लिवर पर जमा फैट को हटा सकती है गोभी और ब्रोकोली जैसी सब्जियां, शोध में आया सामने

एक अध्ययन में सामने आया है कि नियमित रूप से इन 2 सब्जियों का सेवन फैटी लिवर से राहत दे सकता है। 

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaPublished at: Feb 08, 2020
लिवर पर जमा फैट को हटा सकती है गोभी और ब्रोकोली जैसी सब्जियां, शोध में आया सामने

गोभी और ब्रोकोली जैसी कुछ सब्जियों में पाए जाने वाले प्राकृतिक तत्व नॉन एल्कोहलिक फैटी लिवर डिजिज (एनएएफएलडी) जैसी एक सामान्य स्थिति के उपचार में प्रभावी पाए गए हैं। इसके अलावा ये उन लोगों की भी मदद कर सकती हैं, जो इस स्थिति से पहले ही जूझते आ रहे हैं। टेक्सास एएंडएम एग्रीलाइफ रिसर्च द्वारा किए गए एक अध्ययन के मुताबिक, ये तत्व इस स्थिति और कई लिवर से जुड़े रोगों की रोकथाम में मदद कर सकता है। 

liver

क्या है नॉन फैटी लिवर

नॉन एल्कोहलिक फैटी लिवर डिजिज एक ऐसी स्थिति है, जिसमें किसी भी व्यक्ति के लिवर पर जरूरत से ज्यादा फैट जमा हो जाता है। इस मामले में शराब कोई कारक नहीं होती है और ये स्थिति बहुत ज्यादा सैच्यूरेटेड फैट के सेवन, टाइप-2 डायबिटीज, गैस्ट्रिक बाईपास सर्जरी, हाई कोलेस्ट्रॉल लेवल और अन्य चीजों के कारण होती है।

इसे भी पढ़ेंः 19 साल की लड़की के मसूड़ों में उगे बालों को डॉक्टरों ने सर्जरी से निकाला, 60 साल में छठा मामला

पत्तेदार सब्जियां फायेदमंद

इस स्थिति के लिए कोई एक साधारण या फिर आम उपचार नहीं है। डॉक्टर इस स्थिति के उपचार के लिए बीमारी के कारण रहे मुख्य स्वास्थ्य समस्याओं का इलाज करने पर ध्यान केंद्रित करते हैं। डॉक्टर इस स्थिति के उपचार के लिए मरीज को अपनी डाइट बदलने के लिए कहते हैं। हाल ही में प्रकाशित हुए इस नए अध्ययन के मुताबिक, इस अध्ययन में पाया गया कि पत्तेदार सब्जियां इस तरह की स्थितियों के उपचार में सीधे इलाज का एक विकल्प साबित हो सकती हैं क्योंकि इनमें इंडोल नाम का गुणकारी तत्व पाया जाता है। आंत के कुछ बैक्टीरिया भी इस तत्व को उत्पादन करता है।

इसे भी पढ़ेंः रात की शिफ्ट में काम लोगों में बढ़ा रहा ह्रदय रोगों, स्ट्रोक और डायबिटीज का खतराः शोध

मोटे लोग स्थिति से ज्यादा प्रभावित

इस अध्ययन में 137 प्रतिभागी शामिल हुए थे। अध्ययन के शोधकर्ताओं ने पाया कि वे प्रतिभागी, जिनका बीएमआई अधिक था उनके रक्त स्तर में इंडोल की मात्रा काफी कम पाई गई, विशेषकर तब, जब पतले लोगों की तुलना में मोटे लोगों के ब्लड की जांच की गई। वे प्रतिभागी, जिनका इंडोल लेवल कम था उनके लिवर में फैट की मात्रा भी अधिक पाई गई। 

सब्जियों का सेवन जरूरी

शोध दल ने चीजों को आगे ले जाते हुए जानवरों में भी इंडोल की जांच की। उन्होंने कुछ चूहों को इंडोल दिया और पाया कि जिन चूहों को ये तत्व नहीं दिया गया उनके मुकाबले इंडोल लेने वाला चूहों के लिवर में सूजन भी काफी कम हुई और साथ ही फैट भी कम पाया गया। इसी तरह का समान प्रभाव उन व्यस्कों में भी पाया गया, जिन्हें इंडोल दिया गया। हालांकि इस पर और रिसर्च की जरूरत है। शोधकर्ताओं के मुताबिक, अध्ययन के निष्कर्ष संकेत देते हैं कि नियमित रूप से उन सब्जियों का सेवन, जिनमें इंडोल होता है वे आपके लिवर स्वास्थ्य को सुरक्षित रख सकती हैं।

Read more articles on Health News in Hindi

Disclaimer