वजन घटाने में मदद करता है अल्‍कलाइन वाटर, जानें बनाने का तरीका

Alkaline Water Benefits: अल्‍कलाइन वाटर का सेवन करने से वजन कम करने में मदद म‍िलती है। आप इसे घर पर भी बना सकते हैं। जानें सही तरीका।  

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Sep 13, 2022Updated at: Sep 13, 2022
वजन घटाने में मदद करता है अल्‍कलाइन वाटर, जानें बनाने का तरीका

स‍िलेब्र‍िटीज के बीच अल्‍कलाइन वाटर काफी पॉपुलर है ज‍िसे देखकर आम लोग भी इसके प्रत‍ि रुच‍ि द‍िखाने लगे हैं।अल्‍कलाइन वाटर, शरीर को ड‍िटॉक्‍सीफाई करने में मदद करता है। इसकी मदद से शरीर को जरूरी म‍िनरल्‍स म‍िलते हैं। प्राकृतिक रूप से बायकार्बोनेट युक्त पानी को अल्‍कलाइन वाटर कहा जाता है। नल में आने वाले पानी का पीएच स्‍तर 6 से 7 के बीच होता है वहीं अल्‍कलाइन वाटर का पीएच स्‍तर करीब 8.8 होता है। इस लेख में हम अल्‍कलाइन वाटर को घर पर बनाने का तरीका जानेंगे।  

alkaline water benefits

अल्‍कलाइन वाटर पीने से वजन घटता है?

अल्‍कलाइन वाटर पीने से वजन कम करने में मदद म‍िलती है। कई स्‍टडीज में अल्‍कलाइन वाटर को वेट लॉस के ल‍िए फायदेमंद बताया गया है। हालांक‍ि अल्‍कलाइन वाटर मेटाबॉल‍िज्‍म रेट को ठीक नहीं करता लेक‍िन ये आपकी डाइट में कैलोरीज नहीं बढ़ाएगा ज‍िसकी मदद से आपको वजन घटाने में मदद म‍िलेगी। अल्‍कलाइन वाटर में एंटीऑक्‍सीडेंट्स मौजूद होते हें जो शरीर को वजन कम करने में मदद करते हैं। इसके अलावा अल्‍कलाइन वाटर शरीर को ड‍िटॉक्‍सीफाई करता है। शरीर में मौजूद बेकार तत्‍वों को बाहर कर देने से वेट लॉस करने में मदद म‍िलती है और यही अल्‍कालाइन वाटर का मुख्‍य काम है।     

इसे भी पढ़ें- इम्यूनिटी बढ़ा सकता है Alkaline Water, जानें सामान्य पानी और एल्कलाइन युक्त पानी के बीच क्या है फर्क   

अल्‍कलाइन वाटर बनाने का तरीका 

सामग्री: पानी और नींबू 

व‍िध‍ि:

  • नींबू की मदद से आप अल्‍कलाइन वाटर बना सकते हैं।
  • एक बड़े जग में पानी भरें।
  • नींबू के ट‍ुकड़े, पानी वाले जग में डालें।
  • आप इन टुकड़ों को ब‍िना न‍िचोड़े ही जग में डाल सकते हैं।   
  • जग को रात भर के ल‍िए सामान्‍य तापमान पर छोड़ दें।
  • पानी में आप प‍िंक सॉल्‍ट भी म‍िलाकर छोड़ सकते हैं।
  • नमक से अल्‍कलाइन वाटर म‍िनरल वाटर में बदल जाता है।

पानी का पीएच स्‍तर 

पानी के पीएच लेवल की बात करें, तो 4 से 10 के स्‍केल पर अगर पानी 4 से 6 के बीच है, तो वो एस‍िड‍िक है वहीं 7 से ऊपर पानी बेस‍ि‍क नेचर का होता है। हर कोई अपने पानी का स्‍तर 7 से 9 के बीच रखना चाहेगा। शुद्ध पेयजल का पीएच स्तर 8 या 9 होता है ज‍िसे अल्‍कलाइज करके हास‍िल क‍िया जा सकता है।    

अल्‍कलाइन वाटर पीने से प्‍यास बढ़ती है

अल्‍कलाइन वाटर का सेवन करने से शरीर को हाइड्रेट रखने में मदद म‍िलती है। अल्‍कलाइन वाटर शरीर में जल्‍दी एब्‍सॉर्ब हो जाता है और प्‍यास अधि‍क लगती है। ब्‍लड सर्कुलेशन को बेहतर रखने के ल‍िए अल्‍कलाइन वाटर फायदेमंद माना जाता है। शरीर के ल‍िए जरूरी म‍िनरल्‍स, अल्‍कलाइन वाटर में पाए जाते हैं।  

शरीर का पीएच लेवल बरकरार रखने में अल्‍कलाइन वाटर फायदेमंद माना जाता है। हालांक‍ि इसका सेवन जरूरत से ज्‍यादा नहीं करना चाहि‍ए क्‍योंक‍ि इससे शरीर का बायोकेम‍िकल प्रोसेस ब‍िगड़ सकता है।   

Disclaimer