Children's Health: बच्चों को उम्र से पहले बूढ़ा बनी रही ये 1 चीज, जानें कैसे बचाएं अपने बच्चों की जान

बोस्टन चिल्ड्रन हॉस्पिटल के बाल चिकित्सक डॉ. एरोन बर्नस्टीन का कहना है कि जलवायु परिवर्तन न केवल हमारे गृह के स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा रहा है बल्कि हमारे और विशेष रूप से बच्चों के  स्वास्थ्य को भी बिगाड़ने का काम कर रहा है।

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaPublished at: Sep 27, 2019
Children's Health: बच्चों को उम्र से पहले बूढ़ा बनी रही ये 1 चीज, जानें कैसे बचाएं अपने बच्चों की जान

जलवायु परिवर्तन न केवल हमारे गृह के स्वास्थ्य को नुकसान पहुंचा रहा है बल्कि हमारे और विशेष रूप से बच्चों के  स्वास्थ्य को भी बिगाड़ने का काम कर रहा है। बोस्टन चिल्ड्रन हॉस्पिटल के बाल चिकित्सक डॉ. एरोन बर्नस्टीन ने एक रेडियो कार्यक्रम के माध्यम से यह बताने की कोशिश की, कि कैसे जलवायु परिवर्तन हमारे स्वास्थ्य और किस आयु समूह के लोगों को सबसे ज्यादा प्रभावित करता है।

उन्होंने कहा, ''जिस तरह से जलवायु में परविर्तन हो रहा है वह हमारे बच्चों से वास्तविक रूप से जुड़ा हुआ है। हम जो आज उनके लिए कर सकते हैं वह उनके जीवन के लिए बहुत अधिक महत्व रखने जा रहा है।''

एरोन ने कहा, ''वे बच्चे, जो गरीब या कम आय वाले घरों से आते हैं उन्हें जलवायु परिवर्तन के नकरात्मक प्रभावों के निराशाजनक परिणामों का सामना करना पड़ सकता है।'' उन्होंने कहा कि प्रदूषण किसी भी देश के गरीब और कम आय वाले लोगों को अन्य लोगों की तुलना में निश्चित रूप से प्रभावित कर रहा है। उनका कहना है कि अगर हम जीवाश्म ईंधन, कोयला और तेल व गैस को जलाना कम कर देते हैं तो हम इन असमानताओं से पार पा सकते हैं।

इसे भी पढ़ेंः 500 एमजी के बजाए 650 एमजी पैरासिटामोल लेने और आराम करने से दूर होगा डेंगू, उत्तराखंड के CM का दावा

बच्चों के स्वास्थ्य को बचाने के लिए उठाए जाने वाले कदम 

  • हरित जगह की रचना करना। जिसका मतलब अपने आस-पास पेड़-पौधे लगाना।
  • प्रदूषण को कम करना।
  • लकड़ी जलाने से बचना।
  • पैट्रोल-डीजल का प्रयोग कम करना। 
  • प्लास्टिक के प्रयोग से बचना।

इन उपायों को अपनाकर आप जलवायु परिवर्तन के नकरात्मक प्रभावों को कम कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ेंः भूलकर भी न करें इस प्रोटीन का सेवन नहीं जुड़ पाएंगी शरीर की टूटी हड्डियां, जानें क्यों

उन्होंने कहा, ''हम अपने शहरों में ज्यादा से ज्यादा हरियाली ला कर ऐसा कर सकते हैं। हम सभी जानते हैं कि हम जलवायु परिवर्तन के खतरे को कम कर सकते हैं और इसके लिए हमें केवल अपने शहरों को हरा-भरा बनाना है।''

Read more articles on Health News in Hindi

Disclaimer