जारी की गई है। 

"/>

फ्लू जैसे लक्षण के साथ देशभर में कोरोनावायरस के सैकड़ों संदिग्ध, स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी किए आंकड़े

सरकार ने कोरोनावायरस के संक्रमण के मद्देनजर यात्रा के दिशा-निर्देशों में संसोधन किया है। Coronavirus से बचाव के लिए गाइडलाइन जारी की गई है। 

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Feb 07, 2020Updated at: Feb 07, 2020
फ्लू जैसे लक्षण के साथ देशभर में कोरोनावायरस के सैकड़ों संदिग्ध, स्वास्थ्य मंत्रालय ने जारी किए आंकड़े

चीन में Coronavirus से लगातार लोगों की जानें जा रही हैं, हालांकि चीन सरकार तेजी से बचाव कार्य में भी जुटी है। चीन में Coronavirus से अब तक 500 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 28 हजार से ज्‍यादा इस जानलेवा वायरस से संक्रमित हैं। चीन समेत लगभग 23 देशों में कोरोनावायरस ने दस्‍तक दे दी है। कोरोनावायरस भारत समेत फ्लू के लक्षणों के साथ अलग-अलग देशों के नागरिकों में दिखाई दिया है।    

चीन में फैली कोरोनावायरस की दहशत के बीच भारत में भी अलग-अलग राज्‍यों में कोरोनावायरस के संदिग्‍धों को अस्‍पतालों में भर्ती किया गया है। कई कोरोनावायरस के लक्षणों के साथ निगरानी में हैं। केरल में तीन मरीजों कोरोना की पुष्टि भी हो चुकी है। केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय के अनुसार, देशभर में 5,123 लोगों को निगरानी में रखा गया है। 

कर्नाटक में 83 लोगों में कोरोनावायरस के लक्षणों के साथ उन्‍हें घर में ही आइसोलेशन ऑब्‍जरवेशन के तहत रखा गया है। कर्नाटक स्वास्थ्य और परिवार कल्याण सेवा विभाग बेंगलुरु, तुमकुर और मैसूर में रोगियों का निरीक्षण कर रहा है। अधिकारियों का दावा है कि, अब तक, राज्य से कोरोनावायरस के कोई भी पॉजिटिव मामले सामने नहीं आए हैं।

इसे भी पढ़ें: क्‍या कोरोना वायरस का इलाज संभव है?

एहतियात के तौर पर, सरकार केरल के साथ-साथ कोडागु, मंगलुरु, चामराजनगर, और मैसूर सहित कर्नाटक के जिलों में निगरानी की जा रही है। इसके अलावा, केम्पेगौड़ा अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे पर 20 जनवरी से 5 फरवरी तक 10,184 यात्रियों की कोरोनोवायरस के लिए थर्मल स्क्रीनिंग की है। 

पंजाब से कोरोनोवायरस लक्षणों के लगभग 22 संदिग्ध सामने आए हैं। अन्य स्थानों पर जहां लोगों को कोरोनावायरस के लक्षणों की जांच की जा रही है, वे हैं हैदराबाद, ओडिशा, दिल्ली और मानेसर। 

केरल में संदिग्‍ध मामले ज्‍यादा

केरल में सबसे अधिक संदिग्ध मामले देखे गए हैं। केरल के स्वास्थ्य मंत्री के अनुसार, कुल 2,421 लोगों को निगरानी में रखा गया है, जिसमें 100 लोगों को विशेष सुविधाओं में शामिल किया गया है। चीन से लौटे लोगों को 28 दिनों तक अपने घरों पर रहना होगा।

बुधवार को उत्तर प्रदेश के अस्पतालों में 3 कोरोनावायरस संदिग्धों को भर्ती किया गया था। बलरामपुर, आगरा और गोंडा जिलों के सरकारी अस्पतालों में संदिग्धों पर नजर रखी जा रही है। रिपोर्टों के अनुसार, तीनों व्यक्ति हाल ही में चीन से लौटे और फ्लू जैसे लक्षण दिखाए।

इसे भी पढ़ें: कोरोना वायरस से बचने के उपाय: स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने जारी किए दिशानिर्देश

एक आधिकारिक बयान में, यूपी संक्रामक रोगों के निदेशक, डॉ मिथलेश चतुर्वेदी ने कहा, "तीन रोगियों को निगरानी में रखा गया है, जबकि उनके परिवारों को फ्लू से बचाने के लिए जांच की गई है। उनके नमूनों में कोरोनावायरस की जांच के लिए NIV पुणे भेज दिया गया है।"

यात्रा के दिशा-निर्देशों में संसोधन

बुधवार को भारत सरकार ने कोरोनोवायरस पर कार्रवाई और तैयारियों की समीक्षा के लिए एक उच्च स्तरीय बैठक आयोजित की। मंत्रालय ने चीन जाने वाले लोगों के लिए यात्रा की गाइडलाइन को संसोधित किया है। जो इस प्रकार हैं: 

  • चीन से यात्रा करने वाले किसी भी विदेशी नागरिक के लिए मौजूदा वीजा (पहले से जारी ई वीजा सहित) अब मान्य नहीं हैं। 
  • यात्रा करने के इच्‍छुक यात्री बीजिंग दूतावास में या वाणिज्‍य दूतावास, शंघाई में और वाणिज्‍य दूतावास, ग्‍वांगझू में संपर्क कर सकते हैं। 
  • पूर्व में जारी दिशा-निर्देश द्वारा लोगों को पहले ही चीन की यात्रा न करने की सलाह दी गई है। चीन की यात्रा कर के लौटने वाले लोगों को एकांत में रखा जाएगा। 

Read More Health News In Hindi

Disclaimer