चोट लगने या गर्म चाय-दूध से मुंह जलने पर इन 3 तरीकों से इस्तेमाल करें शहद, मिलेगा जल्द आराम

शहद का उपयोग: अचानक से कुछ खाते-पीते मुंह जल जाए या फिर चोट लग जाए, तो आप फफोले और सूजन से बचने के लिए शहद का इस्तेमाल कर सकते हैं।  

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Dec 02, 2021Updated at: Dec 02, 2021
चोट लगने या गर्म चाय-दूध से मुंह जलने पर इन 3 तरीकों से इस्तेमाल करें शहद, मिलेगा जल्द आराम

घरेलू नुस्खों की खास बात ये होती है कि ये हमेशा ही करगार होते हैं और कई स्थितियों को कंट्रोल करने में मदद करते हैं। आज हम आपको ऐसी ही एक चीज के बारे में बताएंगे जो कि कई बीमारियों में और त्वचा की कई स्थितियों के लिए रामबाण घरेलू इलाज है। जी हां, हम बात शहद (honey uses in hindi) की कर रहे हैं। शहद एंटीबैक्टीरियल है जिसमें कि कई हीलिंग गुण भी शामिल हैं। साथ ही इसका एंटी इंफ्लेमेटरी गुण त्वचा से सूजन को कम करने में मदद करता है और चोट को ठीक करता है। पर क्या आप जानते हैं कि शहद का इस्तेमाल आप अपने घावों और गर्म चाय या दूध से मुंह जलने पर भी कर सकते हैं? नहीं तो, आइए हम आपको बताते हैं कि मुंह जलने पर और चोट में आप शहद का इस्तेमाल कैसे कर सकते हैं और इसे इस्तेमाल करने के फायदे क्या हैं? 

InsideHowtousehoneyforburnsandwounds

1. जलने पर कैसे इस्तेमाल करें शहद-How to use honey for burns

कई बार हम चाय या दूध पी रहे होते हैं और हमारा मुंह जल जाता है। भले ही ये गलती से हो पर बहुत दर्द देने वाला होता है। ऐसे में शहद आपकी मदद कर सकता है। दरअसल, शहद का एंटी इंफ्लेमेटरी गुण पहले जलन को कम करने की कोशिश करता है और मुंह में छालों को बनने से रोकता है। इसके बाद इसका हीलिंग गुण मुंह में फफोले बनने से रोकता है। दरअसल, शहद नरम टिशूज में तरल पदार्थ की गति को बढ़ाने के लिए अपनी एंटी इंफ्लेमेटरी क्षमता के माध्यम से घाव के एक्सयूडेट की मात्रा को कम करने में मदद कर सकता है। इसी के कारण फफोले बनने लगते हैं। इसके अलावा ये सूजन, अतिरिक्त दर्द और एडिमा को करता है। इसके लिए आप

  • -मुंह जलने के बाद एक चम्मच शहद लें और उसे लेप की तरह मुंह के अंदर लगा लें।
  • -ज्यादा जलन होने पर इसे हर कुछ घंटों के बाद मुंह में लगाएं और बेहतर महसूस करें।
  • -आप शहद में दालचीनी मिला कर अपने मुंह में लगा सकते हैं। इससे आपको जल्दी आराम महसूस होगी। 

इसे भी पढ़ें : इन 6 समस्याओं को दूर करता है हल्दी और फिटकरी का मिश्रण, जानें कैसे करना है इस्तेमाल

2. चोट लगने पर लगाएं शहद का लेप-How to use honey for wounds

चोट लगने पर शहद का इस्तेमाल जल्दी काम करता है। सबसे पहले तो ये सूजन को रोकने में मदद करता है। दरअसल, शहद में शुगर होता है जो कि आसमाटिक प्रभाव के कारण जाना जाता है। ये सूजन को कम करता है और घाव को भरने के लिए लसीका के प्रवाह को प्रोत्साहित करता है। चीनी बैक्टीरिया कोशिकाओं से पानी भी निकालती है, जो उन्हें मल्टीप्लाई करने से रोकने में मदद करती है। साथ ही इसका एंटीबैक्टीरियल गुण घावों में मौजूद बैक्टीरिया को कम करने और इसे ठीक करने में मदद करता है। इसलिए चोट लगने पर आपको शहद में हल्दी मिला कर एक लेप तैयार करना चाहिए और इसे अपने चोट पर लगाना चाहिए।

Inside2burn

3. जल्दी हीलिंग के लिए रोज रात में लगाएं शहद

शहद स्किन का पीएच बैलेंस करता है। शहद का एसिडिक पीएच 3.2 और 4.5 के बीच होता है। जब घावों पर लगाया जाता है, तो एसिडिक पीएच खून को ऑक्सीजन रिलीज के लिए प्रोत्साहित करता है, जो घाव भरने के लिए जरूरी है। ये एसिडिक पीएच प्रोटीज नामक पदार्थों की उपस्थिति को भी कम करता है जो घाव भरने की प्रक्रिया को बाधित करता है। तो, ये जलने का जलन और कटने के दर्द और सूजन को भी कम कर सकता है। इसके लिए रोज रात को सोने से पहले जहां आपको चोट लगी है या या जल गया है वहां शहद लगाएं। रेगुलर करते रहें ये जल्दी ठीक होने लगेगा। 

इसे भी पढ़ें : भुनी हुई सौंफ के फायदे: पेटदर्द, कब्ज जैसी इन 7 समस्याओं से राहत के लिए खाएं भुनी सौंफ

इस तरह आप शहद को कई प्रकार से इस्तेमाल कर सकते हैं। ये जले-कटे के घावों में बहुत लाभकारी है। इसकी एक खास बात ये भी है कि ये घाव को फैलने से रोकता है और फिर इसके दाग-धब्बों को भी कम करने में मदद करता है। शहद को आप अपने चेहरे के घावों में भी लगा सकते हैं। ये उसे भी ठीक करने में मदद करेगा। पर अगर आप घाव गंभीर है तो इसके इस्तेमाल के बाद डॉक्टर को एक बार जरूर दिखा लें और अपना सही से इलाज करवाएं। 

all images credit: freepik

Disclaimer