प्रेगनेंसी में तेज पत्ता: आयुर्वेद के अनुसार प्रेगनेंसी में तेज पत्ते का पानी पीने से मिलते हैं ये 9 फायदे

औषधीय गुणों से भरपूर है तेज पत्ता, गर्भधारण करने लिए और प्रेग्नेंसी में इसके फायदों को जानने के लिए जानें आयुर्वेदिक चिकित्सक क्या देते हैं राय। 

Satish Singh
Written by: Satish SinghUpdated at: Aug 24, 2021 14:49 IST
प्रेगनेंसी में तेज पत्ता: आयुर्वेद के अनुसार प्रेगनेंसी में तेज पत्ते का पानी पीने से मिलते हैं ये 9 फायदे

महिलाएं इंफर्टिलिटी के आसान इन घरेलू उपाय को आजमाकर इस समस्या से निजात पा सकतीं हैं। लेकिन इसके लिए जरूरी है आयुर्वेद में बताए गए सही-सही जानकारी की। जमशेदपुर की आयुर्वेदिक चिकित्सक डॉक्टर अल्का देसाई बताती हैं कि घर में मौजूद खाने-पीने की चीजों में औषधीय तत्वों से भरपूर तेज पत्ता का इस्तेमाल कर इंफर्टिलिटी की समस्या से निजात पाया जा सकता है। इसके अलावा प्रेग्नेंसी में होने वाली कई प्रकार की समस्या व बीमारी से निजात पाने के लिए भी इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। तो इसके फायदों को लिए इंफर्टिलिटी, प्रेग्नेंसी व गर्भ धारण करने के लिए इसका आयुर्वेदिक तरीके से कैसे इस्तेमाल करें। इसके फायदों के बारे में इस आर्टिकल में जानते हैं। 

इंफर्टिलिटी की समस्या के लिए है कारगर

तेज पत्ते की खुशबू बहुत अच्छी होती है, इसको चाय में डालकर इसका इस्तेमाल किया जाता है। लेकिन आज हम जानेंगे कि प्रेग्नेंसी के लिए व इंफर्टिलिटी की समस्या दूर करने के लिए इसके पत्तों का इस्तेमाल कैसे किया जाए ताकि समस्या से निजात पाया जा सके और ये कैसे रिप्रोडक्टिव इशू को ठीक करती है। 

प्राचीन सभ्यता के अनुसार इसे सूर्य का पौधा माना जाता है। 

एक्सपर्ट बताती हैं कि पौराणिक समय में रोमन और ग्रीक की सभ्यता में इस पौधे को सूर्य का पौधा माना जाता था। इसकी पूजा भी की जाती थी। इसके अलावा विजेता और राजा के ताज में इस पौधे को लगाया जाता था। आयुर्वेद के मुताबिक कहें तो इसके औषधीय गुण काफी होते हैं। 

Bay Leaf

प्रेग्नेंसी के लिए तेज पत्ते के फायदे

  1. ब्लड शुगर लेवल को करता है कम : वैसी महिलाएं जिनको डायबिटीज की बीमारी हैं। महिलाएं गर्भ धारण करना चाहती हैं तो ऐसे में उनको तेज पत्ते का सेवन करना चाहिए। इसे जीवन चर्या में शामिल कर लेना चाहिए। इसका सेवन करने से यह ब्लड शुगर में होने वाली बढ़ोतरी को कम करता है। इसमें पॉलीफिनोल्स पाया जाता है। ये पॉलीफिनोल्स इंसुलिन के फंक्शन को ठीक करता है। ऐसे में आप यदि पीसीओएस (पॉलीसिस्टिक ओवरी सिंड्रोम व डिसऑर्डर) की समस्या से जूझ रहीं हैं तब भी आप इसका सेवन कर सकतीं हैं। 
  2. नॉन डायबिटिक का ब्लड शुगर भी करता है ठीक : अगर आप नॉन डायबिटिक हैं। लेकिन आपका ब्लड शुगर लेवल बढ़ा हुआ है। उस केस में आप इसका सेवन करेंगी तो निश्चित तौर पर आपको फायदा होगा। ब्लड शुगर लेवल को ठीक करने के लिए इंसुलिन को सही तरह से रेगुलेट करने के लिए इसका रोजाना सेवन कर सकते हैं। 
  3. वजाइनल इंफेक्शन से दिलाता है राहत : ऑयुर्वेद की चिकित्सक अल्का बताती हैं कि तेज पत्ता एंटी फंगल, एंटी सेप्टिक, एंटी इंफ्लामेटरी, एंटी कैंसर जैसे महत्तवपूर्ण तत्व इसमें होते हैं। ऐसे में गर्भावस्था के दौरान या फिर गर्भ धारण करने के पहले यदि किसी महिला को वजाइनल इंफेक्शन से राहत पाना है तो तेज पत्ते का इस्तेमाल कर सकतीं हैं। इसे सीधे तौर पर खा सकती हैं। फायदे के लिए ऐसे करें सेवन : एक्सपर्ट बताती हैं कि वजाइनल इंफेक्शन से राहत पाने के लिए व इसके फायदे हासिल करने के लिए सबसे पहले आप तेज पत्ते को साफ पानी में डालकर गर्म कर लें (उबाल लें)। फिर उसे छान कर अलग रख लें। हल्का ठंडा होने के बाद ताकि स्किन जले नहीं, फिर उस पानी को लोअर बॉडी पार्ट जहां पर इंफेक्शन है वहां पर डालें। ऐसा कुछ कुछ घंटों के अंतराल पर 4-5 बार करें। ऐसा करने से आपको निश्चित तौर पर फायदा मिलेगा। 
  4. चिंता (स्ट्रेस) से दिलाता है निजात : एक्सपर्ट बताती हैं कि इस तेज पत्ते का इस्तेमाल स्ट्रेस से निजात पाने के लिए भी किया जाता है। क्योंकि इसमें अरोमा होता है। इसकी खुशबू यह तनाव से निजात दिलाने में मदद करता है। 
  5. थायरॉयड व मेटॉबॉलिक डिसऑर्डर को करता है दूर : वैसी महिलाएं जिन्हें थायरॉयड की समस्या है या फिर मेटाबॉलिक डिसऑर्डर है वैसे लोगों को इसका तेज पत्ते का इस्तेमाल करना चाहिए। लेकिन इसका इस्तेमाल कैसे किया जाए इसको लेकर ऑयुर्वेदिक चिकित्सक से सलाह जरूर ले लें। वो इसके इस्तेमाल के सही सही तरीकों को आपको बताएंगे। 
  6. अनीमिया व हेवी ब्लीडिंग की शिकायत है तो तेज पत्ता करें यूज : डॉक्टर बताती हैं कि वैसी महिलाएं जो प्रेग्नेंसी के पहले व प्रेग्नेंसी के बाद में अनीमिया की बीमारी से ग्रसित हैं। उन्हें खाने में तेज पत्ते का सेवन जरूर करना चाहिए। इसके अलावा गर्भावस्था से पहले वैसी महिलाएं जिन्हें हेवी ब्लीडिंग की शिकायत होती है। वैसी महिलाओं को भी तेज पत्ते का सेवन नियमित तौर पर करना चाहिए। बता दें कि तेज पत्ता में पर्याप्त मात्रा में आयरन, कैल्शियम, जिंक, कॉपर, मैग्नीज आदि पाई जाती है। ऐसे में इन तत्वों की कमी से यदि कोई जूझ रहा है तो इसका सेवन कर सकता है। यह प्राकृतिक रूप से मिलने वाले एंटीऑक्सीडेंट तत्व होता है। 
  7. इंफर्टिलिटी की समस्या को करता है दूर : आयुर्वेदिक चिकित्सक बताती हैं कि फेलोपियन ट्यूब में किसी प्रकार की दिक्कत, अवेज में समस्या, यूट्रस में दिक्कत, सिस्ट का होना, इंफ्लामेशन (सूजन) होने, ब्लड प्यूरीफाई करने, मासिक धर्म अनियमित होने पर इस एंचटीऑक्सीडेंट तत्व यानी तेज पत्ते का इस्तेमाल कर सकते हैं।  यह बॉडी को डिटॉक्स करने में, पीरियड को रेगुलर करने में, फेलोपियन ट्यूब को रिस्टोर करने में, यूट्रस और ओवरी हेल्थ को स्वस्थ्य रखने में यह काफी कारगर होता है। 
  8. इम्युनिटी बूस्टर है : गर्भावस्था के दौरान या फिर गर्भावस्था से पहले महिलाओं को रोग प्रतिरोधक क्षमता को विकसित करने के लिए तेज पत्ते का इस्तेमाल कर सकते हैं। डॉक्टर बतातीं हैं कि अभी कोरोना काल चल रहा है ऐसे में इम्युनिटी बढ़ाने के लिए महिलाएं खुद इसका सेवन करने के लिए परिवार के अन्य सदस्यों को इसका सेवन करने की सलाह दे सकती हैं। 
  9. डायजेस्टिव समस्या को करता है दूर : प्रेग्नेंसी में महिलाओं को गैस की समस्या काफी होती है। ऐसे में कोशिश करें कि काने में जितना संभव है तेज पत्ते का सेवन किया जाए। सब्जी बनाते वक्त जीरा का छौंक लगाते हैं तो उसमें तेज पत्ता भी डाल सकते हैं। फिर इसका सेवन करने से गैस की समस्या दूर होगी। तेज पत्ते को डालकर पानी को उबालकर पीएं तो समस्या से निजात मिल सकता है। 
Tej Patta

इसके फायदों के लिए जानें कैसे करें इस्तेमाल 

आयुर्वेद की चिकित्सक बताती हैं कि इसे चाहें तो नियमित तौर पर इस्तेमाल कर सकते हैं या फिर कुछ कुछ समय अंतराल पर इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। इसको हमेशा इस्तेमाल कर सकते हैं। यदि आप गर्भ धारण करना चाहती हैं तो उसके लिए भी यह काफी सुरक्षित है। क्योंकि ग्रीन टी को कभी भी सेवन किया जा सकता है। इसका कोई नुकसान नहीं होता है। 

ऐसे करें इस्तेमाल 

  • इसे उबाल कर, फिर इसे ठंडा कर इसका पानी पी सकते हैं
  • ग्री टी में डालकर, एक दिन में एक तेज पत्ता या फिर फिर दिन में आप चाहें तो दो तेज पत्ता को भी डालकर इसका सेवन कर सकतीं हैं (गर्भधारण करने के लिए इसका सेवन काफी लाभकारी होता है, आप जल्दी कंसीव करेंगी)
  • खाने में डालकर सेवन करें

एक से दो दिनों का ले सकतीं हैं गैप

डॉक्टर बताती हैं कि तेज पत्ता का सेवन करने के बाद यदि इसका इस्तेमाल करना बंद भी कर देते हैं तो इसके फायदे कई दिनों तक रहते हैं। यदि आप इसका सेवन कर रहीं है और कुछ दिनों का गैप लेना चाह रहीं हैं तो आप ले सकतीं हैं। क्योंकि दो-तीन दिनों के गैप लेकर भी आप तेज पत्ते का सेवन कर सकतीं हैं। 

हमेशा आयुर्वेद चिकित्सक से सलाह लें

वैसे तो इसका सेवन करने से किसी प्रकार का नुकसान नहीं होता है। क्योंकि यह प्राकृतिक होता है। बावजूद इसके यदि आप गर्भ धारण करने के लिए या फिर गर्भावस्था के दौरान इसके फायदे हासिल करने के लिए इसका इस्तेमाल करना चाहतीं हैं तो चिकित्सक से सलाह जरूर लेना चाहिए। 

Read More Articles On Ayurveda

Disclaimer