जोड़ों और मांसपेशियों का दर्द और सूजन दूर करेंगे घर पर बने ये 3 आयुर्वेदिक दर्द निवारक तेल, जानें रेसिपी

जोड़ों में दर्द या फिर मांसपेशियों में होने वाले दर्द से राहत दिलाने में यह आयुर्वेदिक तेल आपके लिए गुणकारी हो सकता है। चलिए जानते हैं बनाने की विधि

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Jun 25, 2021Updated at: Jun 25, 2021
जोड़ों और मांसपेशियों का दर्द और सूजन दूर करेंगे घर पर बने ये 3 आयुर्वेदिक दर्द निवारक तेल, जानें रेसिपी

बढ़ती उम्र के साथ शरीर में दर्द होना काफी आम बात है। खासतौर पर घुटनों और मांसपेशियों में अधिकतर लोगों दर्द का सामना करना पड़ता है। इसके अलावा डेस्क जॉब की वजह से कंधे और बाजू में दर्द भी काफी लोगों को होता है। इन दर्द से राहत पाने के लिए आपको महंगे-महंगे दवाई खाने की जरूरत नहीं है, बल्कि घर पर मौजूद चीजों से आयुर्वेदिक तेल बनाकर आप इस दर्द से राहत पा सकते हैं। इन तेल से शरीर में होने वाले दर्द और सूजन से राहत पा सकते हैं। आज हम आपको इस लेख में घर पर पेन ऑयल बनाने की विधि बताने जा रहे हैं, तो शरीर में होने वाले हर दर्द को दूर करने में असरकारी हो सकता है। साथ ही इन तेल को बनाना बहुत ही आसान है। चलिए जानते हैं घर पर किस तरह तैयार करें आयुर्वेदिक तेल?

आयुर्वेदिक तेल - 1

इस आयुर्वोदिक तेल से आप सिर से लेकर पैर तक होने वाले दर्द से राहत पा सकते हैं। यह आपके शरीर के लिए बहुत ही असरकारी साबित हो सकता है। गठिया दर्द और जोड़ों के में होने वाली सभी परेशानियों से राहत दिलाने में असरकारी हो सकता है। चलिए जानते हैं कैसे तैयार करें तेल -

  • प्याज - 1 बड़ा सा छोटे टुकड़ों में कटा हुआ।
  • लहसुन  - 10 कलियां कटी हुईं।
  • सरसों तेल - 50 ML
  • मेथी दाना - 1 चम्मच

विधि

तेल तैयार करने के लिए 1 कढ़ाई लें। इसमें 50 ML सरसों तेल डालें। इसके बाद इसमें कढ़ा हुआ प्याज और लहसुन एक साथ डालें। इसके बाद इसमें 1 चम्मच मेथी दानें डालें। अब सभी चीजों को अच्छे से पकाएं। जब तेल में डाली गई सारी चीजें काली हो जाएं, तो गैस को बंद कर दें और तेल को ठंडा होने के लिए रख दें। तेल ठंडा होने के बाद इसे एक कंटेनर में रख दें। अब जब भी आपको शरीर के किसी भी हिस्से में दर्द हो, तो इस तेल से अपने प्रभावित हिस्से की मसाज करें। इससे आपको तुरंत दर्द से राहत मिल सकेगा।

इसे भी पढ़ें - नाक में घी डालकर की जाती है 'घृत नेति' की क्रिया, एक्सपर्ट से जानें इसके 10 फायदे और सावधानियां

आयुर्वेदिक तेल - 2

ज्वाइंट पैन, मांसपेशियों, कंधों या फिर शरीर के किसी अन्य हिस्से में दर्द होने पर आप इस तेल का इस्तेमाल कर सकते हैं। 

  • तेल को बनाने के लिए सबसे पहले एक तवा को गैस पर गर्म करें। 
  • अब इसके ऊपर एक कटोरी रखें। अब इस कटोरी में 4 बड़े चम्मच सरसों तेल डालें। 
  • जब तेल गर्म हो जाए, तो इसमें 4-5 लहसुन की कलियों को काटकर डालें। 
  • अब इसमें 1 छोटा चम्मच अजवाइन का डालें। 
  • इसके बाद 5 लौंग और 1 चुटकी हींग डालें।
  • इस तेल को तबतक गर्म करें, जब तक इसके कलर में बदलाव ना आए। साथ ही तेल को बीच-बीच में मिक्स करते रहें। 
  • ध्यान रखें कि तेल को कम आंच पर ही पकाना है। 
  • जब तेल अच्छे से पक जाए, तो इसे ठंडा करके स्टोर करके रखें। 

अब जब भी आपको दर्द महसूस हो, तो इसे अपने प्रभावित हिस्से पर लगाएं। इससे दर्द से काफी राहत मिलेगा।

आयुर्वेदिक तेल -3

आयुर्वेद में इस तेल का खास महत्व है। इस तेल को तैयार करने के लिए जायफल का इस्तेमाल किया गया है, तो कई गंभीर परेशानियों को दूर करने में मददगार है। 

  • सरसों तेल - 50 एमएल 
  • जायफल - 2 से 3 या फिर 1 चम्मच पाउडर 
  • लहसुन की कलियां - 5 से 6

विधि 

  • तेल को तैयार करने के लिए बर्तन में सरसों तेल गर्म करें। 
  • अब इसमें 1 चम्मच जायफल का पाउडर डालें।
  • इसके बाद लहसुन की कलियों को काटकर नहीं, बल्कि कुचलकर डालें। 
  • इसे तबतक गर्म करें, जब तक लहसुन की कलियां काली न हो जाएं।
  • जब लहसुन की कलियां काली हो जाए, तो गैंस को बंद कर दें। 
  • तेल ठंडा होने के बाद इसे किसी कंटेनर में रखें दें। 
  • जरूरत पड़ने पर आप इसे अपने प्रभावित हिस्से पर लगाएं। 

आयुर्वेदिक तरीकों से तैयार यह तेल आपके लिए काफी फायदेमंद हो सकता है। लेकिन अगर इन तेल के इस्तेमाल से आपका दर्द ठीक न हो, तो किसी अच्छे डॉक्टर से संपर्क करें। ताकि आपके दर्द का कारण पता चल सके और आपका सही इलाज हो सके।

Read More Articles on ayurveda in hindi 

Disclaimer