Expert

क्या है डबल सनस्क्रीन? एक्सपर्ट से जानें रेगुलर सनस्क्रीन से कैसे है अलग और फायदेमंद

Double Sunscreen Meaning Benefits In Hindi: घर से बाहर निकलते समय त्वचा पर सनस्क्रीन लगाने की सलाह दी जाती है, जानें क्या है डबल सनस्क्रीन।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: May 24, 2022Updated at: May 24, 2022
क्या है डबल सनस्क्रीन? एक्सपर्ट से जानें रेगुलर सनस्क्रीन से कैसे है अलग और फायदेमंद

सनस्क्रीन का इस्तेमाल तो हम सभी करते हैं। घर से बाहर निकलते समय धूप और सूरज की हानिकारक किरणों से होने वाले नुकसान से त्वचा को बचाने के लिए हम सभी सनस्क्रीन का प्रयोग करते हैं। आप जब भी घर से बाहर निकलते हैं तो आपकी त्वचा धूप के संपर्क में आती है, जिससे त्वचा पर हाइपरपिग्मेंटेशन, एलर्जी, टैन, फाइन लाइन्स जैसी समस्याएं हो जाती हैं। धूप के संपर्क में आने से आपकी त्वचा को कोई नुकसान न पहुंचे इसके लिए त्वचा रोग विशेषज्ञ घर से बाहर जाते समय त्वचा पर सनस्क्रीन लगाने की सलाह देते हैं,।लेकिन क्या आपने कभी डबल सनस्क्रीन के बारे में सुना है? इन दिनों डबल सनस्क्रीन काफी चर्चा का विषय बन गया है। मगर हम में से ज्यादातर लोग इससे अपरिचित हैं, वे यह नहीं जानते हैं कि डबल सनस्क्रीन क्या है (Double Sunscreen MeaningIn Hindi) और त्वचा के लिए कैसे फायदेमंद है। साथ ही क्या है रेगुलर सनस्क्रीन से ज्यादा फायदेमंद होता है? इस लेख में हम बोर्ड सर्टिफाइड डर्मेटोलॉजिस्ट डॉ. जयश्री शरद से डबल सनस्क्रीन (Double Sunscreen Benefits In Hindi) के बारे में विस्तार से बता रहे हैं।

क्या है डबल सनस्क्रीन (What Is Double Sunscreen Meaning In Hindi)

डॉ. जयश्री शरद डबल सनस्क्रीन त्वचा को सूरज की हानिकारक किरणों से त्वचा को प्रोटेक्ट करने का एक बेहतरीन तरीका है। लेकिन डबल सनस्क्रीन कोई नई चीज नहीं है। यह सिर्फ अपने चेहरे और गर्दन पर एक नियमित सनस्क्रीन लगाने के बाद उसके ऊपर टिंटेड मॉइस्चराइजर या टिंटेड सनस्क्रीन, या टिंटेड बीबी क्रीम अप्लाई करना है। जिससे त्वचा पर एक अतिरिक्त परत जुड़ जाती है। इस तरह से आपकी त्वचा को पराबैंगनी किरणों से नुकसान नहीं पहुंचने देता है। खासकर गर्मियों के मौसम में यह त्वचा संबंधी समस्याओं से छुटकारा दिलाने में भी मदद करता है।

इसे भी पढें: बढ़ती उम्र के लक्षणों को धीमा करने के लिए अपनाएं ये 10 आदतें, स्किन लंबे समय तक रहेगी यंग

 
 
 
View this post on Instagram

A post shared by Jaishree Sharad (@drjaishreesharad)

रेगुलर सनस्क्रीन से कैसे फायदेमंद है डबल सनस्क्रीन (How Double Sunscreen Better Than Regular Sunscreen In Hindi)

त्वचा पर सनस्क्रीन लगाने के बाद जब आप त्वचा पर टिंटेड मॉइस्चराइजर या टिंटेड सनस्क्रीन, या टिंटेड बीबी क्रीम लगाते हैं तो यह त्वचा को बेहतर सुरक्षा प्रदान करता है। टिंटेड उत्पादों में आयरन ऑक्साइड होता है जो त्वचा को इन्फ्रारेड किरणों, ब्लू लाइट के साथ-साथ सूरज के प्रकाश से भी बचाता है। चाहे आप बाहर हों या घर के अंदर यह त्वचा को सुरक्षित रखने का एक शानदार तरीका है। लेकिन रेगुलर सनस्क्रीन के साथ ऐसा नहीं होता है।

इसे भी पढें: ग्लोइंग स्किन के लिए नहाने के बाद इन 5 तेलों से करें शरीर की मालिश, मिलेगा फायदा

एक्सपर्ट क्या सलाह देते हैं

आपको त्वचा पर सनस्क्रीन जरूर लगाना चाहिए, चाहें फिर आप रेगुलर सनस्क्रीन क्यों न यूज करें। क्योंकि सूर्य की किरणों में यूवीए (UVA), यूवीबी (UVB), यूवीसी (UVC), विजिबल लाइट, ब्लू लाइट और इंफ्रारेड किरणें शामिल होती हैं। इनमें से लगभग 70% किरणें बादलों को भी पार करके आप तक पहुंच सकती हैं। तो इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप धूप में हैं या नहीं, आप अगर दिन में बाहर निकलते हैं, तो यूवीए (UVA), विजिबल लाइट (Visible light), ब्लू लाइट(Blue light) और इन्फ्रारेड किरणों (infrared rays) के संपर्क में आते हैं। ये सभी हाइपरपिग्मेंटेशन, एलर्जी, टैन, फाइन लाइन्स, सुस्त त्वचा, सुस्त बाल, उम्र बढ़ने के शुरुआती लक्षण पैदा कर सकते हैं। तो ऐसे में आपको बादल, बरसात, बर्फीले दिनों में भी अपने सनस्क्रीन लगाना चाहिए। तो यह सुनिश्चित करें कि आप रोजाना सनस्क्रीन जरूर लगाते हैं।

All Image Source: Freepik.com

Disclaimer