Foods to Eat During Stress: तनाव महसूस होने पर भूलकर भी न खाएं ये 5 फूड्स, बढ़़ सकता है स्‍ट्रेस लेवल

क्‍या आप जानते हैं कि आपको तनाव के समय किन खाद्य पदार्थों के सेवन से बचना चाहिए? आइए यहां जानिए। 

Sheetal Bisht
Written by: Sheetal BishtPublished at: Mar 17, 2020Updated at: Mar 17, 2020
Foods to Eat During Stress: तनाव महसूस होने पर भूलकर भी न खाएं ये 5 फूड्स, बढ़़ सकता है स्‍ट्रेस लेवल

आमतौर पर लोग तनाव से निपटने के लिए खुश रहने की कोशिश और कुछ अन्‍य टिप्‍स के बारे में तो जानते हैं, लेकिन यह नहीं जानते कि उन्‍हें खानपान का भी ध्‍यान रखना पड़ता है। अक्‍सर लोग तनाव को कुछ खाने पीने के साथ शांत करने की कोशिश करते हैं, जैसे आपने कई लोगों को सुना होगा कि वह स्‍टेस या टेंशन की वजह से ड्रिंक करते हैं। लेकिन वास्तव में ऐसा कुछ नहीं होता है, बल्कि कुछ ऐसे खाद्य पदार्थ हैं, जो आपके मेटाबॉल्जिम को धीमा कर देते हैं। आइए यहां हम आपको उन खाद्य पदार्थों के बारे में बता रहे हैं, जिनको आपके तनाव महसूस होने पर नहीं खाना-पीना चाहिए। 

1. शराब 

Alcohol

शराब या अल्कोहल शरीर की प्राकृतिक तनाव प्रतिक्रिया को उत्तेजित करता है। कुछ रिसर्च बताती हैं कि हैवी ड्रिंक करने वालों में ड्रिंक न करने वालों की तुलना में स्‍वाभाविक रूप से कोर्टिसोल का लेवल अधिक होता है। कोर्टिसोल एक स्‍ट्रेस हार्मोन हैं, जो कि तनाव के स्‍तर को बढ़ाने और नींद पैर्टन को प्रभावित करने के लिए जिम्‍मेदार हो सकता है। 

2. चिप्स

कुछ लोगों को चिप्‍स खाने की बुरी आदत होती है लेकिन अगर आप तनाव महसूस करते हैं, तो आप इस आदत को तुरंत छोड़ें। ऐसा इसलिए क्‍योंकि चिप्‍स में ट्रांस फैट होता है, आलू के चिप्‍स खाना आपके लिए एक गलत विचार हो सकता है। ट्रांस-फैट आपके वजन बढ़ाने से लेकर कई अन्‍य स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं को पैदा कर सकता है।  

इसे भी पढें: पाचन से लेकर इम्‍युनिटी बढ़ाने के लिए बेस्‍ट है हल्‍दी और काली मिर्च का कॉम्‍बीनेशन

Chips

3. कैफीन

हालांकि चाय, कॉफी आपकी थकान को कम करने में मदद कर सकते हैं और कैफीन एक मूड-बूस्टर कहा जाता है। लेकिन मीठी कॉफी आपके लिए हानिकारक हो सकती है। इसके बजाय आप हर्बल चाय पर स्विच करें और अपने आप को कॉफी या चाय से बचाएं। 

4. आइसक्रीम

कुछ लोगों को स्‍ट्रेस लेने पर शुगर क्रेविंग होती है, जिसकी वजह से वह तनाव महसूस करने पर मीठे की ओर भागते हैं। लेकिन मीठे में आइसक्रीम का सेवन आपके ग्लूकोज के स्तर के साथ-साथ कोर्टिसोल के स्तर को बढ़ाती है। इसके अलावा, आइसक्रीम में लैक्टोज संवेदनशील लोगों के लिए गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल का कारण बन सकता है।

ice cream

इसे भी पढें: सफेद नहीं खाएं लाल चावल, दिल को दुरूस्‍त रखने से लेकर डायबिटीज रोगियों के लिए है फायदेमंद

5. चॉकलेट

चॉकलेट रिफाइंड शुगर में हाई होती है, जिसकी वजह से यह कोर्टिसोल जैसे स्‍ट्रेस हार्मोन के स्तर को बढ़ा सकती है। इसलिए आप तनाव महसूस करने पर चॉकलेट से थोड़ा दूरी रखें। हाई कोर्टिसोल का स्तर आपको अत्यधिक ऊर्जावान महसूस कराने का कारण बनता है और यह अंततः अचानक ऊर्जा की क्षति का कारण बनता है, क्योंकि रिफाइंड शुगर तेजी से अवशोषित होता है।

Read More Article On Healthy Diet In Hindi

Disclaimer