त्वचा की ऊपरी पर्त निकलने के हो सकते हैं ये 8 कारण, जानें इसके लक्षण और उपचार

पीलिंग स्किन की समस्या यानी त्वचा की ऊपरी परत के निकलने की समस्या, इसके कारण, लक्षण और पीलिंग स्किन ट्रीटमेंट के बारे में पता होना बेहद जरूरी है

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Oct 01, 2021
त्वचा की ऊपरी पर्त निकलने के हो सकते हैं ये 8 कारण, जानें इसके लक्षण और उपचार

जब भी हमारी त्वचा पर किसी भी प्रकार की समस्या हो जाती है तो इसके कारण हमें शर्मिंदगी का सामना उठाना पड़ता है। ऐसे में हम चाहते हैं कि त्वचा की समस्याओं को जल्दी ठीक किया जाए और त्वचा को चमकदार बनाया जाए। ऐसी ही एक समस्या है त्वचा की ऊपरी परत का निकल जाना। इसे इंग्लिश में पीलिंग स्किन (peeling skin) के नाम से भी जाना जाता है। बता दें कि इस समस्या का मुख्य कारण है सनबर्न। लेकिन इससे अलग कुछ और भी कारण हैं जैसे एक्जिमा, त्वचा का संक्रमण, बाहरी त्वचा में सूजन आदि,  जिसके कारण त्वचा की ऊपरी परत उतर सकती है। ऐसे में इन समस्याओं के बारे में पता होना जरूरी है। आज का हमारा लेख इसी विषय पर है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि पीलिंग स्किन के क्या लक्षण हैं। साथ ही कारण और उपचार के बारे में भी जानेंगे। इसके लिए हमने एवी ब्यूटी स्किन क्लीनिक की कॉस्मेटोलॉजिस्ट (पीजीडीसीए), स्किन एंड हेयर केयर स्पेशलिस्ट, डॉ. वर्तिका बामनिया (Dr. Vritika Bamniya Cosmetologist (PGDCC), Skin & Hair specialist) से भी बात की है। पढ़ते हैं आगे...

 

पीलिंग स्किन के लक्षण और संकेत

1 - त्वचा का रूखा होना।

2 - त्वचा पर पपड़ी जम जाना।

3 - त्वचा का लाल हो जाना।

4 - त्वचा पर खुजली होना।

5 - त्वचा में जलन महसूस करना।

 इसे भी पढ़ें- कुछ लोगों में क्यों जल्दी ठीक नहीं होते फ्लू और वायरल संक्रमण के मामले? डॉक्टर से जानें कारण और बचाव के टिप्स

पीलिंग स्किन (त्वची की ऊपरी परत का निकलना) के कारण

1 - त्वचा पर फफोले पड़ने के कारण व्यक्ति की त्वचा छिल सकती है।

2 - एक्जिमा, त्वचा का संक्रमण आदि को ठीक करने के लिए कुछ दवाओं के सेवन से भी यह समस्या हो सकती है।

3 - फंगल इंफेक्शन के कारण पीलिंग स्किन की समस्या हो सकती है।

4 - जो व्यक्ति त्वचा से संबंधित एरिथ्रोडर्मा (एक्सफ़ोलीएटिव डर्मेटाइटिस) समस्या का शिकार हो जाता है तब भी समस्या हो सकती है।

5 - स्टीवंस जॉनसन सिंड्रोम के कारण भी ये समस्या हो सकती है।

6 - टॉक्सिक एपिडर्मल नेक्रोलिसिस के कारण में समस्या हो सकती है।

7 - हाइपरविटामिनोसिस एक ही कारण यह समस्या हो सकती है।

8 - रेटिनोइड्स और बेंजोयल पराक्साइड अल्ट्रा-वॉयलेट किरणों के कारण भी यह समस्या हो सकती है।

 

पीलिंग स्किन का ट्रीटमेंट घर पर कैसे करें? 

आमतौर पर इस ट्रीटमेंट में मृत कोशिकाओं को हटाया जाता है और नई कोशिकाओं को लआने के लिए जगह बनाई जाती है। ऐसे में घर पर ही आप कुछ तरीकों को अपनाकर पीलिंग ट्रीटमेंट ले सकते हैं। जानते हैं तरीकों के बारे में-

1 - खीरे के रस और ग्रीन टी के माध्यम से भी आप घर पर पीलिंग ट्रीटमेंट ले सकते हैं। बता दें कि ऐसे में आपको एक कटोरी में ग्रीन टी, कैमोमाइल ट्री, खीरे का रस, जिलेटिन आदि को मिलाना है और ठंडा होने के बाद चेहरे पर 20 मिनट के लिए लगाना है। 20 मिनट के बाद चेहरे को धो लें। 

2 - सेब के सिरके के इस्तेमाल से भी पीलिंग स्किन का ट्रीटमेंट लिया जा सकता है। ऐसे में आप सेब के सिरके को एपप्ल सॉस के साथ मिलाएं और चेहरे पर 20 मिनट के लिए लगाएं। 20 मिनट बाद चेहरे को गुनगुने पानी से धो लें।

3 - शहद और पपीते के माध्यम से भी पीलिंग ट्रीटमेंट लिया जा सकता है। ऐसे में आप पाइनएप्पल, पपीता और शहद का मिश्रण तैयार करें और प्रभावित स्थान पर 20 से 30 मिनट के लिए लगाएं। थोड़े समय बाद त्वचा को अच्छे से धो लें।

इसे भी पढ़ें- पेट में एसिड की कमी (हाइपोक्लोरहाइड्रिया) होने पर दिखाई देते हैं ये 9 लक्षण, जानें कारण और बचाव

4 - अंडे के उपयोग से भी पीलिंग ट्रीटमेंट लिया जा सकता है। ऐसे में आप एक कटोरी में खीरे का पल्प, नींबू का रस और अंडे का सफेद हिस्सा मिलाएं और बने मिश्रण को चेहरे पर लगाएं। अब 25 मिनट के लिए मिश्रण को चेहरे पर लगे रहने दें। उसके बाद धो लें।

नोट - ऊपर बताए गए बिंदुओं से पता चलता है कि त्वचा के निकलने की समस्या को दूर करने के लिए कुछ घरेलू उपाय आपके बेहद काम आ सकते हैं। लेकिन उससे पहले यह जाना बेहद जरूरी है कि पीलिंग स्किन की समस्या किस कारण हुई है। ऐसे में उस कारण के बारे में जानकर समस्या को ठीक किया जा सकता है। अगर घरेलू उपायों का प्रयोग करते वक्त किसी भी प्रकार की जलन या एलर्जी महसूस हो तो इन उपायों का इस्तेमाल ना करें।

इस लेख में फोटोज़ Freepik से ली गई हैं। 

Disclaimer