बिना डॉक्टर की सलाह के दवा खाने से कोरोना वायरस के एक मरीज की मौत, जानें क्यों खतरनाक है सेल्फ मेडिकेशन

कोरोना वायरस से बचने के लिए बिना डॉक्टर की सलाह के दवा या नुस्खों का प्रयोग मंहगा पड़ सकता है। जानें अमेरिकी शख्स की इसी गलती ने कैसे ले ली उसकी जान।

Anurag Anubhav
Written by: Anurag AnubhavUpdated at: Mar 25, 2020 15:50 IST
बिना डॉक्टर की सलाह के दवा खाने से कोरोना वायरस के एक मरीज की मौत, जानें क्यों खतरनाक है सेल्फ मेडिकेशन

कोरोना वायरस का डर सभी को परेशान कर रहा है। चूंकि इस वायरस को रोकने के लिए अभी तक कोई वैक्सीन नहीं बनाई जा सकी है और न ही कोविड-19 को ठीक करने के लिए कोई स्पेशल दवा बनाई जा सकी है, इसलिए भी लोग इस वायरस से डरे हुए हैं। आए दिन अलग-अलग देश कोरोना वायरस के मरीजों के लिए कोई न कोई दवा बता रहे हैं, मगर इनमें से कौन सी दवा सही है और कौन सी गलत, इसकी बेहतर समझ सिर्फ डॉक्टर को हो सकती है।

बिना डॉक्टर की सलाह के इंटरनेट पर पढ़कर या खबरों में देखकर कोई दवा लेना आपके जीवन के लिए खतरनाक हो सकता है। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 मार्च के अपने राष्ट्र के नाम संबोधन में भी इस बात पर जोर दिया था कि कोरोना वायरस के लक्षण दिखने पर अपने आप कोई दवा न लें। सेहत के साथ जरा सी भी छेड़छाड़ आपकी जान ले सकती है। उन्होंने लोगों को आगाह किया था कि बिना डॉक्टर की सलाह के कोी भी दवा न लें।

हाल में ही यूएस के एरिजोना से एक ऐसा ही मामला सामने आया है, जो बताता है कि बिना चिकित्सीय परामर्श के कोई भी दवा लेना कितना घातक हो सकता है।

गलत दवा का सेवन करने से हुई मौत

पिछले दिनों अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा था कि कोरोना वायरस को ठीक करने में क्लोरोक्वाइन (chloroquine) नामक दवा "गेम चेंजर" साबित हो सकती है। क्लोरोक्वाइन एक ऐसी दवा है, जिसका इस्तेमाल मलेरिया के इलाज के लिए किया जाता है। इसके अलावा इसके एक नॉन मेडिकेटेड फॉर्म का प्रयोग मछलियों का टैंक साफ करने में किया जाता है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक ताजा मामले में लगभग 60 साल के एक बुजुर्ग दंपत्ति ने धोखे में तालाब साफ करने वाले क्लोरोक्वाइन दवा का सेवन कर लिया, जिसके कारण व्यक्ति की मौत हो गई। इसके अलावा मरने वाले व्यक्ति की पत्नी भी गंभीर हालत में बनी हुई है। द गार्डियन की रिपोर्ट के अनुसार इस दवा को खाने के आधे घंटे में ही दोनों की हालत बिगड़ने लगी थी।

इसे भी पढ़ें:- कोरोना वायरस के 10% मामले बिना लक्षण वाले लोगों से फैल रहे हैं, शोधकर्ताओं का दावा

आपको बता दें कि अमेरिका में इन दिनों कोरोना वायरस बहुत तेजी से फैल रहा है। अब तक वहां 50 हजार से भी ज्यादा लोग इस संक्रमण का शिकार हो चुके हैं और 750 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। यही कारण है कि घबराहट और चिंता में इस दंपत्ति ने डॉक्टर से संपर्क करने के बजाय गलत दवा का सेवन कर लिया।

बिना डॉक्टर की सलाह के कोई भी...कोई भी दवा न लें

WHO सहित दुनियाभर के तमाम एक्सपर्ट्स इस बात पर लगातार जोर दे रहे हैं कि कोरोना वायरस अभी बिल्कुल नया वायरस है, जिसके बारे में हमें बहुत ज्यादा नहीं पता है। इसलिए इसके लक्षण दिखने पर आपको सिर्फ और सिर्फ अच्छे डॉक्टर्स से संपर्क करना चाहिए। ऐसी स्थिति में अपने से कोई दवा लेना या घरेलू नुस्खे का प्रयोग करना सेहत के लिए खतरनाक साबित हो सकता है और जानलेवा भी हो सकता है।

इसे भी पढ़ें:- कोरोना वायरस में बुखार और दर्द के लिए न करें Ibuprofen दवा का प्रयोग, जानें किस दवा को बताया सही

अपने से सिर्फ पैरासिटामॉल ले सकते हैं

WHO ने पिछले दिनों एक ट्वीट कर लोगों को इस बारे में बताया भी था कि वर्तमान परिस्थितियों में बुखार आने पर आप अगर अपने से दवा लेते हैं, तो सिर्फ पैरासिटामॉल का ही प्रयोग करें। इसके अलावा कोई भी दूसरी दवा आपको जब तक चिकित्सक न दे, तब तक नहीं लेनी चाहिए।

Source: The Guardian

Read more articles on Health News in Hindi

Disclaimer