मैन बूब्स (गाइनेकोमास्टिया) की समस्या क्या है? जानें इसके लक्षण और बचाव के उपाय

गाइनेकोमास्टिया के कारण पुरूषों के स्तन वाले हिस्से में उभार आ सकता है। यह उनमें हार्मोनल बैलेंस बिगड़ने के कारण होता है। 

Dipti Kumari
Written by: Dipti KumariPublished at: Jun 16, 2022Updated at: Jun 16, 2022
मैन बूब्स  (गाइनेकोमास्टिया) की समस्या क्या है? जानें इसके लक्षण और बचाव के उपाय

गाइनेकोमास्टिया एक ऐसी स्थिति है, जब पुरूषों के स्तन टिश्यू में सूजन आ जाती है। यह दो हार्मोन के असंतुलन के कारण होता है। हालांकि ऐसा केवल हार्मोनल असंतुलन ही नहीं बल्कि स्तनों के पास फैट जमा होने के कारण भी हो सकता है। इस स्थिति में पुरूषों के स्तन का आकार नहीं बढ़ता है लेकिन सूजन आ जाती है, जिससे उनमें उभार आ सकता है। दरअसल लड़कों में स्तन टिश्यू की थोड़ी मात्रा जन्म से ही होता है। लड़कों में टेस्टोस्टेरोन नामक हार्मोन बनाता है, जो कि उनके शारीरिक विकास को बढ़ावा देता है। लेकिन पुरुष थोड़ा एस्ट्रोजन भी बनाते हैं। लेकिन, एस्ट्रोजन हार्मोन लड़कियों में यौन विकास को बढ़ाता है। शारीरिक विकास के क्रम में अगर आपके शरीर में इन दोनों हार्मोन्स में असंतुलन होता है, तो इससे आपके शरीर में एस्ट्रोजन का निर्माण अधिक हो सकता है और इससे स्तनों में सूजन आ सकती है। यह किशोरों से लेकर 50 की उम्र तक हो सकता है। 

गाइनेकोमास्टिया के लक्षण

गाइनेकोमास्टिया की समस्या में पुरूषों के निप्पल के नीचे फैट जमा हो सकता है, जिससे गांठ जैसा उभार आ सकता है। कभी-कभी यह गांठ मुलायम या कष्टदायक भी हो सकते हैं। इससे आपके दोनों स्तनों में सूजन हो सकती है। इसके अलावा ये भी हो सकता है कि आपका एक स्तन बड़ा औऱ दूसरा छोटा नजर आता है। ये दर्दनाक और इससे लिक्विड की मात्रा भी निकल सकती है। कई बार लोगों को ये लक्षण स्तन कैंसर के लगते हैं लेकिन ऐसा बिल्कुल नहीं है। ये स्तन कैंसर के लक्षण नहीं होते हैं। 

गाइनेकोमास्टिया के कारण 

1. हार्मोन असंतुलन

गाइनेकोमास्टिया का सबसे बड़ा कारण सेक्स हार्मोन टेस्टोस्टेरोन और एस्ट्रोजन के बीच असंतुलन हो सकता है। एस्ट्रोजन ज्यादा बनने के कारण आपके ब्रेस्ट टिश्यू बढ़ सकते हैं। हालांकि पुरूषों में टेस्टोस्टेरोन का स्तर बहुत अधिक होता है। जो एस्ट्रोजन को स्तन के ऊतकों को बढ़ने से रोकता है। यदि शरीर में हार्मोन का संतुलन बदल जाता है, तो इससे पुरुष के स्तनों में वृद्धि हो सकती है। हालांकि कई बार कारणों का ठीक पता लगा पाना संभव नहीं होता है। 

mens-health

2. मोटापा

इसके अन्य कारणों में बहुत अधिक वजन होना गाइनेकोमास्टिया हो सकता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि अधिक वजन होने से एस्ट्रोजन का स्तर बढ़ सकता है, जिससे स्तन के ऊतकों में विकास संभव है। यदि आपका वजन अधिक है तो आपके शरीर में अतिरिक्त वसा होने की भी अधिक आशंका रहती है, जो स्तन ऊतक को बढ़ा सकती है। कई लोग वजन कम करके इस स्थिति से निजात पा लेते हैं लेकिन हो सकता है कि ये स्थिति इससे भी ठीक न हो। 

3. छोटे बच्चे 

गाइनेकोमास्टिय नवजात शिशुओं को भी प्रभावित कर सकता है क्योंकि एस्ट्रोजन मां से बच्चे तक प्लेसेंटा से होकर गुजरता है। यह अस्थायी होता है, जो बच्चे के जन्म के कुछ समय बाद गायब हो सकता है। 

इसे भी पढे़ं- गाइनेकोमैस्टिया: बढ़े हुए चेस्ट साइज से हैं परेशान? डॉक्टर से जानें यह मेल ब्रेस्ट है या फैट

4. यौवन

यौवन के समय भी लड़कों के हार्मोन का स्तर अलग होता है। यदि उस समय उनमें टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का स्तर गिरता है, तो एस्ट्रोजन स्तन के ऊतकों में ऊभार के लिए उत्तरदायी हो सकते हैं, जिससे किशोर लड़कों में कुछ हद तक स्तन वृद्धि होती है। युवावस्था में गाइनेकोमास्टिया आमतौर पर लड़कों के बड़े होने और उनके हार्मोन के स्तर अधिक स्थिर होने के साथ ठीक हो सकती है। 

mens-health

5. अधिक उम्र के पुरूषों में 

अधिक उम्र के पुरुषों में भी टेस्टोस्टेरोन का उत्पादन बहुत कम होता है। वृद्ध पुरुषों में शरीर में कई बार फैट की मात्रा भी अधिक होती है और इससे अधिक एस्ट्रोजन का उत्पादन हो सकता है। हार्मोन के स्तर में इन परिवर्तनों से अतिरिक्त स्तन ऊतक वृद्धि हो सकती है।

उपचार 

इसके लिए आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। डॉक्टर आपके अतिरिक्त स्तन को सर्जरी की मदद से हटा सकते हैं या फिर हार्मोनल असंतुलन के लिए दवा दे सकते हैं। आपकी स्थिति का पता लगाने के लिए डॉक्टर कई तरह की जांच का सहारा भी ले सकते हैं। इसके अलावा आप शरीर के फैट को कम करने के लिए सही डाइट और एक्सरसाइज का भी सहारा ले सकते हैं। कई लोगों को इससे भी काफी आराम मिल सकता है। 

(All Image Credit- Freepik)

Disclaimer