सर्दियों में रोजाना खाएं चिरौंजी, सर्दी-जुकाम से लेकर इन 7 समस्याओं से दिला सकती है राहत

सर्दी के साथ बढ़ते प्रदूषण से होने वाली कई समस्याओं से आपको 'चिंरौजी' बचा सकती है। जानें 7 फायदे जो सर्दी में रोजाना चिरौंजी खाने से आपको मिलेंगे।

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Nov 23, 2020Updated at: Nov 23, 2020
सर्दियों में रोजाना खाएं चिरौंजी, सर्दी-जुकाम से लेकर इन 7 समस्याओं से दिला सकती है राहत

सर्दियों में चिरौंजी आपके लिए बहुत ही फायदेमंद हो सकता है।  छोटी सी दिखने वाली चिरौंजी का इस्तेमाल ज्यादातर मीठे पकवान तैयार करने के लिए करते हैं। खीर में खासतौर पर चिरौंजी डाली जाती है। यह कई पोषक तत्वों से भरपूर होता है। इसमें अच्छी मात्रा में प्रोटीन होता है। इसके साथ ही चिरौंजी में विटामिन बी, सी की भी प्रचुरता होती है। इसके अलावा चिरौंजी के तेल में अमीनो एसिड पाया जाता है, जो सेहत के लिए काफी फायदेमंद है। चिरौंजी के सेवन से कई बीमारियों से बचा जा सकता है। आइए जानते हैं चिरौंजी खाने से सेहत को होने वाले फायदे -

सर्दियों में चिरौंजी खाने से सेहत को होने वाले फायदे

सर्दी-खांसी

मौसम बदलने के साथ-साथ सर्दी जुकाम की समस्याएं काफी ज्यादा बढ़ जाती है। ऐसे में अगर आप चिरौंजी का सेवन संतुलित रूप से करते हैं, तो यह आपके लिए काफी फायदेमंद हो सकती है। चिरौंजी के सेवन से सर्दी-जुकाम जैसी समस्याओं से राहत पाया जा सकता है। चिरौंजी का सेवन आप हल्का का भुन के खा सकते हैं, यह आपके लिए ज्यादा फायदेमंद हो सकता है। 

इम्युनिटी करे बूस्ट

कई को बीमारियों से बचने के लिए इम्यून सिस्टम का मजबूत होना बहुत ही जरूरी होता है। चिरौंजी में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने का गुण पाया जाता है। इसलिए अधिकतर महिलाओं को डिलीवरी के बाद चिरौंजी खिलाया जाता है, जिससे उसके और उसकी शिशु की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़े। 

इसे भी पढ़ें - सर्दियों में ब्राउन फैट सेहत के लिए बहुत ही फायदेमंद, मोटापा और डायबिटीज भी कर सकती है कंट्रोल

दिल की बीमारी 

दिल से संबंधित समस्याओं के लिए भी चिरौंजी काफी फायदेमंद साबित होती है। दरअसल, चिरौंजी दिल को भी सेहतमंद रखने में मदद करती है। विश्वास नहीं हो रहा है? लेकिन सच है यह। चिरौंजी का पर्गटिव गुण दिल के लिए कार्डियोटॉनिक जैसा काम करती है। ऐसे में अगर आप नियमित रूप से चिरौंजी का सेवन करते हैं, तो दिल से जुड़ी समस्याओं से बचाव कर सकते हैं।

अस्थमा की समस्या से दिलाए राहत

बढ़ते प्रदूषण के कारण लोगों को अस्थमा जैसी समस्याएं काफी ज्यादा हो रही हैं। धीरे-धीरे यह एक आम बीमारी बनती जा रही है। आयुर्वेद में अस्थमा जैसी समस्याओं के बचाव के लिए चिरौंजी खाने की सलाह दी जाती है। चिरौंजी में एंटी-इंफ्लेमेट्री और एंटी-ऑक्सिडेंट गुण पाए जाते हैं, जो सांस से संबंधी बीमारियों से राहत दिलाने में आपकी मदद कर सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें - फायदे ही नहीं नुकसान भी पहुंचाती है अनार, इन लोगों को रहना चाहिए दूर

त्वचा संबंधी समस्या

प्रदूषण के कारण आज के समय में अधिकतर लोग स्किन से जुड़ी समस्याओं से परेशान हैं। इन समस्याओं में स्किन एलर्जी, स्किन पर पिंपल्स और एक्ने जैसी समस्याएं हैं। चिरौंजी की मदद से आप इन सभी समस्याओं से राहत पा सकते हैं। यह स्किन को गहराई से साफ करने में आपकी मदद कर सकता है। स्किन पर इसका इस्तेमाल करने के लिए 2 चम्मच चिरौंजी को रातभर भिगोने के लिए छोड़ दें। सुबह इसे अच्छी तरह पीसकर पेस्ट तैयार करें। इसमें थोड़ा सा गुलाबजल और हल्दी मिलाकर स्किन पर लगाएं। इससे स्किन से जुड़ी परेशानी दूर हो जाएगी।

मुंह के छाले

मुंह में छाले होने का कारण पेट से जुड़ी समस्याएं होती हैं। अगर आपको अपच या पेट में गैस की परेशानी रहती है, तो मुंह में छाले होना आम बात है। चिरौंजी के सेवन से अपच की समस्या से राहत पाया जा सकता है। ऐसे में आप मुंह के छाले से भी राहत पा सकते हैं।  

गठिया के सूजन से दिलाए राहत

चिरौंजी के सेवन से आप गठिया में होने वाले दर्द और सूजन से राहत पा सकते हैं। चिरौंजी का इस्तेमाल करने के लिए 1 चम्मच चिरौंजी में 1 चम्मच तिल, 1 इंच मुलेठी और 1 इंच कमलनाल मिलाकर इसका पेस्ट बनाएं। इस पेस्ट को प्रभावित हिस्से पर लगाएं। इससे आपको गठिया में होने वाले सूजन और दर्द से राहत मिल सकती है।   

Read more articles on Healthy-Diet in Hindi

 

Disclaimer