आपके लार से हो सकेगी ब्रेस्ट और ओवरियन कैंसर की जांच, आईआईटी रूड़की ने खोजा तरीका

ब्रेस्ट कैंसर और ओवरियन कैंसर महिलाओं में पाए जाने वाले प्रमुख कैंसर हैं। दुनियाभर में कैंसर से होने वाली मौतों के 20% से ज्यादा मामलों में ब्रेस्ट कैंसर और ओवरियन कैंसर जिम्मेदार हैं। महिलाओं में इन कैंसरों की जांच के लिए अभी मैमोग्राम और अल्ट्रा

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavPublished at: Apr 17, 2019
आपके लार से हो सकेगी ब्रेस्ट और ओवरियन कैंसर की जांच, आईआईटी रूड़की ने खोजा तरीका

ब्रेस्ट कैंसर और ओवरियन कैंसर महिलाओं में पाए जाने वाले प्रमुख कैंसर हैं। दुनियाभर में कैंसर से होने वाली मौतों के 20% से ज्यादा मामलों में ब्रेस्ट कैंसर और ओवरियन कैंसर जिम्मेदार हैं। महिलाओं में इन कैंसरों की जांच के लिए अभी मैमोग्राम और अल्ट्रासाउंड जैसी तकनीकें अपनाई जाती हैं। मगर जल्द ही आपके लार द्वारा इन दोनों कैंसरों की जांच की जा सकेगी। आईआईटी रूड़की के शोधकर्ताओं ने एक ऐसा तरीका खोज लिया है, जिससे महिलाओं के लार की जांच करके उसके शरीर में स्तन कैंसर और गर्भाशय के कैंसर के बारे में पता लगाया जा सकेगा।

लार में पाए गए खास प्रोटीन

आईआईटी रूड़की के बायोटेक्नोलॉजी डिपार्टमेंट के प्रोफेसर किरन अंबातीपुड़ी और उनकी टीम ने व्यक्ति के लार में कुछ ऐसे प्रोटीन्स की पहचान की है, जिसकी जांच के द्वारा शरीर में पनपने वाले ओवरियन कैंसर और ब्रेस्ट कैंसर के बारे में पता लगाया जा सकता है। इस शोध के लिए टीम ने स्टेज 4 वाले ब्रेस्ट और ओवरियन कैंसर के मरीजों, 3 बार कीमोथेरेपी करा चुके मरीजों और स्वस्थ महिलाओं के लार के सैंपल की जांच की। शोध में 57 ऐसे प्रोटीन्स पाए गए, जो ब्रेस्ट कैंसर और ओवरियन कैंसर के मरीजों में, स्वस्थ व्यक्तियों से अलग थे।

इसे भी पढ़ें:- सफेद नमक है सेहत के लिेए नुकसानदायक, वैज्ञानिकों ने खोजे नमक के 'सेहतमंद' विकल्प

सस्ती और आसान हो जाएगी कैंसर की जांच

प्रोफेसर अंबातीपुड़ी ने बताया कि ब्रेस्ट कैंसर और ओवरियन कैंसर की जांच अभी काफी मुश्किल है। कई बार इस प्रकार के कैंसर के लक्षण बहुत बाद में नजर आते हैं, जिससे खतरा काफी बढ़ जाता है। इसके अलावा पारम्परिक तरीकों से कैंसर की जांच काफी मंहगी भी होती है। मगर लार के द्वारा इन दोनों कैंसरों की जांच संभव हो जाने से इसका पता शुरुआती स्टेज में ही लगाया जा सकता है। इसके अलावा ये जांच सलाइवा पर आधिरत है, इसलिए बेहद सस्ती भी होगी।

इसे भी पढ़ें:- तेजी से फैल रहा है खतरनाक फंगल इंफेक्शन, 45% मरीजों की 90 दिन के भीतर मौत

कैंसर के फैलने से पहले चलेगा पता

प्रोफेसर अंबातीपुड़ी ने यह भी कहा कि लार की जांच के बावजूद कैंसर की पुष्टि करने के लिए क्लिनिकल जांच की जरूरत पड़ेगी। मगर अच्छी बात यह है कि अगर किसी महिला को ब्रेस्ट कैंसर या ओवरियन कैंसर की संभावना या लक्षण दिखाई देते हैं, तो इसे शुरुआती अवस्था में सस्ती जांच से ही पहचाना जा सकेगा। ये रिसर्च FASEB Bioadvances में छापी गई है।

Read More Articles On Health News in Hindi

Disclaimer