पसीने की बदबू से छुटकारा पाने में मददगार हैं ये 5 एसेंशियल ऑयल, जानें इस्तेमाल का तरीका

पसीने की बदबू से छुटकारा पाने के लिए आप कुछ एसेंशियल ऑयल का इस्तेमाल कर सकते हैं। ये आपके शरीर की ताजगी भी बढ़ाती है।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Apr 16, 2022Updated at: Apr 16, 2022
पसीने की बदबू से छुटकारा पाने में मददगार हैं ये 5 एसेंशियल ऑयल, जानें इस्तेमाल का तरीका

गर्मियों में पसीने के बदबू से अक्सर लोग बहुत परेशान होते हैं। पसीने की बदबू असल में पसीने के कारण उत्पन्न होने वाले बैक्टीरिया की वजह से होती है। ये बैक्टीरिया जब पसीने को तोड़ते हैं तो इससे एक गैस रिलीज होती है जिससे अजीब सी गंध आती है और हमें लगता है कि पसीने की दुर्गंध है। ऐसे में अगर आप कुछ उपायों को अपनाएं तो पूरी गर्मी पसने की बदबू से बचे रह सकते हैं। इतना ही नहीं इस उपाय की मदद से आपके शरीर से खुशबू भी आएगी। दरअसल, हम बात कुछ प्राकृतिक तेलों यानी कि एसेंशियल ऑयल (essential oil for underarm odour in hindi) की कर रहें हैं जिसकी मदद से आप अपने पसीने की दुर्गंध को कम कर सकते हैं। वो कैसे आइए हम आपको बताते हैं।

inside_armpitsmell

पसीने की बदबू से छुटकारा पाने में मददगार हैं ये 5 एसेंशियल ऑयल-Essential oil for underarm odour

1. मूली के बीज का तेल

मूली के बीज का तेल अंडरआर्म और फुट डिओडोरेंट दोनों के रूप में प्रभावी तरीके से काम करता है। ये एक बेहतरीन मॉइस्चराइजर बनाता है और फ्री-रेडिकल क्षति को कम करने में मदद करता है और इसका उपयोग फंगल संक्रमण से निपटने के लिए किया जा सकता है। आप इससे इस्तेमाल से अंडरआर्म के बैक्टीरिया को कम कर सकते हैं और बदबू से बच सकते हैं।

2. सेज ऑयल

सेज ऑयल में बेहतरीन एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण होते हैं। यह फटी त्वचा की स्थिति को कम करने में भी मदद करता है। सेज एसेंशियल ऑयल में एक मीठी, जड़ी-बूटी की सुगंध होती है जो इसे बगल के लिए एक बेहतरीन डिओडोरेंट् बनाता है और अप्रिय गंध से निपटने में मदद करता है। दरअसल, सेज ऑयल प्राकृतिक उपचारों में मदद करते हैं। 

इसे भी पढ़ें : मोटी नाक को पतला करने में मददगार है अदरक, जानें इस्तेमाल का तरीका

3. टी ट्री ऑयल

टी ट्री ऑयल में भी एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण होते हैं जो इसे एक प्रभावी प्राकृतिक डिओडोरेंट बनाते हैं। ये पोर्स को साफ करता है और पसीने के प्रोडक्शन को कम करता है। इस तेल को आप पानी में मिला कर नहा भी सकते हैं जो कि पूरे दिन आपके शरीर में खुशबू को बरकरार रखेगा।

inside_essentialoil

4. पिपरमेंट ऑयल 

पसीने की गंध का कारण आपकी त्वचा पर बैक्टीरिया की क्रिया है और पेपरमिंट ऑयल में मेन्थॉल होता है, जो एक उत्कृष्ट एंटीसेप्टिक एजेंट है। वास्तव में, यह प्रकृति में एंटीबैक्टीरियल और एंटी-वायरल भी है। पेपरमिंट की ताजी खुशबू और त्वचा पर इसका ठंडा प्रभाव पसीने की दुर्गंध को दूर करता है। साथ ही आपकी कांख संवेदनशील हैं, तो ये चक्कते, ड्राई स्किन औरअन्य कारकों के कारण होने वाली खुजली को भी कम कर सकता है। इसके अलावा इसका कूलिंग एजेंट त्वचा की देखभाल के लिए एक तरह से काम करता है और गर्मी के दिनों में फायदेमंद होता है। 

5. लेमनग्रास ऑयल

लेमनग्रास ऑयल तंत्रिकाओं को शांत कर सकता है, नींद को बढ़ावा दे सकता है और सबसे बड़ी बाद अंडरआर्म्स के बैक्टीरिया को मारता है। इससे आप पारंपरिक डिओडोरेंट की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं जो कि चिपचिपी स्किन को ठंडा करता है और गर्मी से बचाता है। 

इसे भी पढ़ें : हरी इलायची और सौंफ से पाएं तंबाकू और सिगरेट की लत से राहत, जानें आजमाया हुआ आसान नुस्खा

कैसे इस्तेमाल करें एसेंशियल ऑयल-How to use essential oils for body odour

1. डियोड्रेंट की तरह इस्तेमाल करें

आप इससे एक आर्मपिट डिटॉक्स स्प्रे बना सकते हैं और डियोड्रेंट की तरह इस्तेमाल कर सकते हैं। इसे बनाने के लिए

  • -1 चम्मच जैविक सेब का सिरका लें
  • -1 चम्मच जोजोबा कैरियर ऑयल
  • -2 बूंद इनमें से कोई भी एसेंशियल ऑयल 
  • -छिड़कने का बोतल

अब अपने DIY डिओडोरेंट के सभी अवयवों को स्प्रे बोतल में मिलाएं। अच्छी तरह हिलाएं और अपने अंडरआर्म्स पर एक पतली परत स्प्रे करें और 5-10 मिनट के लिए छोड़ दें। एक साफ, गर्म, नम कपड़े से धो लें। 

2. नहाने के पानी में डालें

आप एसेंशियल ऑयल ऑयल को अपने नहाने के पानी में डाल कर, उस पानी से नहा सकते हैं। ये बॉडी को डिटॉक्स करने के साथ पसीने की दुर्गंध पैदा करने वाले बैक्टीरिया को पैदा होने से रोकेगा। इस तरह से पसीने की गंध से बचने में आपकी मदद करेगा।

तो, इस तरह आप गर्मी में पसीने की दुर्गंध से बचने के लिए इन तेलों का इस्तेमाल कर सकते हैं। ये त्वचा के लिए हर तरह से फायदेमंद है और आप इसे अपनी पसंद अनुसार इस्तेमाल कर सकते हैं। 

all images credit: freepik

Disclaimer