जापान के लोगों की लंबी आयु का राज है Hara Hachi Bu Diet, जानें कैसे ये आसानी से वजन घटाने में भी है मददगार

'हारा हची बू' डाइट जापानी लोगों के खान-पान की एक बेहतरीन शैली है। खास बात ये है कि हमारे यहां आयुर्वेद में भी इस सिद्धांत के बारे में बताया गया है।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Jun 04, 2020
जापान के लोगों की लंबी आयु का राज है Hara Hachi Bu Diet, जानें कैसे ये आसानी से वजन घटाने में भी है मददगार

जापान में ओकिनावा (Okinawa Island in Japan) द्वीप के निवासी दुनिया में सबसे लंबी आयु तक जीवित रहने के लिए जाने जाते हैं। माना जाता है कि वे 100 साल तक जीवित रहते हैं। उनके इस लंबे और स्वस्थ जीवन के रहस्यों को जानने के लिए कई अध्ययन किए गए। शोधकर्ताओं ने आखिरकार उनके रहस्य का पता लगा लिया है। दरअसल जापान के लोगों की लंबी आयु का राज है एक जापानी डाइट 'हारा हची बू' (Hara Hachi Bu Diet)। खास बात ये है कि ये डाइट आपको वजन घटाने (japani diet for weight loss) में भी मदद कर सकता है। अब आप सोच रहे होंगे कि हारा हची बू (Hara Hachi Bu Diet) का मतलब क्या है और हम आप इसे कैसे फॉलो कर सकते हैं? तो आइए हम आपको बताते हैं इसके बारे में विस्तार से।

insideHaraHachiBuDietforweightloss

क्या है हारा हची बू डाइट (Hara Hachi Bu Diet)

अंग्रेजी में हारा हची बू डाइट मतलब है कि केवल 80% तक अपना पेट भरना। जापान में प्राचीन ज्ञान कहता है कि किसी को 100% पेट भरने के लिए कभी नहीं खाना चाहिए। तब तक खाएं जब तक आप 80% पूर्ण न हो जाएं। ओवरईटिंग या 100% पेट भर के खाने का मतलब है कि आपकी पाचन प्रक्रिया भोजन को संसाधित करने में लंबा समय लेती है। कम खाना कोशिकीय ऑक्सीकरण को तेज करता है, जिसकी वजह से आप लंबे समय तक स्वस्थ रह सकते हैं। ओकिनावा के लोग कभी भी पूर्ण महसूस करने के लिए नहीं खाते हैं। वे केवल वही खाते हैं जो और जितना आवश्यक है।

महामारी के इस दौर में रखें फूड सेफ्टी का ख्याल, खेलें क्विज परखें :

Loading...

इसे भी पढ़ें : वजन घटाने में मददगार है Sugar Detox Diet, जानें क्या है ये और इसके अन्य फायदे

हारा हची बू कैसे वजन घटाने वाला डाइट है?

दरअसल जब भर पेट खाते हैं, तो आपके पेट में बिलकुल भी अतिरिक्त जगह नहीं बचती है। वहीं जब आप 80 प्रतिशत या इससे थोड़ा कम खाते हैं, तो ये आपके पाचन क्रिया को तेज काम करने में मदद करता है। पाचन क्रिया तेज होना वजन घटाने के प्रोसेस में भी तेजी लाता है। वो ऐसे कि

  • - कम खना पेट में आंतों को तेजी से काम करने में मदद करता है। तेजी से काम करने के कारण पेट में हर चीज अच्छे से पच जाती है और शरीर रेगुलर डिटॉक्सीफाई होता रहता है। इस तरह वजन कम करने में हमें मदद मिलती है।
  • -पेट खाली होने के कारण पेट में भोजन और कुशलता से टूट जाता है और फैट जमा नहीं होता है, जोकि धीरे-धीरे मोटापे का कारण बनता है।
  • -ओवर-ईटिंग से बचने से, यह आहार मोटापा, एसिड रिफ्लक्स और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल समस्याओं से बचने में मदद करता है। यह संतुलित भोजन के माध्यम से वजन घटाने को भी बढ़ावा देता है।
  • -साथ ही ये डाइट कैलोरी की मात्रा को सीमित करने के लिए डिजाइन किया गया है। इस तरह आप दिन में कम खाएंगे, तो वजन भी संतुलित रहता है।

हारा हची बू का पालन कैसे करें?

अपने खाने की आदत को रीसेट करें 

छोटे भोजन की आदत डालने के लिए आपको अपने पेट की मांसपेशियों की मेमोरी को रीसेट करना होगा। इसे फॉलो करन के लिए अपने पेट को कम खाने की आदत डलवानी होगी। इसके लिए आपको अपने खाने के तरीके और पसंद में थोड़ा बदलाव करना होगा। इसमें आप कोशिश करें कि ज्यादातर प्रोटीन वाली चीजों को खाएं, ताकि आपको लंबे समय तक भूख लगे।

insideHaraHachiBuDiet

इसे भी पढ़ें : वजन घटाने के लिए किस समय खाना होता है सबसे बेहतर, इन 5 नियमों के साथ कंट्रोल करें शरीर की बढ़ती चर्बी

छोटी प्लेटों में खाना खाएं 

आप विभिन्न छोटी प्लेटों पर भोजन प्रस्तुत करके, आप अपने पेट को भरा हुआ महसूस कर सकते हैं। जब आप एक बड़े भोजन के बजाय विभिन्न छोटी प्लेटों पर भोजन का सेवन करते हैं, तो आपको ऐसा लगता है कि आप बहुत कुछ खा रहे हैं। वहीं जब आप एक बड़े से प्लेट में सबकुछ भर कर खाते हैं, जो जरूरत से ज्यादा खा लेते हैं।

धीरे-धीरे खाएं

धीरे-धीरे खाने से आप संतुष्ट और तृप्त महसूस करेंगे। तेज खाने से बचें, क्योंकि यह अपच का कारण बन सकता है और खाने के बावजूद आपको भूख का एहसास करा सकता है। इसके अलावा इससे आपको क्रेविंग भी बार-बार महसूस होगी, तो इस तरह खाने का चक्र लगातार चलता ही रहेगा।

सब्जियों और सलाद को न छोड़ें

कार्बोहाइड्रेट और प्रोटीन का सेवन करें और उन्हें हरी सब्जी और सलाद के साथ संतुलित करें। आपको युवा बनाए रखने के लिए एंटीऑक्सिडेंट की आवश्यकता होती है, और सब्जियां और सलाद इसका एक उत्कृष्ट स्रोत हैं। ये भी एक बड़ा कारण है, जो कि जापान के लोगों की लंबी आयु का राज है।

Read more articles on Weight-Management in Hindi

Disclaimer