किडनी को दुरूस्‍त रखने के लिए इन 5 चीजों से रहें दूर, जानें क्‍या है एक्‍सपर्ट की राय

गुर्दे का काम आपके रक्त को फ़िल्टर करना है। वे कचरे को हटाते हैं, शरीर के द्रव संतुलन को नियंत्रित करते हैं, और इलेक्ट्रोलाइट्स के स्तर को सही रखते हैं। आपके शरीर में सभी रक्त दिन में कई बार गुजरते हैं।

Atul Modi
Written by: Atul ModiPublished at: Oct 08, 2018
किडनी को दुरूस्‍त रखने के लिए इन 5 चीजों से रहें दूर, जानें क्‍या है एक्‍सपर्ट की राय

किडनी या गुर्दे (Kidney) आपकी रीढ़ की हड्डी के नीचे, अपनी पसलियों के नीचे और अपने पेट के पीछे सेम के आकार के अंगों का एक जोड़ा है। प्रत्येक गुर्दा लगभग 4 या 5 इंच लंबा होता है। लगभग एक बड़ी मुट्ठी का आकार। गुर्दे का काम आपके रक्त को फ़िल्टर करना है। वे कचरे को हटाते हैं, शरीर के द्रव संतुलन को नियंत्रित करते हैं, और इलेक्ट्रोलाइट्स के स्तर को सही रखते हैं। आपके शरीर में सभी रक्त दिन में कई बार गुजरते हैं।

रक्त गुर्दे में आता है, अपशिष्ट हटा दिया जाता है, और यदि आवश्यक हो तो नमक, पानी और खनिजों को समायोजित किया जाता है। फ़िल्टर किया हुआ रक्त शरीर में वापस चला जाता है। अपशिष्ट मूत्र में बदल जाता है, जो कि गुर्दे के श्रोणि में एकत्र होता है - एक फनल-आकार की संरचना जो मूत्राशय को मूत्रमार्ग नामक ट्यूब से निकलती है। 

ये तो हुई किडनी और उसका काम क्‍या है। किडनी को दुरूस्‍त कैसे रखा जाए यह जानना भी बहुत जरूरी है। इस लेख में हम आपको विस्‍तार से बता रहे हैं किडनी को स्‍वस्‍थ रखने का तरीका। 

डायबिटीज (मधुमेह), उच्च रक्तचाप एवं मोटापे की वजह से किडनी (गुर्दा) फेल होने का खतरा रहता है। ऐसे में इस बीमारी से बचने के लिए सावधानी सबसे ज्यादा जरूरी है। किडनी को दुरुस्त रखने के लिए चिकित्सक पांच चीजों से बचने की सलाह देते हैं जो कि काफी उपयोगी है।

Kidney-diseases 

किडनी को कैसे रखें स्‍वस्‍थ

बीएलके सुपरस्पेशियैलिटी अस्पताल के वरिष्ठ चिकित्सक एवं नेफ्रोलोजी एंड रेनल ट्रांसप्लांटेशन के डायरेक्टर डॉ. सुनील प्रकाश के मुताबिक, "अंग्रेजी के एस अक्षर से शुरू होने वाली पांच बातों से किडनी को बचा कर रखने की जरूरत है- साल्ट ( नमक), शुगर (चीनी), स्ट्रेस (तनाव), स्मोकिंग ( सिगरेट बीड़ी पीना) एवं सेडेंटरी लाइफ स्टाइल (बैठे ठाले रहना यानी हमेशा निष्क्रिय रहना)। 

सत्यराज किडनी केयर फाउंडेशन संस्था द्वारा किडनी की चेतना जगाने को लेकर रविवार को आयोजित एक कार्यक्रम में डॉ. प्रकाश ने किडनी पर बढ़ते खतरों को रेखांकित करते हुए आम लोगों के बीच इसको लेकर व्यापक चेतना अभियान चलाए जाने की जरूरत पर बल दिया। उन्होंने कहा कि किडनी फेल होने की स्थिति में डायलिसिस और किडनी प्रत्यारोपण की स्थिति न आए इसलिए यह जरूरी है कि किडनी को लेकर शुरू से ही सावधानी बरती जाए। 

इसे भी पढ़ें: जब किडनी हो जाए फेल तो इन 3 तरीकों से बचाई जा सकती है जान

उन्होंने कहा कि खराब हो गए गुर्दे के इलाज में इतना खर्च होता है कि यह हर आदमी के बूते की बात नहीं है। इसलिए किडनी को दुरुस्त बनाए रखने में ही समझदारी है । 

डा. प्रकाश ने कहा कि किडनी की बीमारी अंतिम चरण में पहुंच जाए यानी वह काम करना बंद कर दे तो डायलिसिस और प्रत्यारोपण जैसे इलाज बेहद महंगे हैं, इसलिए किडनी को रोगों से बचा कर रखना ही सबसे सही रास्ता है। किडनी को बीमार ही न होने दें।

इसे भी पढ़ें: मियादी बुखार होने के संकेत हैं ये 5 लक्षण, जानें बचाव और उपचार

मधुमेह, उच्च रक्तचाप व मोटापे के बढ़ते हुए मामलों पर चिंता प्रकट करते हुए उन्होंने कहा कि आज शरीर की सेहत के लिए बेहद महत्वपूर्ण अंग किडनी के चारों तरफ खतरे मंडरा रहे हैं इसलिए आम लोगों में किडनी को बीमारियों से बचाने के लिए गहन चेतना अभियान चलाए जाने की जरूरत है। 

Inputs: IANS 

Read More Articles On Other Diseases In Hindi

Disclaimer