प्रेग्नेंसी में नीम की पत्तियां खाने से होते हैं ये 5 फायदे, जानें इसे खाने के दौरान बरतने वाली सावधानी

गर्भावस्था के दौरान नीम का सेवन करना चाहिए या नहीं? यह सवाल अक्सर महिलाओं के मन में आता है। जानते हैं इसके फायदे और नुकसान

Garima Garg
Written by: Garima GargUpdated at: Aug 16, 2021 11:46 IST
प्रेग्नेंसी में नीम की पत्तियां खाने से होते हैं ये 5 फायदे, जानें इसे खाने के दौरान बरतने वाली सावधानी

प्रेगनेंसी में अक्सर महिलाएं अपनी डाइट में उन चीजों को जोड़ती हैं जो न केवल बच्चे की सेहत के लिए अच्छा है बल्कि उसके विकास के लिए भी जरूरी है। वहीं दूसरी तरफ आयुर्वेद में नीम का प्रयोग कई बीमारियों के इलाज के रूप में किया जाता है। बता दें कि नीम के अंदर भरपूर मात्रा में एंटी फंगल, एंटी माइक्रोबियल, एंटी इन्फ्लेमेटरी, एंटीऑक्सीडेंट, फाइबर, नाइट्रोजन, फास्फोरस, पोटेशियम, विटामिन सी, कैल्शियम, प्रोटीन, वसा आदि पौष्टिक तत्व पाए जाते हैं। ऐसे में इसे अपनी डाइट में जोड़ना एक अच्छा विकल्प है। लेकिन हमारा सवाल यह है क्या गर्भावस्था में नीम का सेवन किया जा सकता है? जी हां. आज का हमारा लेख भी इसी विषय पर है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि प्रेगनेंसी के दौरान नीम का सेवन करना कितना फायदेमंद है और कितना नुकसानदेह। साथ ही हम यह भी जानेंगे कि नीम के सेवन के दौरान कौन कौन सी सावधानियां बरतनी जरूरी है। पढ़ते हैं आगे...

 

प्रेगनेंसी में नीम का सेवन करने के फायदे

बता दें कि अगर प्रेगनेंसी के दौरान नीम का सेवन किया जाए तो कई समस्याओं को दूर करने में उपयोगी है। जानते हैं उन समस्याओं के बारे में

1 - रक्तचाप को करे नियंत्रित

बता दें कि गर्भावस्था के दौरान महिलाओं को उच्च रक्तचाप की समस्या हो सकती है। ऐसे में नीम का सेवन इस समस्या को दूर करने में उपयोगी है। बता दें कि नीम का अर्क न केवल ब्लड प्रेशर से बचाव करता है बल्कि इसके जोखिम को भी कम करने में उपयोगी है। लेकिन नीम के अर्क को को अपनी डाइट में जोड़ने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूरी है।

2 - अस्थमा से दिलाए छुटकारा

बता दें कि गर्भावस्था के दौरान अस्थमा की समस्या काफी नुकसानदायक हो सकती है। लेकिन नीम इस समस्या से लड़ने में महिलाओं के काम आ सकती है। नीम के अंदर एंटी एलर्जी गुण पाए जाते हैं जो ना केवल एलर्जेनिक प्रोटीन को कम करते हैं बल्कि ये अस्थमा से भी बचाव करने में उपयोगी है। ऐसे में हल्की-फुल्की खांसी, जुकाम या सर्दी से बचाव में नीम को अपनी दिनचर्या में जोड़ सकते हैं। लेकिन एक बार एक्सपर्ट की राय जरूरी है।

इसे भी पढ़ें- गर्भावस्था में फूड पॉइजनिंग होने के 6 लक्षण, कारण और बचाव के लिए जरूरी सावधानियां

3 - त्वचा को बनाए अच्छा

त्वचा की कई समस्याओं को दूर करने में भी नीम बेहद उपयोगी है। बता दें कि हल्के-फुल्के दाग धब्बे या चेहरे पर किसी प्रकार का घाव या काला निशान आदि को भरने में नीम का तेल या नीम से बना फेस पैक महिलाओं के बेहद काम आ सकता है। खासकर उन महिलाओं के लिए जो हार्मोनल बदलावों के कारण चेहरे की कई समस्या से जूझ रही हैं।

4 - भ्रूण के विकास में उपयोगी

बता दें कि भ्रूण के लिए नीम का प्रयोग लाभकारी साबित हो सकता है। पहले के समय में भ्रूण के विकास के लिए आयुर्वेद में नीम या नीम की छाल का अर्क देने की सलाह दी जाती थी। हालांकि अभी तक पता नहीं चल पाया है कि नीम में ऐसे कौन से गुण पाए जाते हैं जो भ्रूण के विकास में उपयोगी हैं। ऐसे में डॉक्टर की सलाह पर इसका सेवन करें।

इसे भी पढ़ें- प्रेग्नेंसी में आ रही है परेशानी तो महिलाएं इन 5 तरीकों से बढ़ाएं एस्ट्रोजन हार्मोन, जल्दी मिलेगी गुड न्यूज़

5 - मुहांसों की समस्या से दिलाए छुटकारा

कील मुहांसों की समस्या से आजकल हर कोई परेशान है। खासकर प्रेगनेंसी के दौरान जब महिलाओं के हार्मोन में बदलाव होते हैं तो उन्हें भी कील मुंहासे का सामना करना पड़ता है। बता दें कि नीम के अंदर एंटीइन्फ्लेमेटरी, एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं जो न केवल वहां से भी समस्या को दूर करते हैं बल्कि नीम फेस पैक चेहरे को साफ सुथरा रखने में भी मददगार है।

 

प्रेगनेंसी में नीम का सेवन करने के नुकसान

बता दें कि नीम एक प्रकार की जड़ी बूटी होती है। ऐसे में कई परिस्थितियां ऐसी होती है, जिसमें अगर नीम का सेवन किया जाए तो कुछ समस्याएं पैदा कर सकती है। यह परिस्थितियां निम्न प्रकार हैं-

1 - बता दें कि नीम स्वाद में कड़वा होता है। ऐसे में गर्भवती महिलाएं अगर इसका सेवन करती हैं तो उनके मुंह का स्वाद बिगड़ सकता है

2 - नीम के साइड इफेक्ट्स में मानसिक समस्याएं भी होती हैं। ऐसे में इसका अधिक सेवन गर्भवती महिलाओं में मस्तिष्क संबंधी समस्याओं को उत्पन्न कर सकता है।

3 - महिलाएं नीम के तेल का उपयोग करती हैं तो उन्हें सुस्ती, मतली डायरिया, सुस्ती आदि की समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

कुछ रिसर्च ऐसी भी हैं जो बताती हैं कि नीम के अंदर गर्भनिरोधक प्रभाव पाया जाता है ऐसे में इसका सेवन सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। रिसर्च पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

 इसे भी पढ़ें- प्रेगनेंसी में किडनी की पथरी (Kidney stone) होने के 7 लक्षण, कारण और बचाव

गर्भावस्था के दौरान नीम का सेवन करते वक्त बरतने वाली सावधानियां

1 - गर्भवती महिलाएं अपनी डाइट में नीम को जोड़ने से पहले एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें।

2 - प्रेगनेंसी के दौरान नीम का सेवन करने से पहले नीम को अच्छे से धोएं।

3 - गर्भावस्था में नीम के तेल का सेवन नहीं करना चाहिए।

4 - अगर महिलाओं को नीम का सेवन करते वक्त किसी भी प्रकार की असमान्यता का सामना करना पड़ता है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

5 - नीम का सेवन नियमित रूप से ना करके कभी-कभी कर सकते हैं।

6 - महिलाओं को अगर नीम से एलर्जी है तो भी प्रेगनेंसी के दौरान नीम को अपनी डाइट में ना जोड़ें।

7 - त्वचा पर नीम का तेल या नीम का पेस्ट डायरेक्ट त्वचा पर इस्तेमाल करने से पहले एक बार पैच टेस्ट जरूर करें।

नोट - ऊपर बताए गए बिंदुओं से पता चलता है कि नीम कई समस्याओं को दूर करने में उपयोगी है। लेकिन इसकी अधिकता गर्भवती महिलाओं के लिए नुकसानदायक हो सकती है। बता दें कि कुछ रिसर्च ऐसे होती हैं जो यह बताती हैं कि नीम में गर्भनिरोधक प्रभाव मौजूद होता है। ऐसे में इसकी अधिकता महिलाओं को बचना चाहिए। महिलाएं अपनी डाइट में नीम जोड़ने से पहले एक बार एक्सपर्ट की सलाह जरूर लें।

इस लेख में इस्तेमाल की जानें वाली फोटोज़ Freepik और shutterstock दोनों से ली गई हैं।

Read More Articles on women health in hindi

Disclaimer