आपकी ये 5 आदतें डैमेज कर सकती हैं आपका स्कैल्प (खोपड़ी की त्वचा), बालों की जड़ों को पहुंचता है नुकसान

बालों से जुड़ी कुछ खराब आदतों की वजह से स्‍कैल्‍प डैमेज हो सकता है ज‍िससे आगे चलकर हेयर लॉस होता है इसल‍िए इन आदतों को आज ही छोड़ दें

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Sep 01, 2021 15:38 IST
आपकी ये 5 आदतें डैमेज कर सकती हैं आपका स्कैल्प (खोपड़ी की त्वचा), बालों की जड़ों को पहुंचता है नुकसान

क‍िन आदतों के कारण स्‍कैल्‍प या खोपड़ी की त्‍वचा डैमेज होती है? साफ-सफाई न रखना, स‍िर खुजलना, स‍िर बार-बार छूना, बालों को गीला रखना, कैम‍िकल शैम्‍पू का इस्‍तेमाल, बालों को ज्‍यादा हीट करना आद‍ि। आपको बालों को हेल्‍दी और स्‍कैल्‍प को क्‍लीन रखना है तो न‍ियम‍ित तौर पर बालों की सफाई करें, कोई भी कैम‍िकल युक्‍त उत्‍पाद का इस्‍तेमाल बालों पर न करें और बालों को फंगल और बैक्‍टीर‍ियल इंफेक्‍शन से बचाकर रखें। इस लेख में हम उन आदतों की बात करेंगे ज‍िसके कारण स्‍कैल्‍प डैमेज हो सकता है और साथ ही वो तरीके जानेंगे ज‍िनकी मदद से स्‍कैल्‍प और बालों को हेल्‍दी रखा जा सकता है। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने ओम स्किन क्लीनिक, लखनऊ के वरिष्ठ कंसलटेंट डर्मेटोलॉज‍िस्‍ट डॉ देवेश मिश्रा से बात की। 

scratching head  

1. स‍िर खुजलाने की आदत (Scratching your scalp)

(image source:shopify)

अगर आपको भी बार-बार स‍िर खुजलाने की आदत है तो आपको ये आदत तुरंत छोड़ देनी चाह‍िए क्‍योंक‍ि इससे आपका स्‍कैल्‍प यानी खोपड़ी की त्‍वचा डैमेज हो सकती है खासकर उन लोगों क‍ि ज‍िनकी स्‍क‍िन सेंस‍िट‍िव है। बार-बार स‍िर खुजलाने से स्‍कैल्‍प में ड्रायनेस आ सकती है ज‍िससे रूसी की समस्‍या भी बढ़ सकती है। आपको स्‍कैल्‍प को बार-बार हाथ लगाने से भी बचना चाह‍िए क्‍योंक‍ि गंदे हाथ या नाखून से स्‍कैल्‍प में बैक्‍टीर‍िया बढ़ सकते हैं। गंदे हाथों में मौजूद बैक्‍टीर‍िया, स्‍कैल्‍प पर ट्रांसफर हो सकते हैं इसल‍िए बालों को कम से कम हाथ लगाएं। 

इसे भी पढ़ें- बालों को घना-काला बनाने के लिए फायदेमंद है इंडिगो (नील) पाउडर, जानें प्रयोग

2. बालों को ज्‍यादा गीला करना (Over weting your hair)

बालों के ल‍िए मॉइश्‍चर अच्‍छा होता है लेक‍िन अगर आप बालों को हर समय गीला रखेंगे या गीला करके सोएंगे तो उनमें बैक्‍टीर‍िया पनपने की आशंका बढ़ जाती है और स्‍कैल्‍प भी डैमेज हो सकता है। मॉइश्‍चर बढ़ने से बालों में फंगल इंफेक्‍शन हो सकता है। आपको बाहर न‍िकलने से पहले या रात में सोने से पहले बालों को अच्‍छी तरह से ड्राय कर लेना चाह‍िए। बालों को ड्राय रखने का मतलब उन्‍हें मॉइश्‍चर से वंच‍ित रखना नहीं होता, आपको बालों में तेल भी जरूर लगाना चाह‍िए पर उसे ज्‍यादा समय के लि‍ए न लगाएं। 

3. कैम‍िकल युक्‍त शैम्‍पू का इस्‍तेमाल (Using shampoo with excessive chemicals)

using shampoo

(image source:byrdie.com)

ज‍िन शैम्‍पू या कंडीशनर में सल्‍फेट होता है वो स्‍कैल्‍प को डैमेज करने का काम करते हैं, आपको नैचुरल शैम्‍पू बनाने के तरीके जानने चाह‍िए या मार्केट से ऐसे प्रोडक्‍ट खरीदें ज‍िनमें अमोन‍िया या सल्‍फेट न हो। इन कैम‍िकल के कारण स्‍कैल्‍प डैमेज हो सकती है। अगर आप हफ्ते में तीन बार से ज्‍यादा कैम‍िकल युक्‍त शैम्‍पू इस्‍तेमाल करते हैं तो हेयर लॉस की समस्‍या भी हो सकती है। आपको एक बात का ध्‍यान रखना है क‍ि हफ्ते में दो या तीन बार से ज्‍यादा शैम्‍पू न करें और इंग्रीड‍िएंट्स जाने ब‍िना क‍िसी भी शैम्‍पू को अपने बालों पर एप्‍लाई न करें। आप अपने डॉक्‍टर से सलाह लेकर भी हेयर प्रोडक्‍ट्स का चुनाव कर सकते हैं जो माइल्‍ड हों। 

इसे भी पढ़ें- उलझे, रूखे और बेजान बालों से छुटकारा पाने के लिए घर पर नींबू से बनाएं हेयर जेल, जानें तरीका

4. उच्‍च पीएच लेवल के हेयर प्रोडक्‍ट्स (Using high PH level hair products)

आपको इस बात का भी ध्‍यान रखना है क‍ि हेयर प्रोडक्‍ट्स का पीएच लेवल 4 से 5 के बीच हो और उससे ज्‍यादा न हो, ज‍िन प्रोडक्‍ट्स का पीएच स्‍तर 5 से ज्‍यादा होता है वो स्‍कैल्‍प के ल‍िए हान‍िकारक होते हैं। अगर स्‍कैल्‍प हेल्‍दी नहीं होगा तो खोपड़ी में पोर्स बढ़ जाएंगे ज‍िससे उनमें धूल इकट्ठा होगी और बाल जल्‍दी गंदे होंगे साथ ही डैड्रफ जमा होगा इसल‍िए आपको बालों को क्‍लीन रखना चाह‍िए और सही प्रोडक्‍ट्स का इस्‍तेमाल करना चाह‍िए।

5. बालों पर हीट‍िंग का असर (Impact of heating on hair and scalp)

heating hair

(image source:purewows)

अगर आप बालों को अच्‍छा लुक देने के लिए आए द‍िन स्‍ट्रेट, कर्ल या ब्‍लो ड्राय करते हैं तो इससे आपका स्‍कैल्‍प डैमेज हो सकता है। हीट‍िंग के असर से स्‍कैल्‍प डैमेज हो सकता है। आपको इन मशीन का इस्‍तेमाल बालों पर कम से कम करना है और बालों को सूरज की सीधी क‍िरणों से भी बचाकर रखें। बाहर न‍िकलने से पहले हमेशा स‍िर पर कैप पहनें और बालों को अच्‍छी तरह से ढक लें। अगर आपको लग रहा है क‍ि ज्‍यादा धूप के कारण आपके बालों की शाइन जा रही है तो डॉक्‍टर से इलाज लें। 

बालों और स्‍कैल्‍प को हेल्‍दी कैसे रखें? (How to make scalp and hair healthy) 

damage scalp

(image source:wikihow)

  • डर्मेटोलॉज‍िस्‍ट से सलाह लेकर अपने हेयर टाइप के मुताब‍िक शैम्‍पू और कंडीशनर का चुनाव करें। 
  • बहुत से लोग शैम्‍पू और कंडीशनर को गलत तरीके से एप्‍लाई करते हैं, आपको शैम्‍पू को जड़ यानी स्‍कैल्‍प और कंडीशनर को बालों की लेंथ में लगाना होता है। 
  • बालों को रंगने के लि‍ए हीना पाउडर या इंड‍िगो पाउडर का इस्‍तेमाल करें, मार्केट में म‍िलने वाले कलर इस्‍तेमाल में आसान तो होते हैं पर आपके स्‍कैल्‍प को डैमेज कर सकते हैं इसल‍िए उनका इस्‍तेमाल न करें। 
  • शैम्‍पू में पानी म‍िलाकर ही उसे स‍िर पर लगाएं, इससे उसमें मौजूद कैम‍िकल का असर कम हो जाएगा। 
  • स्‍कैल्‍प ऑयली हो तो भी आपको हफ्ते में कम से कम एक बार बालों को पोषण देने के ल‍िए तेल जरूर लगाना चाह‍िए।
  • बालों को एक रात या एक द‍िन के ल‍िए तेल लगाकर छोड़ेंगे तो उनमें धूल या कण जम जाएंगे आपको तेल केवल शैम्‍पू करने से 20 म‍िनट पहले लगाना चाह‍िए।
  • कुछ लोगों को लगता है क‍ि बार-बार कंघी करने से बाल लंबे या मजबूत होते हैं पर ऐसा नहीं है। 
  • कंघी करते समय आपको इस बात का ध्‍यान रखना क‍ि बाल ज्‍यादा ख‍िंचे नहीं। 
  • आपको आंवला का सेवन करना चाह‍िए, आंवला बालों के ल‍िए फायदेमंद होता है। इससे न स‍िर्फ बाल लंबे और मजबूत होते हैं बल्‍क‍ि आंवला खाने से स्‍कैल्‍प भी हेल्‍दी रहता है। 
  • आपको हफ्ते में कम से कम दो बार नैचुरल हेयर पैक एप्‍लाई करना चाह‍िए, बाल और स्‍कैल्‍प को पोषण देने के ल‍िए अंडे का, मुल्‍तानी म‍िट्टी का, पपीते का या दही का हेयर पैक लगाएं। 
  • कंघी को हर तीसरे द‍िन साफ करके ड‍िसइंफेक्‍टेंट से धोएं ताक‍ि उसके जर‍िए स्‍कैल्‍प में इंफेक्‍शन न हो। 

अगर आपको लग रहा है क‍ि आपके बाल कम हो रहे हैं या बाल बहुत ज्‍यादा टूट रहे हैं तो अपने डॉक्‍टर से तुरंत सलाह लें, इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं पर सही समय पर इलाज करवाने से बालों को कम नुकसान पहुंचेगा। 

(main image source:shopify)

Read more on Hair Care in Hindi 

Disclaimer