सोंठ के इस्तेमाल से दूर हो सकती हैं मसूड़ों की सूजन, उल्टी, दस्त जैसी ये 9 समस्याएं, जानें प्रयोग का तरीका

सोंठ कई बीमारियों का घरेलू उपाय है। इसका सही मात्रा में सेवन करने से तुरंत लाथ मिलता है। सोंठ पुराने से पुराने बुखार को भी ठीक कर देती है।

Meena Prajapati
Written by: Meena PrajapatiUpdated at: Aug 09, 2021 14:32 IST
सोंठ के इस्तेमाल से दूर हो सकती हैं मसूड़ों की सूजन, उल्टी, दस्त जैसी ये 9 समस्याएं, जानें प्रयोग का तरीका

हर घर में सोंठ मिल जाएगा। किचन में उपलब्ध यह एक चीज औषधीय रूप से आपके लिए लाभदायक है। अदरक का सूखा हुआ रूप ही सोंठ है। सोंठ का उपयोग घरेलू उपायों के रूप में कई बीमारियों को दूर करने में किया जाता है। मसलन अगर आपको सर्दी, खांसी, जुकाम है तो आप सोंठ का सेवन कर सकते हैं। प्राचीन समय में जब मेडिकल साइंस इतना विकसित नहीं था तब ऐसे ही घरेलू उपायों से बीमारियों का इलाज किया जाता था। आज भी यह घरेलू उपाय कारगर हैं। आज के इस लेख में हम आपको बताएंगे कि सोंठ का उपयोग किन बीमारियों में किस तरह करना है और कितनी मात्रा में सोंठ का सेवन करना है। 

inside2_Drgingerbenefits

सोंठ के उपयोग और फायदे

1. मसूड़ों की सूजन

मसूड़ों में सूजन आजकल एक बढ़ती समस्या है। यह किसी बीमारी की वजह से या फिर किसी चोट की वजह से हो सकती है। मसूड़ों में सूजन होने पर कुछ भी खाना मुश्किल हो जाता है। तो अगर आप मसूडों की सूजन से छुटकारा पाना चाहते हैं तो सोंठ का उपयोग कर सकते हैं।

उपयोग का तरीका - सोंठ का उपयोग मसूड़ों की सूजन को दूर करने में किया जाता है। इसके लिए आपको 4 ग्राम सोंठ का चूर्ण पानी के साथ सेवन करने से आपके मसूड़ों की सूजन से लेकर दांत का दर्द तक ठीक हो जाता है।

inside4_Drgingerbenefits

2. पुराना जुकाम

कुछ लोगों को जुकाम की समस्या अक्सर रहती है। जुकाम में व्यक्ति को न तो खाना अच्छा लगता है और न ही मूड ठीक रहता है। ऐसे में कई बार बुखार भी आता है। इस परेशानी से बचाने में सोंठ उपयोगी है। आपका कितना ही पुराना जुकाम हो सोंठ का सेवन इसे जल्द ही ठीक कर देगा। 

उपयोग का तरीका -जुकाम होने पर सोंठ डालकर पानी पीने से पुराने से पुराने जुकाम ठीक हो जाता है। यह पानी आप दिन में तीन बार गुनगुना करके पीएं। 

3. पुराना बुखार

अगर आपका बुखार अन्य घरेलू उपायों से नहीं उतर रहा है तो आप सोंठ का सेवन कर सकते हैं। हालांकि अभी कोरोना के चलते बुखार को बहुत नॉर्मल न लें। अगर ज्यादा दिन से बुखार से परेशान हैं तो बिना देरी किए डॉक्टर को दिखा लें। बहरहाल यहां हम आपको बता रहे हैं कि पुराने बुखार में सोंठ का उपयोग कैसे कर सकते हैं। 

उपयोग का तरीका - सोंठ को छाछ के ऊपर से निथारे पानी में घिसकर पीने से पुराना बुखार दूर हो जाता है। इस विधि को आप 21 दिन तक अपना सकते हैं। 

4. खांसी

अगर आपको पुरानी खांसी है तो उसमें भी सोंठ आपके लिए बहुत उपयोगी है। सोंठ, छोटी हरड़ और नागरमोथा का चूर्ण बराबर मात्रा में गुड़ में मिलाएं और छोटी-छोटी गोलियां बना लें। पर ध्यान रहे कि गुड़ दोगुना होना चाहिए। इन गोलियों को दिन में 3-4 चूसने से पुरानी खांसी दूर हो जाती है। इसका अन्य उपयोग का तरीका आप अपने नजदीकी आयुर्वेदिक चिकित्सक से पूछ सकते हैं। यह खांसी, खराश को ठीक करने का अचूक घरेलू नुस्खा है।

inside3_Drgingerbenefits

इसे भी पढ़ें : दूध में सोंठ मिलाकर पीने से सेहत को होते हैं ये 5 फायदे

5. कमर दर्द से छुटकारा

पेट में गैस के कारण अगर कमर में भी दर्द शुरू हो गया है तो आप सोंठ का सेवन कर सकते हैं। इसके लिए आप सोंठ और एरंडी की जड़ का काढ़ा बनाकर उसमें हींग और काला नमक मिलाकर पीएं। इससे वायु के कारण होने वाले कमर दर्द में सहायता मिलेगी। कमर दर्द की परेशानी अक्सर महिलाओं में जल्दी बढ़ती है। 30 की उम्र के बाद कमर दर्द की परेशानी उनमें तेजी से बढ़ती है। तो वहीं माहवारी के दिनों में भी कमर दर्द की परेशानी है। ऐसे में आप सोंठ का सेवन कर सकते हैं, कमर दर्द से छुटकारा पाने के लिए। सोंठ कमर दर्द से छुटकारा दिलाने का आसान घरेलू उपाय है।

6. दस्त की समस्या

छोटे हों या बड़े दस्त किसी को भी हो सकते हैं। सिर्फ एक से दो दिन के दस्त आपको कमजोर बना सकते हैं। अगर समय रहते इन्हें नहीं रोका तो यह आपके शरीर को पूरी तरह से बिस्तर पर ले आ जाते हैं। दस्त को रोकने की रामबाण दवा है सोंठ। सोंठ, जूीरा और सेंधा नमक का चूर्ण मट्ठे में मिलाकर पीने से मल बंधता है और दस्त की समस्या रुकती है। इसका सेवन करने से अन्न पचना शुरू होता है पतले दस्त होना बंद होते हैं।

इसे भी पढ़ें : सिर दर्द, खांसी, दस्त जैसी इन 6 समस्याओं में फायदेमंद है कनक चंपा, जानें अन्य औषधीय लाभ

inside5_Drgingerbenefits

7. पेचिश

पेचिश की परेशानी में सोंठ बहुत ही अच्छा घरेलू उपाय है। सोंठ का पानी पीने से पेचिश रुक जाती है। सोंठ का चूर्ण आप गर्म पानी के साथ फांकें इससे आपको पेचिश की समस्या से निजात मिलेगी। इस सोंठ का सेवन आप सुबह के वक्त करें। इसके अलावा आप सोंठ का काढ़ा बनाकर उसमें एरंड का तेल मिलाकर पीने से पेचिश रुकती है। पेचिश के लिए इन घरेलू उपायों के अलावा चायपत्ती का सेवन भी कर सकते हैं। चायपत्ती भी पेचिश को रोकती है। इससे तुरंत आराम मिलता है।

8. उल्टी को रोके

हैजे में अक्सर उल्टी, पेट दर्द और दस्त होते हैं। इन परेशानियों से छुटकारा पाने के लिए आप सोंठ का सेवन कर सकते हैं। सोंठ और बेलफल का गर्म काढ़ा बनाकर पीने से उल्टी में आराम मिलता है। अक्सर जब उल्टी होती है तब हमें समझ नहीं आता कि अभी मुसीबत में डॉक्टर के पास कैसे जाएं। ऐसे में आप घरेलू उपाय के रूप में सोंठ को अपना सकते हैं। सोंठ में ऐसे गुण होते हैं उल्टी को रोकने का काम करते हैं। 

 

9. रक्तस्राव को रोके 

चोट लगने की वजह से रक्त स्राव हो या दर्द के कारण पेशाब से खून आने की समस्या, इन सभी में सोंठ लाभकारी है। सोंठ को बकरी या गाय के दूध के साथ सेवन कर सकते हैं। इस तरह सेवन करने से आपको रक्त स्राव को रोकने में लाभ मिलेगा। रक्त स्राव को रोकने का सोंठ एक रामबाण उपाय है।

सोंठ कई बीमारियों का घरेलू उपाय है। इसका सही मात्रा में सेवन करने से तुरंत लाथ मिलता है। सोंठ पुराने से पुराने बुखार को भी ठीक कर देती है। अगर आपको उल्टी, दस्त, पेचिश जैसी परेशानियां हो रही हैं तो आप सोंठ का सेवन कर सकते हैं। सोंठ के अन्य उपयोग के बारे में आप अपने नजदीकी आयुर्वेदिक डॉक्टर से भी बात कर सकते हैं। अलबत्ता आपके घर में दादी नानी जो हैं उनसे भी आप ये नुस्खे पूछ सकते हैं। 

Read more on Home Remedies in Hindi 

Disclaimer