प्रजनन क्षमता खराब करती है शरीर में आयोडीन की कमी, जानें इसे पूरा करने का तरीका

खराब जीवनशैली के अलावा शरीर में पोषक तत्वों की वजह से भी कई तरह की समस्याएं होने लगती है। इनकी वजह से प्रजनन क्षमता भी प्रभावित होती है। 

 

Vikas Arya
Written by: Vikas AryaUpdated at: Jan 10, 2023 17:17 IST
प्रजनन क्षमता खराब करती है शरीर में आयोडीन की कमी, जानें इसे पूरा करने का तरीका

आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में लोगों को अपनी सेहत के प्रति ध्यान देना का समय ही नहीं मिल पाता है। यही वजह है कि हम कई तरह की समस्याओं का शिकार होने लगे हैं। दरअसल जीवनशैली में आए बदलाव व सही मात्रा में पौष्टिक आहार न लेने की वजह से शरीर में कई तरह की कमियां होने लगती है। जिसका संबंध कई रोगों से होता है। यदि शरीर में आयोडीन की कमी होने लगे तो इससे प्रजनन क्षमता प्रभावित होती है। आगे जानते हैं आयोडीन की कमी के कारण प्रजनन क्षमता किस तरह से प्रभावित होती है। 

आयोडिन की आवश्यकता 

आयोडीन एक आवश्यक पोषक तत्व है, जो प्रजनन क्रिया के लिए आवश्यक होता है। इसके अलावा थायराइड के संचालन में भी इसकी महत्व भूमिका होती है। आयोडीन की कमी से हाइपोथायरायडिज्म होने की संभावना बढ़ जाती है। इसके साथ ही प्रजनन क्षमता भी प्रभावति होती है। आयोडीन की कमी से शरीर में कई तरह के विकार उत्पन्न होने लगते हैं। 

इसे भी पढ़ें : किस विटामिन की कमी से शरीर में जलन होती है? जानें इसे पूरा करने के उपाय 

iodine deficiency

आयोडिन की कमी से प्रभावित होती है प्रजनन क्षमता 

एक व्यस्क व्यक्ति को एक दिन में करीब 150 एमसीजी आयोडीन की आवश्यकता होती है। डब्लूएचओ के अनुसार प्रेगनेंसी व स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए आयोडीन एक महत्पवपूर्ण पोषक तत्व होता है। हालांकि आयोडीन की कमी की वजह से प्रजनन क्षमता में भी कमी आने की संभावना बढ़ जाती है।  

जो महिलाएं प्रेगनेंसी का प्रयास कर रहीं हैं, यदि उनके शरीर में आयोडीन की कमी हो तो उनके कंसीव करने की संभावना लगभग आधी हो जाती है। जबकि जिन महिलाओं को आयोडीन की कमी की वजह से हाइपोथायरोडिज्म होता है उनको ओव्यूलेशन संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। जिससे महिलाओं की प्रजनन क्षमता प्रभावित होती है।     

हाइपोथायरायडिज्म महिलाओं में बांझपन और गर्भपात के सबसे आम कारणों में से एक है, जो उनकी प्रजनन क्षमता को लिए हानिकारक होता है।  

इसे भी पढ़ें : किस विटामिन की कमी से घबराहट होती है? जानें इनके सोर्स 

आयोडीन की कमी को कैसे दूर करें  

अपनी डाइट व आदतों में बदलाव कर आप आयोडीन की कमी को पूरा कर सकते हैं।  

  • नियमित रूप से दूध पिएं : दूध में कैल्शियम और विटामिन डी पाया जाता है। इसके साथ ही एक कप दूध से करीब 50 से 55 माइक्रोग्राम आयोडीन प्राप्त होता है।   
  • दही : दही में करीब 75 से 80 माइक्रोग्राम आयोडीन की कमी को पूरा किया जा सकता है। इसके साथ ही दही से पाचन क्रिया भी बेहतर होती है।  
  • भूने आलू : भूने आलू में पोटेशियम, आयोडीन और विटामिन पाया जाता है।  
  • मुनक्का - मुनक्के खाने से 34 से 40 माइक्रोग्राम आयोडीन की कमी को पूरा किया जा सकता है। मुनक्के के नियमित सेवन से फाइबर, विटामिन ए और अन्य पोषक तत्वों की पूर्ति होती है।  
  • शराब पीने की आदत जल्द छोड़ दें। 

 

Disclaimer