जैकलीन फर्नांडीज ने कोविड-19 से जीत कर वापस आई रीता बच्चनवाला से की बात, साझा किया अपना अनुभव

एक्ट्रेस जैकलीन फर्नांडीज ने कोरोना वायरस को हरा कर आईं रीता से खास बात की। रीता ने जैकलीन के साथ साझा किया अपना अनुभव।

 

Vishal Singh
विविधWritten by: Vishal SinghPublished at: Apr 09, 2020
जैकलीन फर्नांडीज ने कोविड-19 से जीत कर वापस आई रीता बच्चनवाला से की बात, साझा किया अपना अनुभव

दुनियाभर में कोरोना वायरस का प्रकोप बहुत ही तेजी से फैल रहा है जिसकी वजह से जन-जीवन भी पूरी तरह से अस्त-व्यस्त हो गया है। हर जगह, हर कोई इस वायरस के संक्रमण के कारण डरा हुआ सा महसूस कर रहा है। कोरोना वायरस के कहर से दुनियाभर में हजारों लोगों की जान जा चुकी है। वहीं, लाखों लोग इसकी चपेट में आ गए हैं। लेकिन इस बीच कई लोग कोरोना वायरस से जिंदगी की लड़ाई लड़ कर भी वापस आ रहे हैं। एक्ट्रेस जैकलीन फर्नांडीज ने कोरोना वायरस को हरा कर आईं रीता से खास बात की। 

देशभर लॉकडाउन के बीच जैकलीन फर्नांडीज घर पर ही कुछ न कुछ कर रही है जैसे कि पढ़ना, योग करना, अपने पसंदीदा शो देखना और वह सब कुछ करती हैं जो वह अपने व्यस्त कार्यक्रम के साथ आम दिनों में नहीं कर पाती हैं। अभिनेत्री अपने सोशल मीडिया पोस्ट के माध्यम से अपने प्रशंसकों का मनोरंजन भी कर रही है। आए दिन जैकलीन अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर कुछ न कुछ करती नजर आ रही हैं। इस बार जैकलीन ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर कोरोना वायरस की पीड़िता रीता जो जिंदगी की जंग जीत कर वापस आईं है उनसे बात की। 

रीता बच्चनवाला ने जीती जंग

जैकलीन फर्नांडिज ने रीता से बात करते हुए उनसे कोरोना वायरस से लड़ने का अनुभव पूछा। जैकलीन ने रीता से सवाल किया की उन्हें क्या-क्या शुरुआती लक्षण नजर आए और लोगों में क्या गलत फैमी है जो उन्हें दूर करनी चाहिए। रीता ने अपना अनुभव बताते हुए कहा कि कोरोना वायरस से उनकी जंग काफी खतरनाक और मुश्किल भरी थी, लेकिन ये कहना मुश्किल है कि मुझ में वायरस कहां से आया। रीता ने आगे कहा कि जब वह लंदन से भारत में पहुंची तो उन्हें एयरपोर्ट पर जांच के दौरान पता चला की वो कोरोना वायरस से पीड़ित हैं। वायरस पॉजिटिव पाए जाने के 2 दिन बाद उन्हें बुखार था जो करीब 101 डिग्री था। 

रीता ने जैकलीन को बताया कि अगर आपको वायरस होगा भी तो आपको इसकी जानकारी नहीं होगी कि आप स वायरस के संक्रमण में हैं। रीता ने जैकलीन को बताया कि इस संक्रमण से बचने का सबसे बेहतरीन तरीका सोशल डिस्टेंसिंग ही है जिसकी वजह से आप अपना बचाव कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें: क्‍या कोरोना वायरस का इलाज संभव है?

रीता ने बताया अपना अनुभव

जैकलीन ने रीता से बात करते हुए पूछा कि क्या आपको किसी तरह का शारीरिक दर्द महसूस हुआ जैसे: गले में दर्द या खराश या किसी और तरह की परेशानी महसूस हुई हो। रीता ने बताया कि इस वायरस के संक्रमण में कुछ खास तो परेशानी नहीं हुए लेकिन हां मुझे थकावट बहुत महसूस होती थी। जिसकी वजह से मैं ज्यादातर समय सोना ही पसंद करती थी। रीता ने बताया कि मुझे करीब 14 दिन तक क्वारंटीन में रखा गया जिसके बाद मेरी जब रिपोर्ट आई तो उसमें पॉजिटिव पाया गया। जिसके बाद मैंने योगा और एक्सरसाइज करना शुरू किया जोकि मैं हमेशा से करती थी। 

‘ये एक तरीके का मेरा दूसरा जन्म है’

जैकलीन ने जिंदगी की जंग जीतने पर उनसे पूछा कि जब आप पूरी तरह से स्वस्थ हो गई और आपकी जांच नेगिटिव आई तो आपको कैसा महसूस हुआ। इसके जवाब में रीता ने कहा कि वो इस जंग को जितने के बाद काफी अच्छा महसूस हुआ, क्योंकि मैं एक महामारी के प्रकोप से बाहर आई थी। ये एक तरीके से मेरा दूसरा जन्म ही था, तो इसलिए मेरी खुशी का कोई अंत नहीं था। 

इसे भी पढ़ें: एक से दूसरे व्‍यक्ति में फैलता है, कोरोना वायरस

आपको बता दें कि सूरत की रहने वाली 21 साल की रीता बच्चनवाला को कोरोनोवायरस हुआ था और वह वायरस से लड़ते हुए वापस घर लौंटी हैं। हाल ही में रीता ने मीडिया को बताया कि सिविल अस्पताल के कर्मचारियों ने उनकी बहुत देखभाल की। जबकि उसे 14 दिनों के लिए आइसोलेशन वार्ड में रखा गया था।

Read More Article On Miscellaneous In Hindi 

Disclaimer