किसी भी रिश्ते में इनसिक्योरिटी का कारण बनते हैं ये 4 कारण, दूर करें नहीं तो पड़ेगा पछताना

किसी भी रिश्ते को बर्बाद करने में इनसिक्योरिटी एक अहम भूमिका निभाती है। ये 4 कारण इनसिक्योरिटी को बढ़ावा देते हैं।  

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaPublished at: Jan 22, 2020Updated at: Jan 22, 2020
किसी भी रिश्ते में इनसिक्योरिटी का कारण बनते हैं ये 4 कारण, दूर करें नहीं तो पड़ेगा पछताना

हम सभी खुद को लेकर बहुत ही आश्वस्त और सिक्योर महसूस करते हैं लेकिन कभी न कभी संदेह ऐसा कोई रास्ता निकाल ही लेता है कि आपके जीवन में इनसिक्योरिटी दस्तक दे देती है और आपके लिए मुश्किलें पैदा हो जाती हैं। हम सभी कभी न कभी खुद को इनसिक्योर जरूर महसूस करते हैं और इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता है कि हम भले ही कितने आश्वस्त क्यों न हों किसी भी रिश्ते में इनसिक्योरिटी अपनी जगह बना ही लेती है। हम सभी की जिंदगियों में ऐसे क्षण आते हैं, जब हम खुद को बहुत कमजोर पाते हैं और सभी चीजों में खुद को असुरक्षित महसूस करते हैं।   

Insecurity

किसी भी रिश्ते में आई इनसिक्योरिटी हमारे सुख-चैन को छीन लेती है और हमारे सोचने व समझने की क्षमता भी क्षीण हो जाती है, जिसके कारण हम हर पल अपने पार्टनर पर संदेह करते रहते हैं। ऐसा होने पर हमें हमारे पार्टनर की विश्वसनियता पर शक होना शुरू हो जाता है, जो कि किसी भी रिश्ते को खात्मे की ओर ले जाता है। रिश्ते में शक, किसी की भी जिंदगी बर्बाद करने के लिए काफी है और इस शक की कोई दवा भी बाजार में मौजूद नहीं है। ऐसे बहुत से कारण हैं, जो किसी रिश्ते को अंदर से खाते जाते हैं और इसलिए ये बहुत जरूरी कि असुरक्षा के इन कारणों को समझा जाए। इन कारणों को समझकर आप अपने रिश्ते में आई इनसिक्योरिटी को दूर कर सकते हैं और अपने रिश्ते को सफल बना सकते हैं।

रिश्ते में इनसिक्योरिटी के होते हैं ये 4 कारण

रिश्ते में सम्मान की कमी

किसी रिश्ते में इनसिक्योरिटी का मुख्य कारण होता है एक-दूसरे का सम्मान न होना। किसी भी व्यक्ति के लिए कम सम्मान या कम आत्मविश्वास उसके पालन-पोषण और बचपन में किसी घटना के कारण हो सकता है। इसके साथ ही इसके पीछे ये भी कारण हो सकता है कि उसके साथ सही से बर्ताव न किया गया हो या फिर उसके आस-पास मौजूद लोगों ने निरंतर उसे नीचा दिखाने की कोशिश की हो। इसी कारण से आगे चलकर रिश्तों में दरार पैदा होती है और इनसिक्योरिटी भी होती है।

इसे भी पढ़ेंः इन 5 राशियों के लोगों को डेट पर जाना होता है बेहद पसंद, जानें क्या कहती है आपकी राशि

Insecurity

भावनात्मक भार पैदा कर सकता है इनसिक्योरिटी

भावनात्मक भार किसी भी व्यक्ति को दबाने के लिए काफी है क्योंकि ये एक ऐसा अतिरिक्त भार है, जिसे हर व्यक्ति को अपनी जिंदगी में कभी न कभी लेना ही पड़ता है। किसी रिश्ते में रहते हुए अतीत का बुरा अनुभव आपके पार्टनर की इनसिक्योरिटी के पीछे का कारण बन सकता है फिर चाहे वह अनुभव दर्द भरा हो या फिर दिल टूटने का। किसी रिश्ते में भावनात्मक रूप से अतिरिक्त भार का मतलब यह नहीं है कि यह केवल आपके रोमांटिक रिश्ते के कारण ही हो सकता है, यह दोस्ती से लेकर पेरेंटिंग किसी भी तरह के संबंध में हो सकता है, जो इस सब का मुख्य कारण हो सकता है।

पार्टनर से किसी की तुलना न करें

अगर किसी व्यक्ति पर भावनात्मक भार है या फिर रिश्ते में सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है तो उन्हें दिक्कतें आएंगी और रिश्ता खात्मे की ओर चला जाएगा फिर चाहे आपके साथ आपके पार्टनर का अनुभव कितना भी सुखद क्यों न रहा हो। ऐसा तब होता है जब आप अपने पार्टनर की तुलना अपने एक्स से करने लगते हैं और साथ ही एक्स के साथ रहने को लेकर खुद से सवाल पूछते हैं।

इसे भी पढ़ेंः मैट्रिमोनियल वेबसाइट पर जीवनसाथी ढूंढते वक्त ये 5 टिप्स जरूर करें फॉलो, फेक अकाउंट का लग जाएगा पता

परफेक्ट होने की जिद न पकड़े

कुछ लोग अपने जीवन में परफेक्शन को बहुत ज्यादा तवज्जों देते हैं। परफेक्ट होना और अपने जीवन पर पूरा कंट्रोल होना बहुत जरूरी होता है लेकिन जब चीजें उनके मनमुताबिक नहीं चलती हैं और हर चीज उनके कंट्रोल से बाहर हो जाती है तो वह खुद को ही नुकसान पहुंचाने लगते हैं और अपने आप को छोटा महसूस करने लगते हैं। इसके साथ ही इनसिक्योरिटी जीवन में घर कर जाती है और आपका रिश्ता प्रभावित होना शुरू हो जाता है।

Read More Articles on Relationship in Hindi

Disclaimer