पेट और पीठ की समस्याओं को दूर करने के लिए करें अर्ध हलासन का अभ्यास, जानें करने का सही तरीका

योग का नियमित अभ्यास शरीर की कई परेशानियों को दूर करने में उपयोगी होता है, जानें अर्ध हलासन के फायदे और इसे करने का सही तरीका।

Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghPublished at: May 12, 2022Updated at: May 30, 2022
पेट और पीठ की समस्याओं को दूर करने के लिए करें अर्ध हलासन का अभ्यास, जानें करने का सही तरीका

आज के समय में भागदौड़ भरी जीवनशैली और असंतुलित खानपान की वजह से लोगों को सेहत से जुड़ी तमाम समस्याएं हो रही हैं। भागदौड़ भरी जीवनशैली और असंतुलित खानपान ही डायबिटीज, हाइपरटेंशन जैसी गंभीर समस्या का कारण है। ऐसे में शरीर को हेल्दी और फिट रखने के लिए नियमित रूप से व्यायाम, योग का अभ्यास और संतुलित खानपान अपनाना बहुत जरूरी है। योगासनों का नियमित अभ्यास न सिर्फ आपके शरीर को फिट रखने का काम करता है बल्कि कई बीमारियों से बचाव में भी उपयोगी होता है। शरीर को चुस्त, दुरुस्त और फिट बनाने के लिए कई तरह के योगासनों का अभ्यास किया जा सकता है। आज हम आपको अर्ध हलासन योग के बारे में बताने जा रहे हैं जिसका नियमित अभ्यास आपके शरीर के लिए बहुत फायदेमंद है। अर्ध हलासन के नियमित अभ्यास से आपके पेट और पीठ की समस्याओं में बहुत फायदा मिलता है। पेट के भीतर मौजूद अंदरूनी अंगों को स्वस्थ बनाने के लिए अर्ध हलासन का अभ्यास बहुत फायदेमंद है। अर्ध हलासन को अंग्रेजी में Half Plough Pose के नाम से भी जाना जाता है। इसके नियमित अभ्यास से आपके शरीर की मांसपेशियों को भी फायदा मिलता है। आइये विस्तार से जानते हैं अर्ध हलासन के फायदे और इसके अभ्यास का सही तरीका।

अर्ध हलासन के फायदे (Ardha Halasana Health Benefits in Hindi)

मोटापे की समस्या से ग्रसित लोगों के लिए अर्ध हलासन योग का अभ्यास बहुत फायदेमंद होता है। इसका नियमित अभ्यास करने से आपके पेट और पीठ से जुड़ी कई समस्याएं भी दूर होती हैं। पेट की समस्याओं में अर्ध हलासन का अभ्यास बहुत ही उपयोगी माना जाता है। इसका अभ्यास शरीर के अंदरूनी अंगों के लिए भी फायदेमंद होता है। रोजाना अर्ध हलासन का सही तरीके से अभ्यास करने से आपको ये फायदे मिलते हैं।

इसे भी पढ़ें : गर्दन और कमर दर्द से छुटकारा पाने के लिए करें चक्रवाकासन, जानें अभ्यास का सही तरीका

Half-Plough-Pose-Benefits

1.  पेट और पाचन तंत्र के लिए फायदेमंद

अर्ध हलासन का रोजाना अभ्यास करने से आपके पेट को बहुत फायदा मिलता है। पाचन तंत्र को मजबूत करने के लिए अर्ध हलासन योग बहुत उपयोगी है। इसका अभ्यास करने से आपको कब्ज, अपच की समस्या, भूख न लगने की समस्या में बहुत फायदा मिलता है। यह योगासन आपकी भूख को ठीक करने का काम करता है।

2. शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बनाए बेहतर

शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए रोजाना अर्ध हलासन का अभ्यास बहुत उपयोगी होता है। नियमित रूप से अर्ध हलासन योग का अभ्यास आपके शरीर की इम्यूनिटी बढाकर शरीर को बाहरी बीमारियां और संक्रमण से बचाने का काम करता है।

3. पीठ के लिए फायदेमंद अर्ध हलासन

अर्ध हलासन का रोजाना अभ्यास करने से पीठ की मांसपेशियां मजबूत और हेल्दी होती हैं। कमर दर्द की समस्या और पीठ से जुड़ी कई अन्य समस्याओं में अर्ध हलासन का अभ्यास बहुत उपयोगी माना जाता है। अगर आप भी पीठ से जुड़ी समस्याओं के शिकार हैं तो रोजाना इस योगासन का अभ्यास कर सकते हैं।

इसे भी पढ़ें : गतिशील गोमुखासन का अभ्यास करने से दूर होती हैं शरीर की ये 5 समस्याएं, जानें अभ्यास का तरीका

4. शरीर का रक्तप्रवाह सुधारने में उपयोगी

शरीर में ब्लड सर्कुलेशन ठीक रहना अच्छी सेहत के लिए जरूरी है। ब्लड सर्कुलेशन असंतुलित होने पर कई गंभीर बीमारियों का खतरा बना रहता है। अर्ध हलासन का रोजाना अभ्यास करने से आपको शरीर का ब्लड सर्कुलेशन ठीक करने में मदद मिलती है।

5. वजन कम करने में उपयोगी

आज के समय में असंतुलित खानपान और निष्क्रिय जीवनशैली के कारण मोटापे की समस्या लोगों में तेजी से बढ़ रही है। मोटापे की समस्या से छुटकारा पाने और वजन कम करने के लिए अर्ध हलासन का अभ्यास बहुत फायदेमंद है। अगर आप जल्दी से वजन कम करना चाहते हैं तो अच्छी डाइट के अलावा रोजाना अर्ध हलासन का अभ्यास जरूर करें।

अर्ध हलासन का अभ्यास करने का तरीका (Steps To Do Ardha Halasana in Hindi)

अर्ध हलासन योग का अभ्यास करने के लिए आप इन स्टेप्स को फॉलो करें।

  • अर्ध हलासन करने के लिए सबसे पहले योगा मैट पर पीठ के बल लेट जाएं।
  • अपने दोनों हाथों को जांघों के पास रख दें।
  • इसके बाद अपने दोनों पैरों को धीरे-धीरे ऊपर उठाएं। इसके लिए आप पहले पैरों को 30 डिग्री, फिर 60 डिग्री और आखिरी में 90 डिग्री पर उठाएं।
  • इस दौरान आपका सिर, गर्दन और कमर जमीन पर ही रहेंगे।
  • इस अवस्था में कुछ देर रुकने के बाद अपने पैरों को धीरे-धीरे नीचे ले आएं।
  • इस तरह एक चक्र पूरा हो जाता है। आप इस तरह से इसके 3-5 चक्र कर सकते हैं।

नियमित रूप से अर्ध हलासन का अभ्यास करने और सही डाइट का पालन करने से आपको ऊपर बताये गए फायदे मिलते हैं। इसका नियमित अभ्यास करने से पैर, पेट और पीठ के साथ-साथ शरीर के निचले हिस्से की परेशानियां दूर होती हैं। योगाभ्यास के दौरान किसी भी तरह की समस्या होने पर इसका अभ्यास नहीं करना चाहिए। शुरुआत में अर्ध हलासन योग का अभ्यास करने के लिए एक्सपर्ट की सहायता लें। 

(All Image Source - Yoga Studio)

Disclaimer