Weight loss Tips: इंटरमिटेंट फास्टिंग के बाद भी नहीं हो पा रहा है वेट लॉस, हो सकते हैं 7 कारण

अगर आपको भी लग रहा है कि इंटरमिटेंट फास्टिंग करना बेकार है और यह आपके वेट लॉस प्लान को फेल कर रही है, तो जानिए इसके पीछे क्या है वजह।

 
Monika Agarwal
वज़न प्रबंधनWritten by: Monika AgarwalPublished at: Feb 19, 2021Updated at: Feb 19, 2021
Weight loss Tips: इंटरमिटेंट फास्टिंग के बाद भी नहीं हो पा रहा है वेट लॉस, हो सकते हैं 7 कारण

फास्टिंग या उपवास (जिसे लोग व्रत भी कहते हैं) करना हमारी भारतीय संस्कृति का हमेशा से ही हिस्सा रहा है। लेकिन आज के समय में एक नया ट्रेंड चला है इंटरमिटेंट फास्टिंग। जिसे वजन कम करने का सबसे आसान तरीका माना जाता है। यदि आपने भी शुरू शुरू में शौकिया इंटरमिटेंट फास्टिंग अपनायी और अब इसे छोड़ना चाह रहे हैं। आप महसूस कर रहे हैं कि यह कारगर नहीं है क्योंकि इस डाइट से आपको ज्यादा कुछ परिणाम देखने को नहीं मिले हैं। तो कमी इंटरमिटेंट फास्टिंग (Intermittent fasting) में नहीं बल्कि कमी आपकी तरफ से रही होगी।यदि आपके लिए इस डाइट ने काम नहीं किया तो उसके पीछे बहुत से कारण हो सकते हैं जिसमें से कुछ मुख्य कारण निम्न हैं। 

inside2eatingtime

1. आप कैलोरीज़ को काउंट नहीं कर रहे हैं (Taking More Calories)

इस डाइट का मुख्य काम यह होता है कि जब आप खाते हैं तो यह आपकी कैलोरीज़ को नियंत्रित रखती है। लेकिन यदि आप नॉन फास्टिंग वाले समय में कुछ ज्यादा ही खा लेते हैं और आप उस समय कैलोरीज़ का ध्यान ही नहीं रखते हैं तो हो सकता है आपने सारे फास्टिंग (Intermittent fasting) वाले समय का योगदान खो दिया हो इसलिए कैलोरीज़ काउंट करना भी बहुत आवश्यक है। 

2. आप पर्याप्त मात्रा में एक्सरसाइज नहीं कर रहे हैं (Less Exercising)

अगर आप वजन कम करना चाह रहे हैं तो आपको डाइट करने के साथ साथ एक्सरसाइज भी करनी जरूरी होती है। यदि आप केवल डाइट कर रहे हैं और शारीरिक गतिविधियों पर ज्यादा ध्यान नहीं दे रहे हैं तो हो सकता है कि इसलिए भी आपकी यह डाइट काम न कर रही हो। आपको शारीरिक रूप से भी एक्टिव (Should be More Active) होना पड़ेगा। आप इसके लिए एक फिटनेस ट्रेकर का प्रयोग कर सकते हैं जिससे आपको हर रोज ज्यादा से ज्यादा चलने की प्रेरणा मिलती रहेगी। 

इसे भी पढ़ें : कहीं वजन कम करने के चक्कर में अपनी सेहत को तो नहीं कर रहे हैं नजरअंदाज? इन 7 बातों का हमेशा रखें ध्यान

3. आप सही प्रकार के खाद्य पदार्थ नहीं खा रहे हैं (Not Eating Right Diet)

यदि आप किसी प्रोटीन डाइट की बजाय अधिक रिफाइंड शुगर और रिफाइंड कार्ब ले रहे हैं तो आपको वजन कम होने के परिणामों को भी भूल जाना चाहिए। हम सबसे बड़ी ग़लती इस डाइट के दौरान यह करते हैं कि नॉन फास्टिंग (intermittent fasting) समय में हमें क्या खाना है, हम इस बात पर गौर नहीं करते हैं। जो हमें पसंद होता है वह सब चीजें खा लेते हैं। इसलिए ही आपको नतीजे नहीं दिखाई देते हैं। आपको ज्यादा से ज्यादा हेल्दी भोजन खाने की कोशिश करनी चाहिए जो आसानी से आपके शरीर द्वारा पचाया जा सके।

4. ज्यादा कैलोरीज़ का सेवन कर रहे हैं  (Taking Too Much Calories)

आपको यह पता ही होगा कि ब्रेकफास्ट आपके दिन की सबसे मुख्य मील होती है और आपको इसे बड़े ही ध्यान से खाना चाहिए। लेकिन यदि आप इस मील को खाने में लापरवाही बरतते हैं या इस समय आप प्रोटीन आदि की जगह बहुत कुछ अन हेल्दी खा (Unhealthy diet) लेते हैं तो आप ज्यादा वजन नहीं कम कर पाएंगे। इसके साथ ही आपको ध्यान देना चाहिए कि आपकी शाम की मील सबसे लाइट होनी चाहिए। 

insidehowtolooseweight

5. आप सही से नहीं सो रहे हैं (Improper Sleep)

आपकी नींद भी आपकी सेहत को बहुत रूप से प्रभावित करती है। जैसे यदि आप एक चैन की व ढंग की नींद सोते हैं तो आपका मेटाबॉलिज्म (Metabolism) बढ़ता है, आपको भूख भी सामान्य मात्रा में ही लगती है और आपके हार्मोन्स भी नियमित रहते हैं। लेकिन यदि आप नहीं सोते हैं तो इन सभी चीजों का उल्टा भी हो सकता है और इससे आपका मोटापा भी बढ़ सकता है। इसलिए हेल्दी रहने के लिए आपको पर्याप्त मात्रा में आराम (Healthy Sleep) करना भी जरूरी होता है। यदि आप केवल डाइट से उम्मीदें लगाए बैठे है तो हो सकता है आपको निराश होना पड़े। 

इसे भी पढ़ें : Weight Loss: वजन घटाने में आपकी मदद करेंगे ये 11 देसी फूड्स, इनमें कैलोरीज है कम और पोषक तत्व हैं भरपूर

6. आपके हार्मोन्स अनियमित हैं (Harmonal Imbalance)

यदि आपको हार्मोन्स में समस्या है तो आपको कोई भी डाइट फॉलो करने से पहले एक बार किसी डॉक्टर या किसी प्रोफेशनल की हेल्प ले लेनी चाहिए। क्योंकि आप जो भी खाते हैं उनका सीधा असर आपके हार्मोन्स पर पड़ता है। इसलिए आपको कितना खाना है व क्या खाना है इसका बहुत अधिक ध्यान रखना पड़ता है और खास कर तब जब आपका लक्ष्य वजन कम करना हो। आपके लिए डाइट के साथ साथ एक हेल्दी लाइफस्टाइल (Healthy lifestyle) बनाना भी बहुत आवश्यक हो जाता है। 

7. तनावग्रस्त हैं (Feeling Stress)

यदि आप अक्सर छोटी-छोटी बातों पर बहुत ज्यादा स्ट्रेस लेते हैं तो भी इंटरमिटेंट फास्टिंग (Intermittent fasting) के बावजूद आपका वजन कम नहीं होगा दरअसल स्ट्रेस की वजह से शरीर में कॉर्टिसोल हार्मोन का लेवल बढ़ जाता है और बार-बार खाने की इच्छा यानी कि क्रेविंग भी बढ़ जाती है।जिसकी वजह से आप थोड़ी थोड़ी देर में कुछ ना कुछ अन हेल्दी खाते रहते हैं। वैसे भी कॉर्टिसोल को स्ट्रेस हार्मोन कहते हैं।

तो देखा आपने की केवल डाइट ही नहीं बल्कि वजन कम करने के लिए आपको अपना सारा लाइफस्टाइल हेल्दी रूप से जीना होगा नहीं तो केवल डाइट अकेली कुछ नहीं कर सकती है। इसलिए स्वयं को पूरी तरह से स्वस्थ रखने पर जोर दें। 

Read more articles on Weight-Management in Hindi

Disclaimer