फेस और बॉडी क्‍लींजिंग के बारे में 4 गलत बातें ज‍िन्‍हें लोग मानते हैं सही, एक्‍सपर्ट से जानें इनकी सच्चाई

हेल्‍दी स्‍क‍िन के ल‍िए क्‍लीज‍िंग का सही तरीका पता होना जरूरी है इसल‍िए इससे जुड़े म‍िथ जो आपको सच लगते होंगे उनकी असल सच्‍चाई अब जान लीज‍िए

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurUpdated at: Feb 18, 2021 18:35 IST
फेस और बॉडी क्‍लींजिंग के बारे में 4 गलत बातें ज‍िन्‍हें लोग मानते हैं सही, एक्‍सपर्ट से जानें इनकी सच्चाई

क्‍या हो अगर आप अपनी बॉडी या चेहरे को कई द‍िनों तक साफ न करें? ऐसा करने पर गंदगी की मोटी लेयर स्‍क‍िन पर जमने लगेगी और स्‍कि‍न अंदर से इंफेक्‍टेड और बाहर से काली पड़ने लगेगी। हमारी बॉडी और चेहरे को साफ रखने के ल‍िए क्‍लीज‍िंग बहुत जरूरी है। इससे गंदगी बाहर न‍िकलती है ज‍िससे बॉडी या चेहरे पर कोई एलर्जी नहीं होती। हालांक‍ि क्‍लीज‍िंग को लेकर भी लोगों के मन में बहुत से म‍िथ हैं। इनकी सच्‍चाई जानने के ल‍िए आज हम क्लीज‍िंग से जुड़े 4 म‍िथों पर चर्चा करेंगे। ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने ओम स्किन क्लीनिक, लखनऊ के वरिष्ठ कंसलटेंट डर्मेटोलॉज‍िस्‍ट डॉ देवेश मिश्रा से बात की। 

body cleansing

1. म‍िथ- द‍िन में एक बार चेहरा धोना काफी है (Face cleansing myth)

कुछ लोगों को लगता है क‍ि द‍िन में केवल सुबह चेहरा धो लेने से पूरे द‍िन चेहरा साफ रहता है पर ऐसा नहीं है। आपको अपने चेहरे को द‍िन में दो से तीन बार फेसवॉश लगाकर धोना चाह‍िए। चेहरा धो लेने से धूल, ऑयल, गंदगी चेहरे से हट जाती है। इससे डेड सेल्‍स भी हटते हैं। इसल‍िए आपको चेहरे की सफाई पर ध्‍यान देना चाह‍िए। इससे आपके चेहरे पर हाइड्रेशन रहेगा और आपका चेहरा जल्‍दी ड्राय नहीं होगी।  

इसे भी पढ़ें- प्राकृतिक निखार और खूबसूरत त्वचा के लिए आज से डालें ये 5 आदत, 14 दिन में दिखेगा असर

2. म‍िथ- गरम पानी से चेहरा धोना चाह‍िए (Water for cleansing)

ज्‍यादा गरम पानी से चेहरा धोने से स्‍क‍िन सेल्‍स डैमेज हो सकते हैं। इसल‍िए आपको गुनगुने या टैप वॉटर का इस्‍तेमाल करना चाह‍िए। हमारी स्‍क‍िन बहुत सॉफ्ट होती है आपको क‍िसी नाजुक कांच की तरह उसकी केयर करनी चाह‍िए। कुछ लोग सर्द‍ियों में गरम पानी चेहरे पर डाल लेते हैं। इससे आपकी स्‍क‍िन बाहर से भले ही खराब न हो पर अंदर की लेयर को नुकसान पहुंच सकता है। इसल‍िए गरम पानी से चेहरे को बचाएं। 

3. म‍िथ- चेहरे और बॉडी के ल‍िए एक ही प्रोडक्‍ट यूज कर सकते हैं (Using same product for face and body)

बॉडी और चेहरे का पीएच बैलेंस अलग होता है। आप दोनों के ल‍िए एक ही प्रोडक्‍ट यूज नहीं कर सकते। बहुत से लोग चेहरे पर वही साबुन लगा लेते हैं ज‍िससे वो शरीर साफ करते हैं। पहली बात तो ये क‍ि चेहरे पर साबुन का इस्‍तेमाल न करें। साबुन फेस स्‍क‍िन के ल‍िए हार्श होता है। इससे आपकी स्‍क‍िन ड्राय हो सकती है। आप चेहरे के ल‍िए माइल्‍ड फेसवॉश यूज करें। चाहे ज‍ितना लेट हो पर फेसवॉश के ल‍िए अलग से समय जरूर न‍िकालें। 

इसे भी पढ़ें- मुंहासों, टैनिंग, डैंड्रफ और रूखेपन जैसी 5 आम समस्याओं का खास घरेलू उपाय है कॉफी, जानें कैसे करें प्रयोग

4. म‍िथ- सब एक ही तरह का बॉडी या फेस वॉश यूज कर सकते हैं (Same product for all skin type)

ज्‍यादातर घरों में एक ही तरह का साबुन और फेसवॉश आता है ज‍िसे सब सदस्‍य इस्‍तेमाल करते हैं पर ऐसा करना आपके ल‍िए ठीक नहीं है। सबका स्‍क‍िन टाइप अलग होता है उसके मुताब‍िक आपको बॉडी या फेसवॉश का चयन करना चाह‍िए। अगर ऑयली स्‍क‍िन वाला व्‍यक्‍त‍ि ड्राय स्‍क‍िन वाला फेसवॉश यूज करेगा तो उसकी स्‍किन और ऑयली हो जाएगी। इसलिए अपनी स्‍क‍िन टाइप के मुताब‍िक प्रोडक्‍ट चुनें। 

क्‍लीज‍िंग के फायदे (Benefits of cleansing)

क्‍लीज‍िंग से आपकी स्‍क‍िन हेल्‍दी रहती है। इससे त्‍वचा में र‍िंकल और फाइन लाइन जल्‍दी नहीं बनते। क्‍लीज‍िंग से पोर्स का साइज ज्‍यादा नहीं बढ़ता। अगर आपकी त्‍वचा साफ रहेगी तो आप स्‍क‍िन केयर प्रोडक्‍ट का इस्‍तेमाल कर पाएंगे। अगर अंदर से स्‍क‍िन पोर्स गंदे होंगे तो उसमें प्रोडक्‍ट जा ही नहीं पाएगा। इसके साथ ही अगर आप क्‍लीज‍िंग को रोज सही तरह से फॉलो करेंगे तो आपको स्‍किन प्रॉब्‍लम जैसे रेडनेस, खुजली, मुंहासे, मवाद आद‍ि से छुटकारा म‍िलेगा।

इन बातों का ध्‍यान रखकर आप फेस और बॉडी क्‍लीज‍िंग के प्रोसेस को सही तरह से कर सकते हैं। 

Read more on Skin Care in Hindi 

 
Disclaimer