डायबिटीज रोगियों के लिए करेला ही नहीं इसका बीज भी है फायदेमंद, जानें फायदे और टेस्टी स्नैक्स की रेसिपी

करेले के सेवन से आप डायबिटीज जैसी परेशानी को कंट्रोल कर सकते हैं। इतना ही नहीं, इसके बीजों से भी आप डायबिटीज कंट्रोल कर सकते हैं।

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Feb 23, 2021Updated at: Feb 23, 2021
डायबिटीज रोगियों के लिए करेला ही नहीं इसका बीज भी है फायदेमंद, जानें फायदे और टेस्टी स्नैक्स की रेसिपी

करेला स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होता है। इसमें विटामिन ए, विटामिन सी, फोलेट और जिंक की भरपूर मात्रा होती है। यह सभी लोगों के लिए फायदेमंद है। खासतौर पर डायबिटीज रोगियों के लिए करेला बहुत ही फायदेमंद साबित हो सकता है। डायबिटीज मरीजों के लिए करेला रामबाण माना जाता है। इसके सेवन से ब्लड शुगर कंट्रोल किया जा सकता है। लेकिन आपको बता दें कि करेला ही नहीं, बल्कि इसके बीजों के सेवन से भी आपको बहुत ही फायदा होता है। हम में से बहुत से ऐसे लोग ऐसे हैं, जो करेले की सब्जी बनाने के दौरान इसके बीजों को निकालकर फेंक देते हैं। लेकिन ऐसा करना बिल्कुल गलत है। करेले के बीजों के सेवन से डायबिटीज को काफी कंट्रोल किया जा सकता है। आइए जानते हैं डायबिटीज रोगियों के लिए किस तरह फायदेमंद है करेले का बीज-

इंसुलिन को है बढ़ाता

शरीर में इंसुलिन का स्तर कम होने से हमारा शरीर शुगर को पचा नहीं पाता है। करेले के बीजों के सेवन से आप शुगर की मात्रा को कंट्रोल कर सकते हैं। आपको बता दें कि शरीर में इंसुलिन का स्तर कम होने ब्लड शुगर बढ़ता है, जो खून में मिलकर हमारे पूरे शरीर में सर्कुलेट होने लगता है। इसी कारण शरीर में इंसुलिन का स्तर संतुलित होना चाहिए। इंसुलिन शरीर में ऊर्जा के लिए कोशिकाओं में ग्लूकोज लाने में मदद करते हैं। इसके साथ ही इससे ब्लड शुगर पचता है। मांसपेशियों और शरीर में गुड फैट को बढ़ाने में असरदार होता है।

कोलेस्ट्रॉल का स्तर करे कम

करेले के बीजों के सेवन से कोलेस्ट्रॉल का स्तर कम होता है। डायबिटीज के रोगियों में कोलेस्ट्रोल स्तर बढ़ने से दिल की बीमारियों का खतरा बढ़ता है।  शरीर में कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ने से धनियों में फैट की मात्रा बढ़ने लगती है, जिसकी वजह से हृदय में ब्लड पंप करने में परेशानी होने लगती है।  करेले के बीजों के सेवन से एलडीएल यानी कि खराब कोलेस्ट्रॉल का स्तर घटता है। साथ ही इसके सेवन से गुड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ता है।

इसे भी पढ़ें - विटामिन B5 की कमी से शरीर में दिखते हैं ये 12 लक्षण, जानें सेहत के लिए इस विटामिन का महत्व और स्रोत

वजन को करे कंट्रोल

वजन को कंट्रोल करने में केरेले का बीज बहुत ही फायदेमंद होता है। यह आपके वजन को संतुलित करता है। दरअसल, करेले का बीज रफेज होता है, जो  आसानी से पचता नहीं है। साथ ही यह हमारे शरीर में मौजूद वेस्ट पदार्थों को आसानी से बाहर निकालता है। जिससे इसके सेवन से आपका वजन कंट्रोल में रहेगा।

इम्यूनिटी को करे बूस्ट

पाचन क्रिया को बूस्ट करने के साथ-साथ यह इम्यूनिटी को बूस्ट करता है। केरेले के बीजों के सेवन से इम्यून पावर बूस्ट होता है। दरअसल, करेले में मैग्नीशियम, आयरन, विटामिन सी, पोटैशियम और फाइबर की अधिकता होती है, जो इम्यून पावर को बढ़ाने में असरदार होता है।

डायबिटीज में कब्ज की परेशानी को करे दूर

अगर आप करेले का सेवन बीजों के साथ (Bitter Gourd Seeds for Diabetes) करते हैं, तो इससे कब्ज की परेशानी दूर रहती है। दरअसल, करेले का बीज हमारे शरीर में रफेज की तरह कार्य करता है, जो मेटाबोलिज्म क्रिया को बेहतर करने में आपकी मदद करता है। इसके साथ ही यह शरीर की पाचन क्रिया को सही करता है। डायबिटीज के मरीजों के लिए यह बहुत ही असरकारी हो सकता है।

इसे भी पढ़ें - अंगूर की चटनी स्वाद के साथ-साथ सेहत से है भरपूर, इन 3 बीमारियों से रखेगी आपको दूर

कैसे करें करेले के बीजों का सेवन

करेले के बीजों का सेवन आप करेले के साथ ही कर सकते हैँ। इसके साथ ही इसके बीजों का सेवन करने के लिए करेले से बीजों को निकाल लें। अब इन बीजों को अच्छी तरह से साफ कर लें। अब 1 बर्तन में पानी लें और इसमें नमक मिलाकर आधे से 1 घंटे के लिए पानी में छोड़ दें। अब बीजों को निकालकर थोड़ी देर के लिए सुखाएं। अब इसे तबे पर हल्का सा सरसो तेल डालकर पकाएं। इसका सेवन आप स्नैक्स के रूप में कर सकते हैं। 

Read more articles on Healthy Diet in Hindi

Disclaimer