भाप की मदद से खत्म किया जा सकता है कोरोना वायरस? जानें क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स

विश्वभर में फैले कोरोना वायरस को खत्म करने के लिए अब भाप यानी स्टीमर का विकल्प भी सामने आया है, जानें इसपर क्या है एक्सपर्ट्स की राय।

Vishal Singh
विविधWritten by: Vishal SinghPublished at: Jul 31, 2020Updated at: Jul 31, 2020
भाप की मदद से खत्म किया जा सकता है कोरोना वायरस? जानें क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स

दुनियाभर में कोरोना वायरस महामारी फैलने के बाद से ही लोग वायरस और बैक्टीरिया को लेकर काफी जागरूक हो गए हैं और इन्हें खत्म करने के लिए तरह -तरह के तरीके अपना रहे हैं। इस महामारी के दौरान वायरस से बचने या वायरस को मारने के लिए सैनिटाइजर और साबुन का इस्तेमाल कर रहे हैं।  लेकिन अब इस बीच सवाल है कि क्या स्टीमर इस वायरस को खत्म करने में कारगर है या नहीं।

स्टीमर बनाने वाली कुछ कंपनियों का दावा है कि असबाब जैसी नरम सतहों पर स्टीमर के साथ धमाका 99.9 प्रतिशत वायरस को मार सकता है। कंपनियां यह कहने से पीछे नहीं हटतीं कि स्टीमर कठोर सतहों पर काम कर सकते हैं या कोविड जैसे वायरस को मार सकते हैं। एक स्टीमर का इस्तेमाल करना एक महान सफाई समाधान की तरह लगता है। लेकिन सवाल ये है कि क्या यह स्टीमर वास्तव में वायरस को मार सकते हैं?

steamer

कोरोना वायरस के खिलाफ कितना प्रभावी है स्टीमर

क्या स्टीमर वायरस को मार सकते हैं या नहीं। दरअसल, कुछ परिस्थितियों में इसका जवाब हां में होगा तो कुछ का न में होगा। विलियम स्कैफनर, एक संक्रामक रोग विशेषज्ञ और वेंडरबिल्ट यूनिवर्सिटी स्कूल ऑफ मेडिसिन में प्रोफेसर ( William Schaffner, M.D. an infectious disease specialist and professor at the Vanderbilt University School of Medicine) कहते हैं कि हम आटोक्लेव में वायरस को मारने के लिए भाप का इस्तेमाल करते हैं। हालांकि, उस स्टीम यानी भाप का इस्तेमाल एक नियंत्रित सेटिंग में किया जाता है।

इसके अलावा अभी यह स्पष्ट नहीं है कि भाप कोविड-19 या किसी दूसरे वायरस के खिलाफ कितना प्रभावी होगा। विलियम आगे कहते हैं कि "मुझे यकीन नहीं है कि जब आप एक काउंटरटॉप, सोफे, या लकड़ी के फर्श को भाप देते हैं तो आप जिस समय-तापमान संबंधों का इस्तेमाल करेंगे, वह वायरस को मार देगा। इस पर अभी तक कोई शोध न हुआ है न ही चल रहा है लेकिन हां ये वायरस को मार सकता है। 

steamer

इसे भी पढ़ें: कोरोना वायरस को लेकर इबुप्रोफेन दवा का परीक्षण शुरू, 80 प्रतिशत तक बढ़ा सकता है सर्वाइवल दर

सफाई को लेकर क्या कहता है CDC

रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र ( Centers for Disease Control and Prevention)का सुझाव है कि कालीन, गलीचा, और अंगूर जैसी नरम सतहों को मूल साबुन और गर्म पानी से साफ किया जाना चाहिए।  टेबल, डॉकऑर्बन, लाइट स्विच, काउंटरटॉप्स, हैंडल, डेस्क, फोन, कीबोर्ड, शौचालय, नल, और सिंक जैसी अन्य अक्सर छुई गई सतहों के लिए, यह सुझाव दिया जाता है कि आप कम से कम 70 के साथ एक अल्कोहल युक्त घोल का इस्तेमाल करके इन कीटाणुरहित करें। इससे आप वायरस को जल्द खत्म कर उसे साफ कर सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें: कोरोना वायरस की वैक्सीन को लेकर तैयारी में जुटा रूस, 12 अगस्त तक आ सकती है वैक्सीन

अगर आप अपने घर साफ-सफाई करने के लिए स्टीमर का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो कॉर्नेल विश्वविद्यालय में आणविक चिकित्सा के सहायक प्रोफेसर, रुथ कॉलिन्स, पीएचडी बताते हैं कि कोरोनावायरस से बचाव के लिए आप साबुन के साथ अपने बार-बार हाथ धोएं, गर्म पानी पिएं और कीटाणुओं को मारने के लिए भाप का एक अच्छा विस्फोट के साथ पालन करें। कॉलिन्स बताते हैं कि साबुन को कोविड-19 जैसे वायरस की बाहरी परत को भंग करने और वायरस को मारने के लिए जाना जाता है। इसके साथ ही वह कहती है कि इन वायरस को मारना चाहिए, लेकिन फिर से यह मूर्खतापूर्ण नहीं है और इसे सीडीसी द्वारा अनुमोदित सफाई समाधान की जगह नहीं लेनी चाहिए।

आपको बता दें कि भाप की मदद से कोरोना वायरस को मारा जा सकता है या नहीं इसकी अभी शोध के द्वारा पु्ष्टि नहीं हुई है, लेकिन कई एक्सपर्ट्स का कहना है कि ये कोरोना वायरस को खत्म करने के लिए मददगार हो सकता है। 

 

Read More Article On Miscellaneous In Hindi

 

Disclaimer