इन 10 कारणों से लोगों को होता है लूज मोशन, छुटकारा पाने के लिए अजमाएं ये आसान घरेलू उपाय

खराब जीवनशैली के कारण लोगों को दस्त की परेशानी होती है। तो, आइए जानते हैं दस्त के कुछ बड़े कारण और घरेलू उपजार। 

 
डॉ. चंचल शर्मा
Written by: डॉ. चंचल शर्माPublished at: Feb 15, 2021
इन 10 कारणों से लोगों को होता है लूज मोशन, छुटकारा पाने के लिए अजमाएं ये आसान घरेलू उपाय

लूज मोशन या दस्त (Loose Motion) की समस्या हर किसी उम्र के लोगों को हो सकती है। यह एक ऐसी समस्या है जो कि बच्चे, जवान एवं बुजुर्ग को भी परेशान कर सकता है। लूज मोशन व्यक्ति के स्वास्थ्य को खराब कर सकता है और कमजोर बना सकता है। अगर समय पर दस्त की समस्या के लिए उचित उपाय नहीं किए गए तो यह एक गंभीर समस्या भी बन सकता है। लूज मोशन जैसे ही शुरु होते है लोग एलोपैथी का दवाओं का सेवन करना शुरु कर देते है जबकि आपके ही घर में कुछ ऐसी खाद्य पदार्थ होते हैं जो आपके दस्त रोकने के लिए सबसे अच्छे घरेलू उपाय हैं। पर आइए सबसे पहले जानते हैं दस्त या लूज मोशन के 10 ऐसे कारण (causes of loose motion) जिन्हें, नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है और उसके बाद जानेंगे दस्त के लिए घरेलू उपचार (Remedies To Overcome Loose Motions)

insideloosemotion

लूज मोशन क्या है -What is loose motion

सबसे पहले तो यह जानने कि कोशिश करेंगे कि आखिर लूज मोशन या दस्त क्या है। जब मल द्ववार से पानी की तरह पतला मल बार-बार निकलता है तो इस समस्या को लूज मोशन कहते है। आयुर्वेद के अनुसार लूज मोशन होने के कई कारण हो सकते है परंतु आयुर्वेद में वात, पित्त एवं कफ दोष के असंतुलन के कारण दस्त जैसी समस्या होती है। जब शरीर भोजन को पाचने में सक्षम नहीं रह पाता है तो ऐसे में पाचन क्रिया कमजोर हो जाती है और दस्त जैसी समस्या उत्पन्न होती है। ऐसी स्थिति में बिना पचा भोजन मल द्ववार से बार-बार बाहर आने लगता है तो इसे दस्त कहते है। 

इसे भी पढ़ें : Monday Sickness: मंडे के दिन ज्यादा आलस और थकान का क्या है कारण? एक्सपर्ट से जानें इसे दूर करने के 11 उपाय

लूज मोशन के कारण – Causes of loose motion

आज की खराब जीवनशैली के कारण लूज मोशन होने के कई कारण होते हैं। लूज मोशन की समस्या का मुख्य कारण खानपान एवं दिनचर्चा पर निर्भर होता है। 

1. बासी (दूषित भोजन) एवं खराब पानी के प्रयोग से लूज मोशन की समस्या हो सकती है। 

2. बाहर का भोजन करने से भी पाचन क्रिया में खराबी आ सकती है जिसके कारण भी दस्त जैसी समस्या हो सकती है। 

3. अधिक तेल युक्त तथा मसालो युक्त खाद्य सामग्री का सेवन करने पर लूज मोशन की समस्या होती है। 

4. मानसिक तथा शारीरिक तनाव के कारण  भी दस्त की समस्या हो जाती है। 

5. अधिक देर तक आप नित्य नियम नहीं करते है तो दस्त लगने शुरु हो जाते हैं। 

6. खराब पाचन तंत्र के कारण भी लूज मोशन हो जाते हैं। 

7. अधिक मांस एवं मदिरा के प्रयोग से इस तरह की परेसानी होती है। 

8. मीठे पदार्थों का ज्यादा से ज्यादा सेवन करने से दस्त हो सकते है। 

9. मैदे एवं बेसन से बने खाद्य पदार्थों का सेवन ज्यादा करते हैं तो भी आप दस्त की समस्या से ग्रसित हो सकते है। 

10. कच्चा मांस एवं अधिक मात्रा में समुद्री भोजन करने से लोगों को दस्त हो सकती है।

किस उम्र के लोगों को अधिक होते है लूज मोशन ?

वैसे तो लूज मोशन की समस्या हर उम्र के लोगों को होती है परंतु सबसे ज्यादा लूज मोशन कुछ छोटे बच्चों को प्रभावित करता है। छोटे बच्चे एवं शिशु इस लिए इस समस्या से ज्यादा प्रभावित हैं क्योंकि वह स्तनपान करते हैं और अगर किसी वजह से मां का दूध दूषित हो जाता है तो इसका सीधा प्रभाव शिशु के स्वास्थ्य पर पड़ता है। 

लूज मोशन से कौन-कौन सी बीमारियां जन्म ले सकती है ?

लूज मोशन होने के कारण शरीर पूरी तरह से शिथिल हो जाता है। कमजोर शरीर होने के कारण कई बीमारियां होने की संभावना बन सकती है। 

1. चेहरे में झूर्रियां हो सकती है।

2. शरीर में पानी की कमी की वजह से पेट में दर्द हो सकता है। 

3. डायरिया होने की संभावना भी रहती है। 

4. पेचिश की समस्या हो सकती है। 

5. शरीर कमजोर होने से चक्कर आने जैसी समस्याएं भी हो सकती है। 

इसे भी पढ़ें : अमरूद की पत्तियों से घर पर बनाएं काढ़ा, स्किन से लेकर पेट की परेशानी होगी दूर

लूज मोशन रोकने के घरेलू उपाय – Home Remedies for Loose Motion

1.जब लूज मोशन अधिक तेजी के साथ बार-बार होने लगते है तो ऐसी स्थिति में मरीज को अधिक प्यास का सामना करना पड़ता है। जब इस प्रकार की समस्या हो तो एक लीटर पानी में एक चम्मच धनिया डालकर उस पानी को तब तक उबालते रहना चाहिए जबकि की पानी 500 मिलीग्राम न हो जाए और फिर इस पानी को ठंडा करके लूज मोशन से पीड़ित मरीज को पिलाना चाहिए। 

2.नीबू, पानी, नमक और थोडी सी शक्कर को एक साथ मिलाकर कर पीते रहे जिससे पानी की कमी पूरी होगी और साथ ही दस्त की समस्या से राहत मिलेगी। 

3.जीरा पानी – एक लीटर पानी में एक चम्मच जीरे को एक साथ उबाल ले और फिर जब पानी आधा हो जाये तो ठंडा करके थोडी थोडी मात्रा में मरीज को देते रहें। 

4.बेल का गुदा – पके हुए बेल का गुदा निकालकर उसे दही में मिलाकर खाने से लूज मोशन की समस्या ठीक हो जाती है। 

5.कम उम्र के बच्चों को जूस, दलिया, खिचड़ी, एवं ओआरएस का पेय पिला सकते है। 

यह सभी आयुर्वेदिक उपाय एवं उपचार आशा आयुर्वेदा की निःसंतानता विशेषज्ञ डॉ चंचळ शर्मा से बातचीत के दौरान प्राप्त हुए हैं। 

Read more articles on Home-Remedies in Hindi

Disclaimer