Dove और Tresemme के ड्राई शैंपू बढ़ा रहे कैंसर का खतरा, मार्केट से वापस मंगाया गया स्टॉक, जानें पूरी खबर

Shampoo Can Cause Cancer: Dove और Tresemme के ड्राई शैंपू का इस्तेमाल करने वाले हो जाएं सावधान, कंपनी ने मार्केट से वापस मंगाया स्टॉक।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghUpdated at: Oct 27, 2022 13:39 IST
Dove और Tresemme के ड्राई शैंपू बढ़ा रहे कैंसर का खतरा, मार्केट से वापस मंगाया गया स्टॉक, जानें पूरी खबर

Shampoo Can Cause Cancer: दुनियाभर में अपने प्रोडक्ट्स के लिए मशहूर एफएमसीजी कंपनी यूनिलीवर (Unilever) के शैंपू को लेकर अमेरिका फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) ने बड़ा खुलासा किया है। FDA की नोटिस के बाद यूनिलीवर ने अपने कई तरह शैंपू के स्टॉक को मार्केट से वापस ले लिया है। इन शैंपू ब्रांड में Dove और  Dove, TRESemmé, Nexxus, Suave, TIGI जैसे उत्पाद शामिल हैं। इन शैंपू को लेकर आई रिपोर्ट में कहा गया है कि इनके इस्तेमाल से आपको कैंसर जैसी गंभीर बीमारी का खतरा बढ़ रहा है। दरअसल यूनिलीवर के इन ड्राई शैंपू में एक ऐसे तत्व की अधिक मात्रा पायी गयी है जिसकी वजह से कैंसर का खतरा बढ़ता है। FDA की रिपोर्ट सामने आने के बाद यूनिलीवर ने अपने शैंपू के इन ब्रांड्स को मार्केट से वापस ले लिया है।

ड्राई शैंपू और ड्राई कंडीशनर से कैंसर का खतरा

सीएनएन में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक यूनिलीवर के इन शैंपू में बेंजीन नामक तत्व की मात्रा ज्यादा थी जिसकी वजह से कैंसर जैसी गंभीर बीमारी हो सकती है। FDA की नोटिस के बाद इन शैंपू पर पप्रतिबंध लगा दिया गया है। यूनिलीवर कंपनी द्वारा निर्मित ये शैंपू डव ड्राय शैंपू, नेक्सस ड्राय शैंपू रिफ्रेशिंग मिस्ट, डव ड्राय शैंपू फ्रेश कोकोनट, सुआवे प्रोफेशनल्स ड्राय शैंपू रिफ्रेश एंड रिवाइव जैसे ड्राई शैंपू और कंडीशनर शामिल हैं। ये शैंपू अमेरिकी बाजार में बिक रहे थे और नोटिस के बाद इन्हें मार्केट से वापस कर लिया गया है। इसके अलावा प्रॉक्टर एंड गैंबल (Procter & Gamble) कंपनी ने भी अपने 30 से अधिक स्प्रे हेयरकेयर प्रोडक्ट्स को वापस ले लिया है। FDA की जानकारी के मुताबिक ये शैंपू और हेयरकेयर प्रोडक्ट्स 2021 के अक्टूबर से पहले बनाए गए थे और इन्हें मार्केट में डिस्ट्रीब्यूट किया गया था। 

Shampoo Can Cause Cancer

इसे भी पढ़ें: जरूरत से ज्यादा कंडीशनर का प्रयोग बालों के लिए हो सकता है नुकसानदायक, जानें बचाव के तरीके

FDA ने दी चेतावनी

मीडिया रिपोर्ट्स में यह कहा गया है कि FDA ने इन शैंपू के इस्तेमाल को लेकर चेतावनी जारी करते हुए कम्पनियों को इन प्रोडक्ट्स को रिकॉल करने का नोटिस दिया था। दरअसल इन शैंपू में बेंजीन नामक तत्व है जिसकी वजह से कैंसर की बीमारी हो सकती है। बेंजीन के शरीर में जाने से आपको ब्लड कैंसर, ल्यूकेमिया जैसी गंभीर समस्याओं का खतरा रहता है। FDA ने इन प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल पर रोक लगाने की बाद भी कही है। ये ड्राई शैंपू दरअसल पाउडर या स्प्रे जैसे होते हैं। आमतौर पर इनका इस्तेमाल बालों को बिना भिगोए साफ करने के लिए किया जाता है। रिपोर्ट्स के मुताबिक इन शैंपू में मौजूद बेंजीन आपके शरीर में सूंघने, स्प्रे करने या मुहं के माध्यम से जा सकता है। 

इससे पहले भी लग चुकें हैं आरोप

दुनियाभर में अपने हेयरकेयर और ब्यूटी प्रोडक्ट्स को लेकर मशहूर कई कंपनियों पर पहले भी इस तरह की कार्रवाई की जा चुकी है। इससे पहले भी ऐसे शैंपू और ब्यूटी प्रोडक्ट्स में एयरोसोल के कण पाए जाने की बात कही गयी थी। आरोप के बाद कई कंपनियों ने अपने ब्यूटी प्रोडक्ट्स जैसे सनस्क्रीन आदि को वापस ले लिया था। इन कंपनियों में जॉनसन एंड जॉनसन, एगवेल पर्सनल केयर और बीयर्सडॉर्फ का कॉपरटोन जैसे शैंपू शामिल हैं। 

इसे भी पढ़ें: शैंपू के बाद या पहले, कब करें कंडीशनर का प्रयोग? जानें हेयर टाइप के अनुसार इस्तेमाल का सही तरीका

FDA ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि यूनिलीवर के इन ड्राई शैंपू के इस्तेमाल से ब्लड कैंसर और ल्यूकेमिया जैसी गंभीर बीमारी का खतरा है। जिसके बाद कंपनी ने अपने प्रोडक्ट्स वापस ले लिए हैं। हालांकि कंपनी ने इसको लेकर कहा है कि बेंजीन की जितनी मात्रा इन शैंपू में है उससे आपके सेहत पर कोई असर नहीं पड़ेगा। इसके बाद एहतियात के तौर पर इन प्रोडक्ट्स को बाजार से वापस ले लिया गया है। हम भारत के एबात करें तो कंपनी ने कहा है कि ये प्रोडक्ट्स सिर्फ अमेरिका में बिक रहे थे और भारत में ऐसे प्रोडक्ट्स का निर्माण और बिक्री नहीं की गयी है। 

(Image Courtesy: Freepik.com)

Disclaimer