कुछ लोगों को मीठा खाने पर क्यों होता है दांत में दर्द?

कुछ भी मीठा खाने से आपके दांतों में किसी भी तरह की परेशानी कारण कहीं उचित देखभाल ना करना या लापरवाही बरतना तो नहीं? जानिए कैसे।

Monika Agarwal
अन्य़ बीमारियांWritten by: Monika AgarwalPublished at: Jan 26, 2021
कुछ लोगों को मीठा खाने पर क्यों होता है दांत में दर्द?

यदि किसी भी प्रकार के मीठे के सेवन से या मीठे पेय पदार्थ पीने से आपके दांतों में दर्द या झनझनाहट महसूस होती है तो आप परेशान ना हो, आप अकेले नहीं। ऐसा बहुत से लोगों के साथ होता है और ये कोई लाइलाज समस्या भी नहीं। इसका इलाज संभव है। 

दरअसल दाँतों में संवेदनशीलता (Tooth Sensitivity) का मतलब है कि दांतों की जड़ या डेंटिन का अतिसंवेदनशील हो जाना। संवेदनशील दांत मसूड़ों या पीरिओडोंटल बीमारी की वजह से होते हैं। जब दातों का इनेमल teeth enamel हट जाता है तो यह काफी संवेदनशील हो जाते हैं। इसकी वजह से मीठा, ठंडा, गरम या खट्टा हर खाद्य, दांतों में दर्द या झनझनाहट पैदा करता है।

मीठे से क्यों दांत होते हैं प्रभावित (Why Sugar Affects Teeth)

खाने के बाद मीठा खाना अधिकांश लोगों को पसंद होता है लेकिन यही मीठा सिर्फ दातों को ही नहीं आपके पूरे शरीर को प्रभावित करता है। मीठे के कण दांतों की बाहरी परत को नुकसान पहुंचाते हैं। इससे सेंसटिविटी (Tooth Sensitivity) की समस्या और भी बढ़ जाती है। 

असल में मीठा फर्मेंटिड कार्बोहाइड्रेट (Carbs) से युक्त होता है। ये कार्बोहाइड्रेट बैक्टीरिया के साथ मिलकर एसिड उत्पन्न करते हैं। जो एक बड़ी वजह है दांतों के इनेमल के क्षतिग्रस्त (Tooth Decay) होने की। डॉक्टर गुनीता सिंह, डायरेक्टर डेंटम, के अनुसार भोजन में चीनी की मात्रा जितनी अधिक होगी, एसिड का उत्पादन उतना ही अधिक होगा। मगर दांतों की सड़न और संवेदनशीलता को एसिड में कमी से कम किया जा सकता है। अन्य निम्न टिप्स भी दांतों की सेंसटिविटी (Teeth Sensitivity) को कम कर सकते हैं। जानें विस्तार से...

दांतों से इनेमल क्षतिग्रस्त होने से बचायें (Stop Enamel From Getting Hurt)

दांतो के बीच में चिपकी हुई शुगर को हटाना इतना आसान नहीं अगर आप कुछ भी मीठा खाने के बाद फौरन कुल्ला या ब्रश करते हैं तो आपके दांतों से मीठे की कुछ पार्टिकल sweet particlesचिपके रह जाएंगे। जो दांतों की बाहरी परत को नुकसान पहुंचा सकते हैं। इसलिए उचित रहेगा यदि आप मीठा खाने के आधे घंटे बाद दांतों को साफ करें। इस तरह से दांत क्षतिग्रस्त tooth decay होने से बचेंगे।

इसे भी पढ़ें- ऑक्सीटोसिन हार्मोन क्या है और ये शरीर में कैसे बनता है? एक्सपर्ट से जानें इसका उपयोग

दांत की संवेदनशीलता को कैसे करें कम (How To Reduce Sensitivity)

यदि आपको लगता है कि आपके दांत शुगर के प्रति अधिक संवेदनशील हैं, तो आप ओरल हाइजीन (Oral Hygiene) अपनायें। इसके लिए संवेदनशील  दांतों वाला टूथपेस्ट प्रयोग करें, ताकि आपके दांतों में किसी प्रकार का दर्द या झनझनाहट  (Toothache) ना हो। हर मील के बाद after meal अपने दांतों को फ्लॉस व ब्रश करें।

यदि शुगर आपके दांतों पर कुछ ज्यादा ही असर करती है, तो उनकी जगह हेल्दी विकल्प चुनें। चॉकलेट, कुकीज़ और ब्राउनी व कैंडी की जगह फ्रेश फ्रूट व शुगरी स्पोर्ट्स ड्रिंक, सोडा ड्रिंक और फ्रूट जूस की जगह पानी और शुगर-फ्री पेय लें (Sugary Drinks)।

अगर फिर भी आपकी समस्या कम नहीं हो रही और आपके दांतों में बराबर झनझनाहट या दर्द बना हुआ है (Teeth Sensitivity) तो बेहतर रहेगा कि आप, किसी अच्छे दांतों के विशेषज्ञ से सलाह लें और समय रहते दांतों की सेंसटिविटी की समस्या से छुटकारा पाएं।

अन्य कारण और उपाय other reasons and treatment 

    • आप जब भी ब्रश करें तो वो बेहद नरम और मुलायम हो इस बात का ख्याल रखें। हालांकि आजकल मैनुअल या इलेक्ट्रिक टूथब्रश (Manual or Electric Brush) का इस्तेमाल कर सकते हैं।
    • अगर आपके दांत किसी भी वजह से क्षतिग्रस्त हो चुके हैं, तो इससे भी उनमें सेंसटिविटी बढ़ जाती है (Sensitivity Increases) 
    • अगर आप बहुत ज्यादा अनहेल्दी खाना eating (unhealthy food) खा रहे हैं, तो आपके मुंह का स्वास्थ्य खराब होने के चांसेस बढ़ जाते हैं। 
    • विटामिन की कमी दांतों (Vitamis deficiency) को कमजोर कर देती है। अगर आप दांतों को हेल्थी रखना चाहते हैं तो हेल्दी खाएं।
    • खट्टी चीजों से करें पहरेज। ये हमारे दांतों के लिए काफी नुकसानदायक हो सकते हैं। 
    •  दांतों के सेंसटिविटी होने का इलाज करने के लिए आपके पास कई तरह के विकल्प हैं। इसके उपचार में सेंसटिविटी कितनी है, इस पर भी निर्भर करता है। 
    • आप रात के समय माउथगार्ड (use of mouth guard at night) का इस्तेमाल करें, इससे आपके दांतों को नुकसान नहीं पहुंचता।

 

शोध के मुताबिक अगर एक बार दांतो में सेंसटिविटी की दिक्कत हो जाए तो इससे जल्द छुटकारा पाना मुश्किल हो जाता है। लेकिन इसके दर्द को कंट्रोल करना हमारे हाथ में हैं। हम इसे बढ़ने से भी रोक सकते हैं। इसके लिए हमें सही कदम उठाना होगा। दांतों के प्रति लापरवाही नहीं करनी चाहिए। इसके अलावा फिर भी आपको आराम ना मिले तो आप किसी विशेषज्ञ से मिलकर उनसे परामर्श जरुर लें।

Disclaimer