कोरोना से ठीक होने के बाद अगर दिखें ये लक्षण तो रहें सावधान, हो सकते हैं गंभीर बीमारी का संकेत

कोरोना से ठीक होने के बाद भी कई बीमारियों का खतरा बढ़ सकता है। इसलिए अगले कुछ समय तक अगर ये लक्षण दिखें तो इन्हें नजरअंदाज न करें।

Monika Agarwal
अन्य़ बीमारियांWritten by: Monika AgarwalPublished at: May 08, 2021Updated at: May 08, 2021
कोरोना से ठीक होने के बाद अगर दिखें ये लक्षण तो रहें सावधान, हो सकते हैं गंभीर बीमारी का संकेत

अगर आपको कोविड संक्रमण हैं तो आपको ठीक होने के बाद भी लंबे समय तक कुछ साइड इफेक्ट्स देखने को मिल सकते हैं। जिनमें से कुछ लक्षण तो बहुत गंभीर भी हो सकते हैं। अगर इससे बचने का कोई विश्वसनीय और प्रभावी तरीका है तो वह है टीकाकरण। आपको अपनी बारी आने पर जरूर टीकाकरण करवाना चाहिए, ताकि आपको कोविड हो ही न और अगर आपको कोविड हो भी जाता है तो वैक्सीन आपको गंभीर साइड इफेक्ट्स से बचा सकती है। दरअसल शोध से पता चला है कि जिन लोगों में संक्रमण के अधिक लक्षण देखने को मिलते हैं, उन्हें ठीक होने के बाद लिवर और किडनी जैसी बीमारियों का भी खतरा हो सकता है। इसके अलावा भी कुछ अन्य परेशानियां हो सकती हैं।

post covid complications

लंबे समय तक कोविड संक्रमण के साइड इफेक्ट्स

जो लोग कोविड संक्रमित हैं, उनको भविष्य में हृदय रोग, किडनी रोग, डायबिटीज आदि साइड इफेक्ट्स देखने को मिल सकते हैं। हालांकि अभी तक लंबे समय तक रहने वाली बीमारियों और कोविड के बीच का कोई सीधा सम्बन्ध पता नहीं चला है। लेकिन फिर भी एक्सपर्ट्स का कहना है कि ऐसा आपके शरीर में किसी भी तरह की सूजन(इंफ्लेमेशन) होने के कारण हो सकता है या ऐसा अगर आपको पहले से ही कोई स्थिति है तो उसकी वजह से भी हो सकता है। यही नहीं अगर आपको कोविड होने से पहले ही इनमें से कोई रोग है तो आपको कोविड के लक्षणों से रिकवर होने के लिए अस्पताल में भी भर्ती होना पड़ सकता है। हो सकता है यह आपके आने वाले साइड इफेक्ट्स का पहला लक्षण हो। कोविड 19 सबसे अधिक फेफड़ों को प्रभावित करता है लेकिन हृदय और शरीर के अन्य भागों पर इसके प्रभाव को नजरअंदाज करना उचित नहीं।

इसे भी पढ़ें: कोविड-19 से ठीक होने के बाद शरीर को रिकवर करने के लिए अपनाएं ये 5 डाइट टिप्स, रहें हेल्दी

कौन से लक्षण बताते हैं स्थिति की गंभीरता

हृदय रोग

  • छाती में असहज महसूस होना।
  • दर्द या प्रेशर जो आपकी बाजू की ओर बढ़ रहा हो।
  • बिना किसी कारण के पसीना आना।
  • अनियमित धड़कन होना।
  • थकावट जो बहुत आसानी से हो जाती है।

किडनी रोग

  • बार बार पेशाब करने जाना।
  • पेशाब में खून या झाग बनना।
  • सूजे हुए टखने और पैर।
  • ड्राई स्किन और स्किन पर खुजली होना।
  • भूख न लगना या वजन कम हो जाना।

डायबिटीज

  • बिना किसी कारण के बहुत ज्यादा प्यास लगना।
  • हाथ और पैरों का सुन्न पड़ जाना।
  • बहुत अधिक भूख लगना।
  • थकान महसूस होना।
  • बार बार पेशाब करना।
covid

कौन से साइड इफेक्ट ज्यादा प्रभावित करते हैं

हालांकि अभी पूरे दावे नहीं किये जा सकते कि किन लोगों में यह लंबे समय के साइड इफेक्ट्स देखने को मिल सकते हैं। पर उन लोगों में रिस्क की संभावना बढ़ जाती है जिन्हें पहले से ही इन बीमारियों के थोड़े बहुत लक्षण देखने को मिलते हैं। सबसे अच्छा यह रहेगा कि आप खुद का टीकाकरण करवा लें चाहे बेशक आपको कोविड ही क्यों न हो चुका हो।

इसका यह अर्थ बिल्कुल भी नहीं है कि सभी को इस प्रकार के लंबे समय तक साइड इफेक्ट्स देखने को मिल सकते हैं। बल्कि इसका मतलब यह है कि कोविड केवल आपके फेफड़ों को नहीं बल्कि लीवर, किडनी और हृदय को भी प्रभावित कर सकता है। इसलिए आपको सुरक्षित रहना चाहिए और सुरक्षित रहने का सबसे अच्छा तरीका है आपको सुरक्षा नियमों का पालन करने के साथ साथ वैक्सीन भी लगवा लेनी चाहिए। ताकि आपके शरीर के अंदर एंटीबॉडी बनें। एंटीबॉडी बनने से आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ेगी। जो आपको विभिन्न प्रकार की बीमारियों से बचा सकेगी।

Read More Articles on Other Diseases in Hindi

Disclaimer