Expert

फैटी लिवर से छुटकारा पाने के लिए जीवनशैली में करें ये 6 बदलाव, मिलेगा फायदा

Lifestyle Changes To Cure Fatty: जीवनशैली में बदलाव के साथ फैटी लिवर से आसानी से छुटकारा पाया जा सकता है, जानें फैटी लिवर के लिए 6 जीवनशैली बदलाव।

 
Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: May 20, 2022Updated at: May 20, 2022
फैटी लिवर से छुटकारा पाने के लिए जीवनशैली में करें ये 6 बदलाव, मिलेगा फायदा

लिवर हमारे शरीर के महत्वपूर्ण अंगों में से एक है। इन दिनों बहुत से लोग लिवर संबंधी समस्याओं का सामना कर रहे हैं। जिनमें फैटी लिवर सबसे आम है। फैटी लिवर की समस्या दो तरह की होती है एक अल्कोहलिक और दूसरा नॉन-अल्कोहलिक फैटी लिवर। जो आपके लिवर को गंभीर रूप से प्रभावित करती है। लेकिन क्या आप जानते हैं जीवनशैली में कुछ मामूली बदलावों के साथ फैटी लिवर की समस्या से आसानी से छुटकारा पाया जा सकता है (Lifestyle Changes To Cure Fatty Liver In Hindi)? आयुर्वेदिक चिकित्सक और पंचकर्म स्पेशलिस्ट डॉ. अंकित की मानें तो जीवनशैली सभी स्वास्थ्य समस्याओं के लिए जिम्मेदार है। अपनी जीवनशैली में बदलाव करके आप कई गंभीर रोगों के जोखिम को कम कर सकते हैं। लिवर और अग्न्याशय पित्त दोष से प्रभावित होने वाले अंग हैं। अगर यह स्वस्थ नहीं रहते हैं तो हेपेटाइटिस, पीलिया और सिरोसिस जैसी समस्याएं हो सकती हैं। इस लेख में हम आपको फैटी लिवर से छुटकारा पाने के लिए 6 जीवनशैली बदलावों (Lifestyle Changes To Cure Fatty Liver In Hindi) के बारे में बता रहे हैं।

लिवर शरीर में क्या काम करता है (How Liver Works In Our Body In Hindi)

लिवर शरीर के विभिन्न कामकाज में अहम भूमिका निभाता है। यह शरीर में कार्बोहाइड्रेट को मेटाबॉलाइज करने, विटामिन ए, डी, ई, के और बी 12 को स्टोर करने, फैट को ऊर्जा में परिवर्तित करने, कोलेस्ट्रॉल को संश्लेषित और विनियमित करने का कार्य करता है। साथ ही शरीर को ऊर्जा प्रदान करने के लिए कार्बोहाइड्रेट से प्राप्त अतिरिक्त ग्लूकोज को संग्रहीत करता है। जब हमारा लिवर अपना काम ठीक से नहीं करता है तो यह शरीर में कई गंभीर बीमारियों के जोखिम को बढ़ाता है। इसलिए लिवर को स्वस्थ रखना बहुत जरूरी है।

फैटी लिवर से छुटकारा पाने के लिए 5 जीवन शैली बदलाव (Lifestyle Changes To Cure Fatty Liver In Hindi)

1. शरीर को स्वस्थ वजन को बनाए रखें

शरीर का वजन बढ़ना या मोटापा कई गंभीर बीमारियों के जोखिम को बढ़ाता है। जिनमें से एक फैटी लिवर भी है। इसलिए आपको हमेशा अपने वजन को कंट्रोल में रखना चाहिए। स्वस्थ और पोषक तत्वों से भरपूर आहार लें। गतिहीन जीवनशैली को फॉलो न करें। रोजाना एक्सरसाइज करें, दिन में सिर्फ 30 मिनट एक्सरसाइज या योग का अभ्यास वजन नियंत्रण में बेहद लाभकारी साबित हो सकता है। इससे मोटापा भी कम होगा।

2. घर पर बना खाना ही खाएं

हमें में से कुछ लोगों की आदत होती है कि जब भी घर से बाहर निकलते हैं या ऑफिस जाते हैं तो घर से बना खाना खाने की बजाए, बाहर का खाना बहुत अधिक खाते हैं। जंक फूड्स और प्रोसेस्ड फूड फैटी लिवर की समस्या को बढ़ा सकते हैं। इसलिए यह सुनिश्चित करें कि आप जब भी घर से बाहर जाएं तो घर से खाना लेकर जाएं।

इसे भी पढें: \डेंगू और टाइफाइड के लक्षणों में अंतर: डॉक्टर से जानें इनके लक्षण और बचाव के टिप्स

3. भोजन स्किप न करें

डॉ. अंकित कि मानें तो जब आप अपने भोजन को स्किप करते हैं या फास्टिंग करते हैं तो यह शरीर में पित्त दोष को बढ़ाता है। साथ ही यह आपके पाचन और मेटाबॉलिज्म को प्रभावित करता है।  जो वजन बढ़ाने में योगदान देता है और शरीर में चर्बी को बढ़ाता है। इसलिए भले ही आप थोड़ा-थोड़ा खाएं लेकिन भोजन को स्किप न करें या दो मील के बीच लंबा गैप न रखें।

4. योग और मेडिटेशन का अभ्यास करें

योग और मेडिटेशन का अभ्यास करना स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होता है। यह सिर्फ शारीरिक स्वास्थ्य के लिए ही नहीं मानसिक स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद है। इससे तनाव, चिंता और डिप्रेशन जैसी स्थितियों से निपटने में मदद मिलती है और मन शांत रहता है। साथ ही अच्छी नींद लेने में भी मदद करती है। फैटी लिवर की समस्या में योग और मेडिटेशन का अभ्यास बेहद लाभकारी साबित हो सकता है।

5. देर रात भोजन न करें और रात को जल्दी सो जाएं

देर रात भोजन करने से आपके शरीर में भोजन ठीक से पच नहीं पाता है। यह सिर्फ शरीर का वजन बढ़ाने में योगदान देता है और शरीर में चर्बी को बढ़ाता है। साथ ही रात में कोशिश करें कि आप 10 बजे तक सो जाएं, और कम से कम 8 घंटे की एक अच्छी नींद लें।

इसे भी पढें: परिवार के साथ समय बिताने से बेहतर होता है मानसिक स्वास्थ्य, जानें इससे मिलने वाले 4 फायदे

6. देर रात तक काम न करें

बहुत से लोग देर रात तक अपने लैपटॉप या मोबाइल की स्क्रीन से चिपके रहते हैं। लेकिन यह आपकी सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है, साथ ही आपको नींद नहीं आती है। इसलिए देर रात तक काम करने से बचें।

All Image Source: Freepik.com

Disclaimer