दांत दर्द हो या मसूड़ों में सूजन की समस्या, आपके बड़े काम आएंगे ये 7 आसान घरेलू उपचार

मसूड़ों का फूलना या दांतों में दर्द होना, दोनों ही असहनीय परेशानियां हैं। इनसे फौरी तौर पर घरेलू उपचार से  ही राहत पाई जा सकती है।

Meena Prajapati
Written by: Meena PrajapatiPublished at: Feb 12, 2021Updated at: Feb 12, 2021
दांत दर्द हो या मसूड़ों में सूजन की समस्या, आपके बड़े काम आएंगे ये 7 आसान घरेलू उपचार

स्वस्थ मुंह की पहचान स्वस्थ मसूड़े और दांत होते हैं। अगर दांत और मसूड़े स्वस्थ होते हैं तो चेहरे की मुस्कान और खूबसूरती बनी रहती है। किसी भी दांत में सड़न या दांत के उखड़ जाने से चेहरे की खूबसूरती बिगड़ जाती है। तो वहीं, आजकल के बिगड़ते लाइफस्टाइल के कारण खानपान बदला है, जिस वजह से मसूड़ों में सूजन (swelling in gums) और दांतों की समस्याएं बढ़ गई हैं। दिल्ली में आयुर्वेद संजीवनी क्लीनिक के वरिष्ठ आयुर्वेदाचार्य एम मुफीक का कहना है कि दरअसल दांतों की समस्या दांतों की नहीं होती बल्कि मसूड़ों की समस्या होती है। मसूड़ों का ठीक से ख्याल न रखने से मसूड़ों से संबधी परेशानियां शुरू होती हैं। उन्होंने बताया कि आजकल मसूड़े फूलने और दांतों में दर्द (Toothache) एक आम समस्या हो गई है, लेकिन लोग इसे नजरअंदाज ज्यादा करते हैं। एम मुफीक के मुताबिक मसूड़े फूलने की समस्या को जिंजिवाइटिस (Gingivitis) कहते हैं। यह परेशानी ओरल हाइजीन (Oral hygiene) न रखने की वजह से होती है। तो वहीं दांतों में दर्द भी इसी वजह से होता है। आइए आयुर्वेदाचार्य एम मुफीक से जानते हैं मसूड़े फूलने और दांत में दर्द के कारण और घरेलू उपचार।

inside1_gumandteeth

मसूड़े फूलने और दांत में दर्द के कारण

1.तेजी से ब्रश करना

बहुत बार लोग अपने दांत चमकाने के लिए बहुत देर तक और बहुत रगड़कर दांत मांचते हैं। जिसका परिणाम यह होता है कि उनके दांतों की चमक चली जाती है। दांतों का इनेमल घिस जाता है और दांतों में दर्द होने लगता है। तेजी से ब्रश करने से मसूड़े भी छिल जाते हैं जिससे मसूड़े फूलने लगते हैं।

2.ओरल हाइजीन न रखना

ओरल हाइजीन का मतलब है कि दिन में दो बार ब्रश करें। अगर ब्रश नहीं कर पा रहे हैं तो कुल्ला कर लें। लेकिन यह देखा गया है कि लोग सुबह तो ब्रश कर लेते  हैं पर रात को खाना खाने के बाद कुल्ला या ब्रश कुछ भी नहीं करते। यही वजह है कि दांतों और की मसूड़ों की समस्या बढ़ती है।

इसे भी पढें : घरेलू उपाय जो दांत दर्द भगाएं

 3.विटामिन सी की कमी

मसूड़ों के लिए विटामिन सी बहुत फायदेमंद होता है। जब खाने में इसकी कमी होती है तब मसूड़ों का स्वास्थ्य बिगड़ने लगता है। तो वहीं मसूड़ों में ब्लड सर्कुलेशन ठीक न होने की वजह से भी मसूड़ों में सूजन होती है।

 4.नकली दांत लगाना

कई बार जब असली दांत टूट जाते हैं तब नकली दांत लगवाने की जरूरत होती है। जब वह दांत मसूड़ों में ठीक से बैठ नहीं पाते तब मसूड़े फूलने लगते हैं और उनमें दर्द शुरू हो जाता है।

 5.मसूड़ों में खाना फंसना

आयुर्वेदाचार्य एम मुफीक के मुताबिक, रात का खाना या दोपहर का खाना खाने के बाद हम ब्रश या कुल्ला नहीं करते हैं जिससे धीरे-धीरे खाने के अंश मसूड़ों और दांतों में फंसने लगते हैं, जिससे बाद में मसूड़े फूलने लगते हैं और फिर दांतों में दर्द होता है।

 6.अधिक मीठा खाना 

बड़े हों या छोटे सभी को खाने के बाद मीठा खाने की आदत होती है, लेकिन यह अच्छी आदत नहीं है। अक्सर बच्चे चॉकलेट खाते हैं तो उनके दांतों में कैविटी हो जाती है। मीठा दांतों को और मसूड़ों को बहुत नुकसान पहुंचाता है।

 7.बैक्टीरियल इन्फेक्शन 

आयुर्वेदाचार्य के मुताबिक किसी बैक्टीरियल इन्फेक्शन की वजह से भी मसूड़ों में दिक्कत होती है। बहुत बार मसूड़ों में पायरिया की दिक्कत हो जाती है, उससे भी मसूड़े फूलते हैं।

 मसूड़ों की सूजन और दांत दर्द का घरेलू उपचार

आयुर्वेदाचार्य एम मुफीक ने मसूड़ों में सूजन और दांत दर्द के घरेलू उपचार पर कहा कि घरेलू उपचार तब किए जाते हैं जब पास में कोई इमरजेंसी मदद न हो। अगर दांत दर्द से बेचैन हों या मसूड़ों के दर्द से तो डॉक्टर के पास जाने में समय लगता है, इसलिए फौरी तौर पर घरेलू उपाय अपनाए जा सकते हैं। तो वहीं, आयुर्वेद के अनुसार बहुत से घरेलू उपाय कारगर भी साबित हुए हैं। मसूड़ों में सूजन और दांत में दर्द होने पर आप इन घरेलू उपायों को अपना सकते हैं।

 इसे भी पढ़ें : मसूड़ों को स्‍वस्‍थ रखने के उपाय

inside1_jamunagain

 1.जामुन के पत्तों का रस

डॉ मुफीक के मुताबिक, जामुन के पत्तों का रस दांत दर्द और मसूड़ों की सूजन दोनों में मददगार होता है। आप चाहें तो जामुन के पत्तों की राख बना सकते हैं और उसे मसूड़ों पर मलें, इससे दांत और मसूड़े मजबूत होते हैं। 

 2.फिटकरी का कुल्ला

सुबह-शाम गुनगुने पानी में फिटकरी डालकर कुल्ला करने पर केवल दांत या मसूड़ों की ही नहीं बल्कि मुंह की कई समस्याएं दूर होती हैं। जैसे मुंह से दुर्गंध आना या मुंह न खुलना आदि। फिटकरी का कुल्ला सुबह शाम करने पर मुंह की कई समस्याएं दूर होती हैं। 

3.लौंग का तेल

अगर आपके दांत में बहुत तेज दर्द हो रहा है तो लौंग का तेल या साबुत लौंग को जिस दांत में दर्द हो रहा है वहां रख लें। इससे आपको फौरी तौर पर राहत मिल जाएगी। अगर समस्या आगे भी बढ़ रही है तो निकटतम डेंटिस्ट को दिखाएं। लौंग में एनर्जिक प्रोपर्टीज होती हैं जिससे दर्द दूर हो जाता है।

 4.सिकाई करें

दर्द वाली जगह पर सिकाई की जा सकती है। मसूड़ों में सूजन या दांत में दर्द होने पर चेहरे के बाहरी हिस्से पर भी दर्द होने लगता है। कई बार सिर व आंखों में भी दर्द होता है। अगर ऐसा आपको हो रहा है तो दर्द वाली जगह की मुलायम कपड़े से सिकाई कर लें। 

 5.मसूड़ों की मालिश

मसूड़ों में सूजन पायरिया या किसी इन्फेक्शन की वजह से हो सकती है। लेकिन अगर मसूड़ों में सूजन की वजह से मुंह में दर्द और खाना खाने में दिक्कत हो रही है तो सुबह और शाम सरसों के थोड़े से तेल में चुटकी भर नमक मिलाकर मसूड़ों की मालिश करें। और गुनगुने पानी से कुल्ला करें। इससे मसूड़ों की सूजन तो कम होगी ही साथ ही पायरिया की दिक्कत भी दूर होगी। 

inside2_gumproblem

 6.ब्रश करना छोड़ दें

मसूड़ों में सूजन होने पर ब्रश करना छोड़े दें। अगर ब्रश करेंगे तो मसूड़े और छिलेंगे जिससे परेशानी और बढ़ेगी। उसके उलट आप मसूडो़ं की ऊंगली से मालिश कर सकते हैं। 

 7.दातून का इस्तेमाल

नीम, बबूल या करंज की दातून का इस्तेमाल करें। इनमें ऐसे गुण होते हैं जो सूजन और दर्द को दूर भगाते हैं। 

 दांतों में दर्द और मसूड़ों में सूजन होने पर उन्हें नजरअंदाज न करें। इन पेरशानियों को घर पर ही ठीक किया जा सकता है। अगर शुरूआती लक्षण दिखाई देने पर ही इलाज शुरू किया जाता है तो परेशानी ज्यादा आगे नहीं बढ़ती। आयुर्वेदाचार्य का कहना है कि घरेलू उपाय केवल फौरी तौर के लिए होते हैं। अगर आपको इन उपायों से फौरी तौर पर राहत मिल गई है तो आगे की जांच के लिए डेंटिस्ट को दिखाएं। 

 Read More Articles on Ayurveda in Hindi  

Disclaimer