अडूसा (vasaka) जड़ी-बूटी से ठीक होती हैं कई बीमारियां, जानें इसके फायदे

अडूसा या वसाका एक औषधीय पौधा है ज‍िससे अर्थराइट‍िस, बैक्‍टीर‍ियल इंफेक्शन, टीबी, ब्‍लीड‍िंग आद‍ि समस्‍याएं दूर हो सकती हैं 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Jun 29, 2021Updated at: Jun 29, 2021
अडूसा (vasaka) जड़ी-बूटी से ठीक होती हैं कई बीमारियां, जानें इसके फायदे

अडूसा के क्‍या फायदे हैं? वसाका या अडूसा एक औषधीय पौधा है, इस पौधे का इस्‍तेमाल बीमार‍ियों को दूर करने के ल‍िए क‍िया जाता है। कई तरह के घरेलू नुस्‍खों में इसका इस्‍तेमाल होता है जैसे खांसी, सर्दी लगना, गला खराब होना, अस्‍थमा आद‍ि। रेस्‍प‍िरेटरी स‍िस्‍टम के ल‍िए ये पौधा गुणकारी माना जाता है। वसाका पौधा, रेस्‍पिरेटरी स‍िस्‍टम के साथ-साथ हार्ट प्रॉब्‍लम, टीबी, ब्‍लीड‍िंग, डेंगू, कब्‍ज की समस्‍या आद‍ि से भी न‍िजात द‍िलाता है। आप अडूसा की पत्‍त‍ियों का जूस बनाकर पी सकते हैं, पत्‍त‍ियों का लेप इस्‍तेमाल कर सकते हैं, पत्‍तियों को चूरण बना सकते हैं या शाखा का पाउडर इस्‍तेमाल कर सकते हैं। अडूसा के फूलों का भी पाउडर बनाकर इस्‍तेमाल क‍िया जाता है। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के व‍िकास नगर में स्‍थित प्रांजल आयुर्वेद‍िक क्‍लीन‍िक के डॉ मनीष स‍िंह से बात की। 

vasaka plant uses

अडूसा या वसाका क्‍या है? (What is vasaka or malabar nut)

अडूसा एक औषधीय पौधा है। इसको हम वसाका (vasaka) और मालाबार नट (malabar nut) के नाम से भी जानते हैं। वसाका के पौधा में सफेद और पर्पल रंग के फूल आते हैं और उसकी शाखा भूरे-पीले रंग की होती है साथ ही लंबी हरी पत्‍त‍ियां होती हैं।

1. गले में खराश, टीबी, ब्रोंकाइटिस जैसी बीमार‍ियों में इस्‍तेमाल करें अडूसा (Vasaka or adusa can cure respiratory diseases)

अडूसा का उपयोग रेस्‍पिरेट्ररी ड‍िसीज में ज्‍यादा फायदेमंद है। आम समस्‍या गले में खराश हो या गंभीर बीमारी टीबी, इस औषधी का इस्‍तेमाल दोनों में क‍िया जाता है। ब्रोंकाइट‍िस, गले में सूजन, खराश के अलावा अडूसा बुखार, डेंगू में भी फायदेमंद है। डायर‍िया, हार्ट बर्न, पेट दर्द, सर्दी, खांसी, अस्‍थमा (asthma) में भी ये औषधी फायदेमंद है। आप अडूसा की पत्‍त‍ियों को उबालें और उसमें शहद डालकर प‍िएं तो लाभ म‍िलेगा।

2. घाव और मुंह के छालों में इस्‍तेमाल करें वसाका (Use vasaka to cure ulcer and sores)

malabar nuts uses

वसाका या अडूसा के इस्‍तेमाल से आप मुंह के छालों का इलाज कर सकते हैं। इसके अलावा अगर आपको अंदरूनी या बाहरी घाव है तो आप उसे ठीक करने के ल‍िए भी अडूसा का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। अडूसा का पाउडर भी बाजार में आसानी से म‍िल जाता है या आप चाहें तो अडूसा की सूखी पत्‍त‍ियों से पाउडर बना सकते हैं। ज‍िन लोगों को ब्‍लीड‍िंग ड‍िसऑर्डर है उन्‍हें भी अडूसा से लाभ होता है खासकर नाक से खून (nose bleeding) आने की समस्‍या को बंद करने में वसाका लाभदायक है।

इसे भी पढ़ें- ज्यादा खाने से पेट में हो दर्द तो तुरंत राहत दिलाएंगे ये 5 औषधीय पौधे, जानें इस्तेमाल

3. बैक्‍टीर‍ियल इंफेक्‍शन होने पर इस्‍तेमाल करें अडूसा (Use adusa to cure bacterial infection)

वसाका या अडूसा में एंटी-बैक्‍टीर‍ियल और एंटीसेप्‍ट‍िक गुण होते हैं। अगर आपके शरीर में बैक्‍टीर‍ियल इंफेक्‍शन है तो आप अडूसा का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। अगर आपको बैक्‍टीर‍ियल या फंगल इंफेक्‍शन है तो इफेक्‍टेड एर‍िया में अडूसा के पत्‍तों का लेप लगा लें और आधे घंटे बाद साफ पानी से धोकर एर‍िया को ड्राय कर लें। कई तरह की स्‍क‍िन एलर्जी को दूर करने के ल‍िए अडूसा का इस्‍तेमाल क‍िया जाता है। फंगल या बैक्‍टीर‍ियल इंफेक्‍शन के कारण बगल में गांठ (armpit lump) या सूजन हो जाती है, अडूसा के इस्‍तेमाल से वो परेशानी भी दूर होगी।

इसे भी पढ़ें- जोड़ों और मांसपेशियों का दर्द और सूजन दूर करेंगे घर पर बने ये 3 आयुर्वेदिक दर्द निवारक तेल, जानें रेसिपी

4. अर्थराइट‍िस के दर्द में इस्‍तेमाल करें वसाका (Use vasaka to cure joint pain)

अगर आपको जोड़ों में दर्द है तो आप अडूसा की मदद से उसे दूर कर सकते हैं। अडूसा में एंटी-इंफ्लामेटरी गुण होते हैं। यूरिक एस‍िड बढ़ने के कारण घुटनों में दर्द होता है आप अगर अडूसा का पाउडर पानी के साथ लें तो यूर‍िक एस‍िड कम होगा और दर्द ठीक हो जाएगा। आप चाहें तो अडूसा की पत्‍त‍ियों का म‍िश्रण बनाकर लेप की तरह घुटने या ज्‍वॉइंट्स पर लगा सकते हैं। अडूसा की मदद से आप मसल्‍स में दर्द (muscle pain) या क‍िसी अन्‍य ह‍िस्‍से में दर्द हो तो उसे भी दूर कर सकते हैं।

वसाका या अडूसा एक आर्युवेद‍िक जड़ी-बूटी है इसल‍िए इसके कोई नुकसान नहीं है पर अगर आप गंभीर बीमारी के मरीज या गर्भवती या लैक्‍ट‍िंग मदर हैं तो डॉक्‍टर से सलाह लेकर इन नुस्‍खों को अपनाएं।

Read more on Ayurveda in Hindi 

Disclaimer