सुप्रीम कोर्ट के 6 जजों को स्‍वाइन फ्लू, मास्‍क पहनकर सुनवाई कर रहे जज, जानें बचाव का तरीका

देश के सबसे बड़े न्‍याय के मंदिर सुप्रीम कोर्ट के 6 जजों को स्‍वाइन फ्लू हो गया है। इससे मामले की सुनवाई बाधित हो सकती है।

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Feb 25, 2020Updated at: Feb 25, 2020
सुप्रीम कोर्ट के 6 जजों को स्‍वाइन फ्लू, मास्‍क पहनकर सुनवाई कर रहे जज, जानें बचाव का तरीका

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) के 6 जजों स्वाइन फ्लू (H1N1) से संक्रमित हैं। जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ (Justice DY Chandrachud) ने शीर्ष अदालत में स्‍वाइन फ्लू के बारे में जानकारी देते हुए कहा है कि उन्होंने चीफ जस्टिस सीए बोबडे (Chief Justice CA Bobde) से संक्रमण को लेकर जरूरी कदम उठाने की गुजारिश की है। 

दरअसल, पिछले कुछ दिनों से देश की राजधानी दिल्ली और एनसीआर में स्‍वाइन फ्लू के कई मामले सामने आए हैं। H1N1 वायरस से काफी लोग संक्रमित हैं। लेकिन, अब सुप्रीम कोर्ट के जज भी इस वायरस की चपेट में आते दिखाई दे रहे हैं। समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ ने 6 जजों को स्‍वाइन फ्लू होने की बात स्‍पष्‍ठ करते हुए कहा है कि, उन्‍होंने चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया से इस गंभीर समस्‍या को लेकर एहतियाती कदम उठाने का आग्रह किया है। 

खबरों के मुताबिक, जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ ने उन्होंने कहा है कि सुप्रीम कोर्ट के सभी वकीलों को भी स्‍वाइन फ्लू की वैक्सीन मुहैया कराया जाएगा। 

वहीं सुप्रीम कोर्ट के बाकी जजों और कर्मचारियों और वकीलों का मानना है कि, यदि इस समस्‍या से सख्‍ती नहीं निपटा गया तो मामलों की सुनवाई में बाधा उत्‍पन्‍न हो सकती है।  

मास्‍क पहनकर सुनवाई करते दिखे जज

समाचार एजेंसी के मुताबिक, सुप्रीम कोर्ट के रूम नंबर दो में जस्टिस संजीव खन्‍ना सुनवाई के दौरान आज मास्‍क पहने हुए दिखाई दिए। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि, स्थिति कितनी गंभीर है।

इसे भी पढ़ें: स्वाइन फ्लू में दिखते हैं बुखार, जुकाम और सिरदर्द जैसे सामान्य लक्षण, जानें रोग के खतरे और 10 संकेत

स्‍वाइन फ्लू से खुद को कैसे बचाएं?

  • खांसने या छींकने पर अपनी नाक और मुंह को टिशू से ढक लें।
  • अपने हाथों को साबुन और पानी से धोएं, विशेष रूप से खांसने या छींकने के बाद। 
  • अपनी आंखों, नाक या मुंह को छूने से बचें। 
  • बीमार लोगों के साथ निकट संपर्क से बचने की कोशिश करें। 
  • अगर आप बीमार हैं तो काम या स्कूल जाने के बजाए घर पर रहें।

Read More Health News In Hindi

Disclaimer