During Monsoons)

मानसून सीजन में आसपास के वातावरण में उमस मौजूद होती है। उमस के कारण आपको वजाइनल एर‍िया में रैशेज की समस्‍या हो सकती है। कोश‍िश करें क‍ि खुद को उमस से बचाएं। अगर आपको महसूस हो रहा है क‍ि मानसून के कारण ह्यूम‍िड‍िटी आपको परेशान करेगी, तो आप अपने साथ दो अंडरगार्मेंट कैरी कर सकते हैं। 

4. शरीर को हाइड्रेट रखें (Stay Hydrated During Monsoons)

आपको मानसून के दौरान वजाइनल इन्‍फेक्‍शन, रैशेज, खुजली, रेडनेस आद‍ि समस्‍याओं से बचने के ल‍िए ज्‍यादा से ज्‍यादा पानी का सेवन करना चाह‍िए। पीर‍ियड्स में पानी की पर्याप्‍त मात्रा का सेवन करने से शरीर को ज्‍यादा गर्मी और उमस का एहसास नहीं होगा और आप पीर‍ियड्स के दौरान होने वाली समस्‍याओं से बच सकेंगी।                    

5. मानसून में वजाइनल शेव‍िंंग या वैक्‍स‍िंग न करें (Avoid Shaving or Waxing During Monsoons)

आपको प‍ीर‍ियड्स के दौरान वजाइनल शेव‍िंग या वैक्‍सि‍ंग अवॉइड करना चाह‍िए। इस ट‍िप का ख्‍याल आपको मानसून के दौरान भी रखना है। मानसून के दौरान इन्‍फेक्‍शन होने की आशंका ज्‍यादा रहती है क्‍योंक‍ि उमस भरे मौसम में बैक्‍टीर‍िया आसानी से मल्‍टीप्‍लाई हो जाते हैं। साथ ही मानसून के दौरान इन्‍फेक्‍शन ठीक होने में भी समय लगता है।  

इन आसान ट‍िप्‍स को फॉलो करके आप मानसून के दौरान पीर‍ियड्स में वजाइनल इन्‍फेक्‍शन या उससे संबंधी समस्‍याओं से बच सकती हैं। 

Disclaimer