पिता बनने के बाद पुरुष भी हो सकते हैं पोस्टपार्टम डिप्रेशन का शिकार, जानें लक्षण और इलाज

ऐसा नहीं क‍ि स‍िर्फ मां बनने के बाद ही पोस्‍टपार्टम ड‍िप्रेशन हो, अगर आप हाल ही में प‍िता बने हैं तो आपको भी बच्‍चा होने के बाद ड‍िप्रेशन हो सकता है

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: May 19, 2021Updated at: May 19, 2021
पिता बनने के बाद पुरुष भी हो सकते हैं पोस्टपार्टम डिप्रेशन का शिकार, जानें लक्षण और इलाज

क्‍या पुरूषों को भी पोस्‍टपार्टम ड‍िप्रेशन हो सकता है? नए मेहमान के आने से पुरूषों को पोस्‍टपार्टम ड‍िप्रेशन यानी बच्‍चा होने के बाद का तनाव परेशान कर सकता है। ज्‍यादातर पुरूषों को इस बात का पता नहीं होता कि उन्‍हें भी पोस्‍टपार्टम ड‍िप्रेशन हुआ है या हो सकता है। अब तक हम में से ज्‍यादातर लोग ये समझते थे क‍ि ये केवल मह‍िलाओं को होने वाली समस्‍या है पर ऐसा नहीं है। माता-पिता दोनों को तनाव हो सकता है। कुछ लोग अपनी वर्कलाइफ और पर्सनल लाइफ बैलेंस नहीं कर पाते। इस समय महामारी के कारण ज्‍यादातर लोग अपने-अपने घरों से काम कर रहे हैं। ऐसे में उनके ल‍िए नए मेहमान की ज‍िम्‍मेदारी, ड‍िप्रेशन का कारण बन सकती है। चल‍िए जानते हैं पुरूषों को पोस्‍टपार्टम ड‍िप्रेशन होने पर क्‍या करना चाह‍िए। ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के बोधिट्री इंडिया सेंटर की काउन्‍सलिंग साइकोलॉज‍िस्‍ट डॉ नेहा आनंद से बात की। 

postpartum depression

नए मेहमान के आने से प‍िता को हो सकता है पोस्‍टपार्टम ड‍िप्रेशन 

पत‍ि-पत्‍नी से माता-प‍िता बनना हर कपल का ख्‍वाब होता है पर सबका अनुभव एक जैसा नहीं होता। मह‍िलाओं में ड‍िलीवरी के बाद तनाव, गुस्‍सा, च‍िड़च‍िड़ापन देखा जाता है ज‍िसे पोस्‍टपार्टम ड‍िप्रेशन कहते हैं पर बहुत कम लोग जानते हैं क‍ि ये ड‍िप्रेशन केवल मां ही नहीं बल्‍क‍ि प‍िता को भी हो सकता है। आप सोच रहे होंगे क‍ि शारीर‍िक बदलाव के कारण मां को ड‍िप्रेशन हो सकता है पर प‍िता को ड‍िप्रेशन कैसे हो सकता है? कई शोध और र‍िसर्च के बाद डॉक्‍टर ये मानते हैं क‍ि प‍िता बनने पर भी मां की तरह तनाव हो सकता है। व्‍यक्‍त‍ि को रोने का मन करता है कुछ केस में तो व्‍यक्‍त‍ि सुसाइड के बारे में भी सोचने लगता है। 

पुरूषों में पोस्‍टपार्टम ड‍िप्रेशन के कारण (Causes of postpartum depression in men)

कुछ स्‍टडीज में ये कहा गया है क‍ि पोस्‍टपार्टम ड‍िप्रेशन का कारण हार्मोनल चेंज भी होता है। ऐसा नहीं है क‍ि ड‍िलीवरी के बाद स‍िर्फ मह‍िला ही हार्मोनल चेंज से गुजरती है। प‍िता में भी हार्मोन चेंज होते हैं। लेक‍िन इस बात का कोई पुख्‍ता प्रमाण नहीं है। वहीं साइकोलॉज‍िस्‍ट मानते हैं क‍ि नए मेहमान को संभालना, उसे पालने का खर्च, दवाओं का खर्च आद‍ि की ज‍िम्मेदारी प‍िता पर पड़ती है। ये भी कुछ कारण है ज‍िसके चलते पुरूषों में पोस्‍टपार्टम ड‍िप्रेशन हो सकता है। 

इसे भी पढ़ें- थकान और तनाव भरी जीवनशैली बना सकती है पुरुषों को हार्ट अटैक का शिकार, जानें कैसे बरतें सावधानी

पुरूषों में पोस्‍टपार्टम ड‍िप्रेशन के लक्षण क्‍या हैं? (Symptoms of postpartum depression in men)

  • 1. हर समय उदास होना 
  • 2. काम को लेकर स्‍ट्रेस लेना
  • 3. वजन कम होना या बढ़ना  
  • 4. खुद की जरूरत महसूस न होना 
  • 5. हर समय च‍िड़ाच‍िड़ापन होना 
  • 6. द‍िल की धड़कन का बढ़ना या कम होना 
  • 7. पार्टनर से बात करने का मन न होना 

इसे भी पढ़ें- ज्यादातर पुरुष क्यों नहीं अपनाते गर्भनिरोधक उपाय? जानें पुरुषों के लिए कौन सा गर्भनिरोधक उपाय है उपलब्ध

पुरूषों में पोस्‍टपार्टम ड‍िप्रेशन होने पर क्‍या करें? (Treatment of postpartum depression in men)

depression in men

क‍िसी भी समस्‍या को छुपाकर रखने से बेहतर है आप उसके इलाज के बारे में सोचें। साइकोलॉज‍िकल समस्‍याओं को ज्‍यादातर लोग हल्‍के में लेते हैं पर आपको ये समझना होगा क‍ि मानस‍िक स्‍वास्‍थ्‍य ब‍िगड़ने का असर आपके शरीर पर पड़ने लगेगा इसल‍िए देरी न करें ये उपाय अपनाएं- 

1. पार्टनर से या दोस्‍तों से बात करें (Talk to your partner or freinds)

अगर बच्‍चा होने के बाद आपको ड‍िप्रेशन महसूस हो रहा है तो अपने दोस्‍तों से या सबसे पहले अपनी पत्‍नी से इस बारे में बात करें क्‍योंक‍ि ये हो सकता है क‍ि बच्‍चे की मां भी आपकी तरह ही इस समय तनाव महसूस कर रही हो। माता-प‍िता म‍िलकर बच्‍चे की देखभाल कर सकते हैं। इससे ड‍िप्रेशन भी कम होगा। 

2. मेड‍िटेशन की मदद लें (Take help of meditation)

ड‍िप्रेशन को दूर करने का सबसे सरल उपाय है आप सुबह-सुबह मेड‍िटेट करें। नए मेहमान के आने से कई बातें द‍िमाग में चलती हैं। इसल‍िए खुद को शांत और खुश रखने के ल‍िए आप आधा घंटा ध्‍यान करें। आंखों को बंद करके गहरी सांस लें और छोड़ें, ऐसा आपको 30 म‍िनट तक करना है। 

3. प‍िता बन चुके लोगों से सलाह लें (Take advice from other fathers)

इंसान हमेशा अनुभव से सीखता है। पोस्‍टपार्टम ड‍िप्रेशन को दूर करने के ल‍िए आप दूसरे बच्‍चों के प‍िता से सलाह ले सकते हैं। जो पहले से प‍िता बन चुके हैं वो आपको इस बारे में कुछ बता पाएंगे। हालांक‍ि ये जरूरी नहीं है क‍ि हर प‍िता को पोस्‍टपार्टम ड‍िप्रेशन हो पर बात करके आपका मन हल्‍का हो जाएगा। 

4. डाइट को करें बैलेंस (Balance your diet)

आपको अपनी डाइट पर फोकस करना है। अपनी डाइट में विटामि‍न-म‍िनरल एड करें। फल और सब्‍ज‍ियों का सलाद फायदेमंद होगा। इससे द‍िमाग में पॉज‍िट‍िव हार्मोंस बनेंगे। नए मेहमान के आने पर अक्‍सर माता-प‍िता की नींद पूरी नहीं होती और ये भी ड‍िप्रेशन का कारण हो सकता है। इसके ल‍िए अपने पार्टनर से बात करें और दोनों म‍िलकर बारी-बारी से बच्‍चे को संभाले ताक‍ि दूसरा व्‍यक्‍त‍ि भी सो सके। 

5. वर्क और पर्सनल लाइफ को अलग रखें (Balance between personal and professional life)

पोस्‍टपार्टम ड‍िप्रेशन को कम करने के लि‍ए अपनी वर्क लाइफ और पर्सनल लाइफ को बैलेंस करें। बच्‍चा होने पर ज‍िम्‍मेदारी बढ़ती है इसलि‍ए अपने पार्टनर से इस पर बात करें क‍ि वो कैसे बच्‍चे की ज‍िम्‍मेदारी को आपस में बांट सकते हैं। इससे आपका र‍िश्‍ता और मजबूत होगा साथ ही आपको तनाव की श‍िकायत नहीं होगी। 

अगर आपको भी प‍िता बनने के बाद हद से ज्‍यादा स्‍ट्रेस या ड‍िप्रेशन महसूस हो रहा है तो इंतजार न करें, तुरंत अपने डॉक्‍टर से सलाह लें। ड‍िप्रेशन आपके शारीर‍िक और मानस‍िक स्‍वास्‍थ्‍य को खराब कर सकता है इसल‍िए लक्षण नजर आने पर च‍िकित्‍सा सलाह लें। 

Read more on Men Health in Hindi 

Disclaimer