मानसिक समस्याओं को दूर करता है ब्राह्मी (गोटू कोला), एक्सपर्ट से जानें इसके इस्तेमाल के फायदे और नुकसान

गोटू कोला के बारे में शायद ही आपने सुना हो। यह एक आयुर्वेदिक औषधी है, जो गंभीर से गंभीर बीमारियों में फायदेमंद है। 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Feb 23, 2021
मानसिक समस्याओं को दूर करता है ब्राह्मी (गोटू कोला), एक्सपर्ट से जानें इसके इस्तेमाल के फायदे और नुकसान

आयुर्वेद में कई ऐसी औषधियां उपलब्ध होती हैं, जिससे गंभीर से गंभीर बीमारियों का इलाज संभव है। इन्हीं औषधियों में से एक है गोटू कोला। गोटू कोला एक प्राचीन आयुर्वेदिक औषधी है, जिसके सेवन से गंभीर से गंभीर बीमारी का इलाज किया जा सकता है। इसका वानस्पतिक नाम सेंटेला असिएटिका (Centella Asiatica) है। लेकिन ज्यादातर लोग इसे  गोटू कोला के नाम से ही जानते हैं। गोटू कोला के सेवन सेहत को कई फायदे होते हैं। गाजियाबाद स्वर्ण जयंती के आयुर्वेदाचार्य डॉक्टर राहुल चतुर्वेदी का कहना है कि गोटू कोला का इस्तेमाल प्राचीन समय में काफी ज्यादा किया जाता था, लेकिन धीरे-धीरे इसका इस्तेमाल कम होता जा रहा है। इसके सेवन से अल्जाइमर, अनिद्रा जैसी कई गंभीर बीमारियों को दूर किया जा सकता है। इसके अलावा इससे सेहत को कई अन्य फायदे होते हैं। आइए जानते हैं इस बारे में विस्तार से-

1. स्ट्रेस करे कम

डॉक्टर राहुल चतुर्वेदी बताते हैं कि गोटू कोला का इस्तेमाल मानसिक समस्याओं को दूर करने के लिए किया जाता है। इसके सेवन से डिप्रेशन और अवसाद जैसी परेशानी को दूर कर सकते हैं। आधुनिक समय में लोगों में काफी ज्यादा स्ट्रेस बढ़ रहा है। ऐसे में गोटू कोला का सेवन काफी लाभकारी हो सकता है। डिप्रेशन से जूझ रहे लोगों के लिए गोटू कोला फायदेमंद है, इसमें एंटी-डिस्‍पेंटेंट गुण पाए जाते हैं, जो अवसाद को कम करने में असरकारी हैं। इसके सेवन से आप क्रोध, निराशा, चिढ़चिढ़ापन, बेचैनी इत्यादि परेशानी को दूर कर सकते हैं।

2. अनिद्रा करे दूर

अगर आप अनिद्रा की परेशानी से जूझ रहे हैं, तो आपके लिए गोटू कोला असरकारी साबित हो सकता है। इसके सेवन से आप मन और दिमाग को शांत कर सकते हैं। मन और दिमाग शांत रहने से आपको नींद काफी अच्छी आती है। डॉक्टर राहुल चतुर्वेदी बताते हैं कि अनिद्रा की शिकायत होने पर लोगों को नियमित रूप से 3 ग्राम गोटू कोला पाउडर का सेवन करने की सलाह दी जाती है। सप्ताह में गर्म दूध के साथ लगातार इसका सेवन करने से अनिद्रा की परेशानी दूर रहेगी।

3. कैंसर का करे इलाज

डॉक्टर राहुल चतुर्वेदी बताते हैं कि गोटू कोला के सेवन से कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी का भी इलाज किया जा सकता है। इसमें मौजूद औषधीय गुण कैंसर के प्रभाव को कम करने में असरकारी होते हैं। दरअसल, गोटू कोला एंटीप्रोलिफेरेटिव (antiproliferative) का स्वरूप माना जाता है। यह हमारे शरीर में मौजूद ट्यूमर कोशिकाओं को नष्‍ट करने और उसके विकास को धीमा करने में मददगार साबित हो सकता है। कई रिसर्च में यह साबित हो चुका है कि  गोटू कोला का सेवन करने से कैंसर की कोशिकाओं का विकास कम किया जा सकता है।

इसे भी पढ़ें - आयुर्वेद में पिप्पली जड़ी बूटी है बेहद प्रभावशाली, आयुर्वेदाचार्य से जानें इसके 10 फायदे और नुकसान

4. अल्जाइमर रोगियों के लिए लाभकारी

अल्जाइमर एक मानसिक बीमारी है, जो अधिकतर बुजुर्गों में देखी गई है। गोटू कोला के सेवन से अल्जाइमर और डिमेंशिया जैसी बड़ी मानसिक बीमारी को कंट्रोल कर सकते हैं। दरअसल, इसमें न्‍यूरोप्रोटेक्टिव गुण पाया जाता है, जो बुजुर्गों में अल्‍जाइमर के प्रभाव को कम करने में मददगार होता है। अल्जाइमर से जूझ रहे लोगों को डॉक्टर की सलाहनुसार गोटूकोला का सेवन करना चाहिए, यह उनके लिए काफी असरकारी साबित हो सकता है।

5. बालों के लिए लाभकारी

गोटू कोला एक आयुर्वेदिक औषधी है, जो बालों पोषक तत्व प्रदान करता है। इसके सेवन से आप झड़ते बालों की परेशानी से छुटकारा पा सकते हैं। कई रिसर्च में इस बात को साबित किया जा चुका है कि गोटू कोला का इस्तेमाल करने से बालों की लंबाई तेजी से बढ़ती है। इसके साथ ही यह आपकी स्किन के लिए भी काफी लाभकारी होता है।

इसे भी पढ़ें - सर्दी-खांसी ही नहीं इन 11 बीमारियों को दूर करे कचनार, एक्सपर्ट से जानिए इस्तेमाल करने का तरीका और इसके नुकसान

6. घाव की समस्या से राहत

आयुर्वेदाचार्य डॉक्टर राहुल चतुर्वेदी बताते हैं कि गोटू कोला घाव के प्रभाव को कम करता है। इसमें एशियाटैसाइड (Asiaticasoide) मौजूद होता है, जो घावों का सही उपचार करता है। इसके साथ ही गोटू कोला में ग्‍लूटाथियोन, कैटलस, विटामिन ई और विटामिन सी की प्रचुरता होती है। जो हमारे शरीर में कोलेजन को बढ़ाता है। कोलेजन की वृद्धि से घाव का उचित उपचार होता है। इसके इस्तेमाल से आप घाव में होने वाले जलन और दर्द से राहत पा सकते हैं।

7. सूजन को करे कम

शरीर में होने वाले पुराने से पुराने दर्द और सूजन को दूर करने में गोटू कोला काफी फायदेमंद होता है। दरअसल, गोटू कोला में एशियाटिक एसिड और मेडेकैसिक एसिड (Asiatic acid and madecassic acid) की प्रचुरता होती है, जो शरीर में बैक्‍टीरिया को फैलने नहीं देता है। साथ ही इससे शरीर में फैलने वाले संक्रमण को रोका जा सकता है। गोटू कोला के सेवन से आप कोशिकाओं में मौजूद वायरस आईएल-1बीटा, टीएनएफ-अल्‍फा और आईएल-6 को रोक सकते हैं।

गोटू कोला के अन्य लाभ (other Benefits of Gotu Kola)

  • इम्यूनिटी करे बूस्ट
  • उच्‍च रक्‍तचाप से छुटकारा दिलाने में है सहायक
  • गठिया की परेशानी में लाभकारी 
  • रक्‍त रोग से दिलाए मुक्ति
  • संक्रामक दिल की विफलता
  • मूत्र मार्ग में होने वाली परेशानी से राहत

गोटू कोला के नुकसान (Side Effects of Gotu Kola)

डॉक्टर बताते हैं कि गोटू कोला के सेवन से आपको कई फायदे हो सकते हैं। अधिकतर लोगों के लिए यह लाभकारी होता है। लेकिन कुछ संवेदनशील लोगों के लिए इसके नुकसान भी हो सकते हैं। गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को गोटू कोला के सेवन से पहले डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। इसके अधिक सेवन से आपको निम्न नुकसान भी हो सकते हैं-

  • सिरदर्द
  • नींद की कमी
  • चक्‍कर आना
  • त्‍वचा में जलन या चकते आना 
  • उल्‍टी आना आदि।

गोटू कोला के सेवन से पहले एक बार डॉक्टर से संपर्क जरूर करें। किसी भी दवाई या फिर आयुर्वेदिक औषधी का सेवन बिना एक्सपर्ट की सलाह के ना करें। इससे आपके सेहत को फायदे की जगह नुकसान भी हो सकते हैं। इसलिए खुद से इलाज करने से बेहतर है किसी एक्सपर्ट से सलाह लेना।

Read More Articles on Ayurveda in Hindi  

Disclaimer