शरीर में मौजूद 'ब्राउन फैट' सर्दियों में आपके शरीर को रखता है गर्म, जानें कैसे बढ़ाएं शरीर में ब्राउन फैट

ब्राउन फैट शरीर में 'नैचुरल हीटर' की तरह काम करता है, जो ठंड होने पर शरीर को गर्म करता है। इसके अलावा ब्राउन फैट डायबिटीज और मोटापा से भी बचाता है।

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Nov 23, 2020
शरीर में मौजूद 'ब्राउन फैट' सर्दियों में आपके शरीर को रखता है गर्म, जानें कैसे बढ़ाएं शरीर में ब्राउन फैट
मोटापा और डायबिटीज की समस्या आज के समय में बहुत ही आम हो चुकी है। आधुनिक लाइफस्टाइल के कारण लोग बहुत ही ज्यादा बीमार पड़ रहे हैं। ऐसे में मोटापा और डायबिटीज होना बहुत ही साधारण हो चुका है। मोटापा और डायबिटीज से ग्रसित लोगों को अपना खास ख्याल रखने की जरूरत होती है, ताकि वे उनको और भी परेशानियां ना हों। डायबिटीज और मोटापे से ग्रसित लोगों को अपने डाइट में फैयुक्त चीजों को शामिल नहीं करना चाहिए। क्योंकि फैटयुक्त खाने से शरीर का मोटापा काफी ज्यादा पड़ता है। हालांकि, फैट कई तरह के होते हैं, जिसमें से कुछ अच्छे फैट को लेने से शरीर को किसी तरह की परेशानी नहीं होती है।
एक्सपर्ट की मानें तो इंसानों के शरीर में 5 तरह के फैट होते हैं, जिसमें से एक होता है ब्राउन फैट। ब्राउन फैट सेहत के लिए बहुत ही अच्छा माना जाता है। इसे गुड फैट के रूप में जाना जाता है, इस तरह के फैट को लेने से शरीर में उर्जा बढ़ती है। ब्राउन फैट से शरीर में गर्मी का उत्सर्जन होता है। ऐसे में सर्दियों में ब्राउन फैट का सेवन हमारे लिए फायदेमंद हो सकता है। यह शक्कर और अन्य फैट को अवशोषित करके गर्मी का उत्सर्जन करती है। विशेषज्ञों की मानें तो ब्राउन फैट के स्पाइनल कार्ड, किडनी, हसली और बच्चों के गर्दन में बहुत ही कम मात्रा में पाया जाता है। कई रिसर्च में बताया गया है कि बच्चों के गर्दन में करीब 50 ग्राम ब्राउन फैट होता है, जो उन्हें दिनभर के अलग-अलग क्रिया को करने में मदद करता है।

ब्राउन फैट के फायदे

शरीर में उर्जा का करता है उत्सर्जन

ब्राउन फैट गर्मी पैदा करने और शरीर के तापमान को बनाए रखने की क्षमता होती है। यह शरीर में मौजूद रक्त शर्करा (ग्लूकोज) और वसा के अणुओं को तोड़कर शरीर में गर्मी पैदा करता है। शरीर का ठंडा तापमान ब्राउन फैट को सक्रिय करते हैं, जिससे शरीर में विभिन्न चयापचय परिवर्तन होते हैं।

वजन को करता है कम

हमारे शरीर में अधिकांश व्हाइट फैट अधिक होता है, जो तिरिक्त ऊर्जा को संग्रहित करती है। व्हाइट फैट से शरीर का वजन बढ़ता है। वहीं, ब्राउन फैट शुगर और व्हाइट फैट के अणुओं को तोड़कर उर्जा बनाता है, जिससे शरीर की अतिरिक्त एनर्जी की जरूरत होती है। इससे हमारे शरीर का बहुत अधिक फैट और कैलोरी बर्न होती है। इस तरह शरीर में ब्राउन फैट वजन को कम करने में सहायक साबित हो सकता है।

ब्लड शुग को करता है कंट्रोल

जैसा कि हम बता चुके हैं कि शरीर में गर्मी को उत्सर्जित करने के लिए ब्राउन फैट शुगर को अवशोषित करता है। ऐसे में यह हमारे शरीर के ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में सहायक साबित हो सकता है।
 

क्या कहती है रिसर्च

इसके अलावा जरनल नेचर (journal Nature) में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक, ब्राउन फैट डायबिटीज और मोटापा को कंट्रोल करने में सहायक होता है। रिपोर्ट में बताया गया है कि ब्राउन फैट शरीर को डिटॉक्स करने में सहायक होता है। इसके साथ ही यह शरीर में मौजूद एमीनो एसिड को बाहर निकालने में मदद करता है। बता दें कि एमीनो एसिड हमारे शरीर के लिए फायदेमंद है, लेकिन डायबिटीज और मोटापे को बढ़ाने का सबसे बड़ा कारक माना जाता है। इस रिसर्च के मुताबिक जिन लोगों में ब्राउन फैट की कमी होती है, उनके ब्लड से BCAAs निकालने में परेशानी का सामना करना पड़ सकता है, जो बाद में डायबिटीज और मोटापे में बदल जाती है।

कैसे करें ब्राउन फैट की कमी को पूरा

  • ब्राउन फैट को बढ़ाने के लिए नियमित रूर से एक्सरसाइज करें।
  • इम्यून सिस्टम को मजबूत करके शरीर में ब्राउन को बढ़ाया जा सकता है।
  • सेब के सेवन से भी शरीर में ब्राउन फैट को बढ़ाया जा सकता है। 
  • ग्रीन टी की मदद से भी आप अपने शरीर में ब्राउन फैट को बढ़ा सकते हैं। 
  • इसके अलावा शरीर से अधिक कैलोरी बर्न करके व्हाइट फैट को ब्राउन फैट में बदला जा सकता है।
  • ठंडे तापमान में रहने से भी शरीर से ब्राउन फैट निकलता है। रिसर्च के मुताबिक, 2 घंटे 19 डिग्री सेल्सियम टेम्प्रेचर में रहने से शरीर में ब्राउन फैट बढ़ता है। 
  • इसके अलावा पोषक तत्वों से भरपूर आहार लेने से भी आप शरीर में ब्राउन फैट को बढ़ा सकते हैं। 
 
Read More Article On Healthy Diet In Hindi

 

Disclaimer