क्या 3 साल से बड़े बच्चों को भी करवाया जा सकता है स्तनपान? जानें इसके फायदे और नुकसान

आमतौर पर 2-3 साल की उम्र तक बच्चे के स्तनपान की आदत छुड़वा दी जाती है। लेकिन अगर बड़ी उम्र तक बच्चे को स्तनपान कराते रहें तो क्या फायदे-नुकसान होंगे?

Naina Chauhan
Written by: Naina ChauhanPublished at: Nov 19, 2020Updated at: Nov 19, 2020
क्या 3 साल से बड़े बच्चों को भी करवाया जा सकता है स्तनपान? जानें इसके फायदे और नुकसान

बच्चे की अच्छी सेहत के लिए मां का दूध सबसे अच्छा माना जाता है। शिशु के जन्म से लेकर 6 महीने तक बच्चे को स्तनपान कराना जरूरी होता है, क्योंकि इन 6 महीनों में बच्चे का पोषण सिर्फ मां का दूध ही होता है। उसके बाद बच्चे को ठोस आहार मिलना शुरू होता है, जैसे दाल का पानी, चावल का पानी, रसेदार चीजें इत्यादि। लेकिन सवाल ये उठता है कि बच्चे को मां का दूध कब तक पिलाना चाहिए ? वैसे तो जब बच्चा बाहरी आहार लेना शुरू करता है तो वह मां के दूध पर कम निर्भर रहता है और धीरे-धीरे मां का दूध पीना कम कर देता है। लेकिन कुछ मांएं ऐसी भी होती है जो बच्चे के 3 से 4 साल होने तक भी स्तनपान कराना जारी रखती हैं। आइए जानते हैं लम्बे समय तक स्तनपान कराने से क्या होता है फायदा या नुकसान।

 insidemother

मां को दूध 6 महीने तक के बच्चे को जरूर पीना चाहिए, लेकिन उसके बाद बच्चे को दूसरे आहार भी देना शुरू करना चाहिए जो शिशु के विकास के लिए जरूरी है। जो मां अपने बच्चे को लंबे समय तक स्तनपान करती हैं उससे बहुत से फायदे होते हैं जानते हैं।

इसे भी पढ़ें : बच्‍चों के जन्‍म से होने वाली बीमारी स्पाइना बिफ़िडा? जानें कैसे करें इसका इलाज

बच्चे को पोषण मिलता है

मां के दूध में कैल्शियम, फैट, प्रोटीन, विटामिन ए पाया जाता है। इससे बच्चे के विकास में मदद मिलती है। अगर बच्चा मां का दूध पीता है और बाहरी आहार भी ले रहा है तो मां के दूध बच्चे के शरीर के लिए लाभकारी होता है। 

बच्चे की इम्यूनिटी बढ़ती है

शिशु के जन्म के समय दिया गया मां का दूध बच्चे के शरीर मे एंटीबॉडी बनाता है क्योंकि मां के दूध में कोलोस्ट्रम का मात्रा भरपूर होती है, जो बच्चे को बीमारियों से बचाने में मदद करते है। लंबे समय तक मां का दूध पीने वाले बच्चों में कान की समस्या और श्वसन मार्ग के ऊपरी हिस्से में बीमारियों का खतरा कम रहता है। 

मस्तिष्क विकास बेहतर होता है

जो बच्चे लंबे समय तक मां का दूध पीते हैं उनका आई.क्यू अच्छा होता है और वे होशियार होते हैं। बच्चे के मस्तिष्क का विकास 3 साल तक की उम्र में हो जाता है और मां का दूध बच्चे के मस्तिष्क विकास को बढ़ावा देता है।  

दिल की बीमारी और डायबिटीज से बचाता है

जो बच्चे मां का दूध लंबे समय तक पीने हैं उन्हें आगे जाकर दिल की बीमारी का खतरा कम रहता है। स्तनपान करने वाले बच्चे मां के दूध से संतुलित पोषण प्राप्त करते हैं जो उनमें डायबिटीज के खतरे को कम करता है। 

insidemotherlove

स्तनपान कराने से मां को मिलने वाले फायदे

स्तनपान कराने से बच्चे और मां दोनों को ही फायदा होता है। इसी वजह से हर मां को दूध पिलाने का सलाह दी जाती है। मां की सेहत को इससे कुछ लाभ मिलते है जैसे-

  • 1. स्तन कैंसर का खतरा कम होता है
  • 2. ओवरी कैंसर का खतरा कम होता है
  • 3. वजन नहीं बढ़ता

इसे भी पढ़ें : शिशु की नाभि से कैसे जुड़ा है उसका स्वास्थ्य? हर माता-पिता को जाननी चाहिए ये खास बातें

बच्चे को किस उम्र तक स्तनपान कराना है ये मां के ऊपर निर्भर करता है, लेकिन अगर कोई बच्चा लंबे समय तक मां का दूध पीता है तो यह बच्चे की सेहत के लिए फायदेमंद होता है। 

Read More Article On Parenting In Hindi

Disclaimer