नॉर्मल डिलीवरी की परेशानी कम कर सकता है प्रेगनेंसी के दौरान एंटीनेटल एक्सरसाइज करना, जानें 5 फायदे

प्रेगनेंसी के दौरान व्यायाम करना गर्भवती महिला के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इससे प्रेगनेंसी के दौरान फिट रहने में मदद मिलती है।

Priya Mishra
Written by: Priya MishraUpdated at: Nov 14, 2022 12:42 IST
 नॉर्मल डिलीवरी की परेशानी कम कर सकता है प्रेगनेंसी के दौरान एंटीनेटल एक्सरसाइज करना, जानें 5 फायदे

प्रेगनेंसी के दौरान एक गर्भवती महिला के शरीर में कई बदलाव होते हैं। प्रेगनेंसी की पहली तिमाही में मॉर्निंग सिकनेस, थकान और कमजोरी होना आम बात है। प्रेगनेंसी में गर्भवती महिला को अपने स्वास्थ्य की ज्यादा देखभाल करने की जरूरत होती है। कई लोगों के मन में यह सवाल होता है कि क्या प्रेगनेंसी में एक्सरसाइज करनी चाहिए? (Pregnancy me exercise karni chahiye?) या क्या प्रेगनेंसी में एक्सरसाइज करना सेफ है? (Kya pregnancy me exercise karna safe hai?) एक्सपर्ट्स के मुताबिक, प्रेगनेंसी में एक्सरसाइज करना मां और शिशु, दोनों के लिए फायदेमंद होता है। नियमित एक्सरसाइज करने से प्रेगनेंसी में होने बदलावों को मैनेज करने में मदद मिलती है। हालांकि, प्रेगनेंट महिलाओं को हल्के व्यायाम ही करने चाहिए। इस दौरान बेहद सतर्क होकर ही एक्सरसाइज करनी चाहिए, क्योंकि एक छोटी सी गलती भी आपके और आपके शिशु के लिए हानिकारक साबित हो सकती है। प्रेगनेंसी के दौरान एंटीनेटल एक्सरसाइज करना गर्भवती महिला के लिए बहुत फायदेमंद होता है। एंटीनेटल एक्सरसाइज में आमतौर पर कम प्रभाव वाली एरोबिक और स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज शामिल हैं। ये व्यायाम एक गर्भवती महिला के शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करते हैं। इससे प्रेगनेंसी के दौरान होने वाली जटिलताओं को कम करने में मदद मिलती है। आज हम आपको प्रेगनेंसी के दौरान एंटीनेटल एक्सरसाइज करने के फायदों के बारे में बताएंगे (Antenatal exercise benefits during pregnancy)

कमजोरी और थकान दूर होती है 

प्रेगनेंसी के दौरान थकान और कमजोरी होना सामान्य है। खासतौर पर, प्रेगनेंसी की पहली तिमाही में थकान काफी ज्यादा महसूस होती है। ऐसे में नियमित रूप से व्यायाम करने से आपको काफी फायदा होगा। प्रेगनेंसी के दौरान हल्के व्यायाम या वॉक करने से थकान और कमजोरी दूर होती है। 

इसे भी पढ़ें: प्रेगनेंसी के पहले हफ्ते में कौन से लक्षण नजर आते हैं?

वजन कंट्रोल करने में मदद मिलती है

प्रेगनेंसी के दिनों में ज्यादातर महिलाओं का वजन बढ़ जाता है। अगर प्रेगनेंसी में वजन बहुत अधिक बढ़ जाए, तो इससे डिलीवरी में परेशानी हो सकती है। प्रेगनेंसी में वजन ज्यादा बढ़ जाने के कारण सिजेरियन डिलीवरी की संभावना भी बढ़ जाती है। प्रेगनेंसी में नियमित रूप से व्यायाम करने से वजन कंट्रोल करने में मदद मिलती है, जिससे मां और शिशु दोनों का स्वास्थ्य सही रहता है। आप प्रेगनेंसी में डॉक्टर की सलाह के बाद एक्सरसाइज कर सकती हैं। 

नींद में सुधार

प्रेगनेंसी में अक्सर गर्भवती महिलाओं को नींद न आने की शिकायत होती है। ऐसे में, प्रेगनेंसी के दौरान व्यायाम करने से नींद लाने में मदद मिलती है। अगर आप भी प्रेगनेंसी में अनिद्रा की समस्या से परेशान हैं तो अपने रूटीन में व्यायाम जरूर शामिल करें। नियमित व्यायाम करने से प्रेगनेंसी में अच्छी नींद आने के साथ-साथ शरीर की अन्य समस्याओं में भी लाभ होता है।  

Antenatal-Exercise

कब्ज से छुटकारा

प्रेगनेंसी में के दौरान कई गर्भवती महिलाओं को कब्‍ज की समस्‍या हो जाती है। ऐसे में, व्यायाम करने से आपको कब्ज की समस्या से राहत मिल सकती है। व्यायाम या वॉक करने से पाचन सही रहता है और कब्‍ज की समस्‍या से छुटकारा मिलता है।

कमर दर्द में राहत

प्रेगनेंसी में अधिकतर महिलाओं को कमर दर्द की शिकायत होती है। दरअसल, प्रेगनेंसी में शिशु का साइज बढ़ने के कारण पेट के निचले हिस्से पर अतिरिक्त दबाव पड़ता है, जिसके कारण कमर में दर्द की शिकायत हो सकती है। प्रेगनेंसी में व्यायाम करने से कमर दर्द को कम करने में मदद मिल सकती है। लेकिन, अपने डॉक्टर से सलाह लेने के बाद ही व्यायाम करें। 

मूड सही रहता है 

प्रेगनेंसी के दौरान कई महिलाओं को मूड स्विंग्स होते हैं। इतना ही नहीं, कई गर्भवती महिलाओं को अवसाद की शिकायत भी हो जाती है। इससे बचने के लिए प्रेगनेंसी में व्यायाम करना बहुत जरूरी होता है। दरअसल, व्यायाम करने से एंडोमॉर्फिन नामक हॉर्मोन रिलीज होता है, जो तनाव और चिंता को कम करने में मदद करता है। प्रेगनेंसी में व्यायाम करने से मूड को बेहतर बनाने में मदद मिलती है।

इसे भी पढ़ें: क्या प्रेगनेंसी में कपालभाति प्राणायाम करना चाहिए? जानें एक्सपर्ट से

प्रसव पीड़ा कम होती है 

प्रेगनेंसी में व्यायाम करने से शरीर स्वस्थ रहता है और डिलीवरी के दौरान परेशानी कम होती है। प्रेगनेंसी के दौरान नियमित व्यायाम करने से प्रसव पीड़ा को कम करने में भी मदद मिलती है। 

प्रेगनेंसी के दौरान व्यायाम करना गर्भवती महिला के लिए बहुत फायदेमंद होता है। इससे प्रेगनेंसी के दौरान फिट रहने में मदद मिलती है। नियमित व्यायाम करने से प्रेगनेंसी के दौरान कम परेशानी होती है और नॉर्मल डिलीवरी के चांसेज बढ़ जाते हैं।

Disclaimer