बच्चों में अपच और उल्टी की समस्या हो तो इन 7 घरेलू नुस्खों से तुरंत मिलेगा आराम

यदि आपका बच्चा उल्टी, दस्त, कब्ज या अन्य पेट की समस्याओं से परेशान है, तो यह अपच की वजह से हो सकता है। जानें इन समस्याओं के लिए 7 घरेलू नुस्खे।

Monika Agarwal
Written by: Monika AgarwalUpdated at: Mar 01, 2021 10:30 IST
बच्चों में अपच और उल्टी की समस्या हो तो इन 7 घरेलू नुस्खों से तुरंत मिलेगा आराम

पेट दर्द, उल्टी, कब्ज और एसिड रिफ्लक्स यह कुछ ऐसी अपच की समस्याएं हैं जो हर बच्चे के पहले महीने में उसे अकसर प्रभावित करती हैं। शिशुओं में इस तरह की अपच की समस्या होना कोई नई बात नहीं है। पर मां के लिए मातृत्व कम चुनौतियों भरा नहीं होता। एक मां के लिए अपने शिशु की देखभाल, उसे स्वस्थ रखना सबसे अधिक चुनौतीपूर्ण कार्य में से एक है। असल में छोटे बच्चे किस वजह से परेशान हैं यह जान पाना बहुत मुश्किल होता है। इसलिए यदि आपके बच्चे को लगातार उल्टियां हो रही हैं या उसे डायरिया या कब्ज की समस्या है तो आपको समझ जाना चाहिए कि उसे अपच की समस्या है। इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए आप कुछ घरेलू इलाज भी ट्राई कर सकते हैं जो निश्चित ही आपके बच्चे को कुछ राहत प्रदान करने में सहायक साबित होंगे। तो आइए जानते हैं कुछ पाचन बढ़ाने वाले घरेलू इलाज के बारे में।

1. बच्चे को दें गर्म सेक (Warm Compression For Babies)

यदि आपके बच्चे को अपच है तो गैस या पेट फूलने की समस्या होगी। इस समस्या में गर्म सिंकाइ के द्वारा बच्चे को आराम दिया जा सकता है। इसके लिए केवल आपको एक टॉवल व एक गर्म पानी की बॉटल की आवश्यकता होगी। सबसे पहले आपको टॉवल को गर्म पानी में भिगो कर उसे निचोड़ लेना है। अब इस टॉवल को अपने बच्चे के पेट पर 2 से 3 मिनट तक रखें। इसे कई बार करें और आपके बच्चे को जरूर राहत मिलेगी।

indigestion problem in babies

2. बच्चे को डकार दिलायें (Burp Your child Correctly)

आपका बच्चा दूध पीते समय बहुत सारी हवा को भी अपने अंदर ले जाता है। यह हवा पेट के अंदर जाकर गैस व पेट फूलने का कारण बन जाती है। जिस वजह से अपच होने लगती है व आपका बच्चा बहुत बेचैन हो जाता है। इससे राहत दिलाने का सही तरीका है अपने बच्चे को कंधे के सहारे डकार दिलाना। इसके लिए आप अपने बच्चे को अपने कंधे से लगायें। जिसमें उसका मुंह ऊपर की ओर हो। इस दौरान अपना एक हाथ बच्चे की कमर पर रखें व दूसरे हाथ को उसकी गर्दन के पास। आप अपने बच्चे को अपने पेट पर उल्टा भी लिटा सकती हैं।

इसे भी पढ़ें: क्या आपका बच्चा स्तनपान करने के बाद कर देता है उल्टी ? जानें क्या है इसकी वजह और बचाव के उपाय

3. ब्रेस्ट मिल्क पिलाएं (Breast Milk is Good For Babies)

जैसा कि हम जानते हैं कि बच्चों का पाचन तंत्र पूर्ण रूप से विकसित नहीं होता है। इसलिए 6 महीनों तक उसे मां का दूध पिलाना बहुत आवश्यक है। यदि आप अपने बच्चे को स्वयं का दूध पिलाती हैं तो इससे न केवल उसे पर्याप्त पोषण मिलता है बल्कि उसके पाचन तंत्र के लिए भी यह बहुत बढ़िया रहेगा। बच्चे को किसी भी प्रकार की अपच की समस्या नहीं होगी।

4. ब्रेस्टफीडिंग कराते समय की पोजीशन (Feeding Position of baby)

कई बार बहुत छोटी छोटी चीजें, जैसे बच्चे को दूध पिलाते समय खुद की पोजिशन बदलना, या बच्चा सही पोजीशन में न होना आदि भी बच्चे की एसिड रिफ्लेक्स का कारण हो सकती हैं। यदि आपका बच्चा बार बार दूध बाहर निकाल देता है तो हो सकता है वह एसिड रिफ्लेक्स यानी अपच से जूझ रहा हो। इसके लिए आपको उसे दूध पिलाते समय सही पोजिशन में रखें। बच्चे को दूध पिलाने के बाद भी लगभग 20-25 मिनट तक उसे सही अवस्था में लिटायें ताकि दूध ऊपर को न आये व बच्चा अपच से बचा रहे।

5. अपच में बच्चे को दही दें (Yoghurt Is best In Indigestion)

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि दही में प्रोबायोटिक्स होते हैं जोकि अच्छे बैक्टीरिया हैं और हमारे पेट के लिए अपच में फायदेमंद भी होते हैं। यदि आपके बच्चे को उल्टी, डायरिया या कब्ज जैसी समस्या है तो आप उसे थोड़ी सी दही पिला सकते हैं। इसके लिए आप दही में कुछ बूंदें पानी की भी मिला सकते हैं। ताकि वह पतली व पीने लायक हो जाए और बच्चा उसे अच्छे से पी सके। आप इसे बच्चे को दिन में कई बार पिला सकते हैं। लेकिन यदि आपका बच्चा 6 महीने से कम उम्र का है तो आप उसे दही न पिलाएं। दही देने से पहले अपने डॉक्टर से पूछें।

hoem remedies for gas and indigestion in babies

6. मसाज से अपच में दे आराम (Massage to Ease in Indigestion)

मसाज करने से आपके बच्चे की मसल्स व हड्डियां मजबूत बनती हैं। यह किसी भी पाचन से सम्बन्धित समस्या से छुटकारा दिलाने में भी सहायक हैं। इसे करने के लिए आपको केवल बेबी मसाज ऑयल की आवश्यकता होगी और आप इसे बच्चे के पेट से शुरू कर सकते हैं। इसे बहुत ही हल्के हाथ से व ध्यानपूर्वक करें। यदि आपके बच्चे के पेट में गैस भी बनी हुई होगी तो भी उसे मसाज के कारण गैस से छुटकारा मिल जाएगा।

इसे भी पढ़ें: 6 माह+ शिशु को पैकेट वाले पाउडर की जगह खिलाएं घर पर बना ये हेल्दी बेबी फूड, जानें 15 मिनट में बनाने की रेसिपी

7. अपच में केला है फायदेमंद (Bananas Improves Digestion)

यदि आपको बच्चे का पाचन बढ़ाना है तो केला सबसे बेस्ट खाद्य पदार्थ है जो आप उसे दे सकते हैं। यदि आपके बच्चे ने अभी अभी ही ठोस पदार्थ खाने शुरू किए हैं तो आप उसे शुरुआत में केला दे सकते हैं। यह उसके पाचन तंत्र में भी बहुत आसानी से पच जाता है। यह बच्चों में कब्ज व उल्टियों से छुटकारा दिलाने में बहुत सहायक रहता है। यह बच्चे की पेट की सेहत के लिए भी बहुत लाभदायक है। यदि बच्चा 6 महीने से छोटा है तो उसे केला न दें।

ये कुछ पुराने घरेलू उपचार हैं जो शिशुओं और बच्चों में अपच से संबंधित परेशानियों आराम दे सकते हैं। लेकिन यदि बच्चे को आराम नहीं मिल रहा या बच्चे की स्थिति और बिगड़ती है, तो डॉक्टर से कंसल्ट करें।

Read More Articles on Newborn Care in Hindi

Disclaimer