क्या है फोटो सेंस्टिविटी? जानें लक्षण, कारण और उपचार का तरीका

सूरज की रोशनी के संपर्क में आने पर आपकी भी स्किन पर लाल चकत्ते और खुजली हो जाती है तो आप फोटो सेंस्टिविटी का शिकार हैं। जानें बचाव के उपाय।

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaPublished at: Feb 14, 2020Updated at: Feb 14, 2020
क्या है फोटो सेंस्टिविटी? जानें लक्षण, कारण और उपचार का तरीका

फोटो सेंस्टिविटी सूरज से आने वाली अल्ट्रावॉयलेट किरणों (यूवी किरणों)और अन्य प्रकाश स्त्रोतों से होने वाली अत्यंत संवेदनशीलता है। अधिकतर लोगों को सूरज की रोशनी के ज्यादा देर तक संपर्क में रहने से सनबर्न का खतरा अधिक बढ़ जाता है। यूवी किरणों के संपर्क में आने से कभी-कभी त्वचा क्षतिग्रस्त हो जाती है और स्किन कैंसर का खतरा बढ़ जाता है। वे लोग, जो फोटो सेंस्टिव होते हैं उन्हें सूरज की थोड़ी बहुत रोशनी के भी संपर्क में आने से स्किन रैशेज और बर्न हो जाता है। अगर आप भी सोच रहे हैं कि आखिर फोटो सेंस्टिविटी क्या है और इसका उपचार किया है तो आप सही जगह पर हैं। इस लेख के जरिए आप इस समस्या से जुड़ी हर छोटी-बड़ी बात को आसानी से जान सकते हैं।

Photosensitivity

फोटो सेंस्टिविटी के प्रकार (types of photosensitivity)

सूरज के प्रति संवेदनशीलता में कुछ केमिकल भी योगदान देते हैं। ये दो अलग-अलग प्रकार के फोटो सेंस्टिव प्रतिक्रिया का कारण बन सकते हैं, फोटो टॉक्सिक और फोटो एलर्जिक।

फोटो टॉक्सिक (Phototoxic)

फोटो टॉक्सिक रिएक्शन तब होता है जब हमारे शरीर में कोई नया केमिकल सूरज से आने वाली यूवी किरणों के साथ हरकत में आता है। डॉक्सीसाइक्लिन और टेटरासाइक्लिन जैसी दवाएं इस प्रकार के रिएक्शन का सबसे आम कारण होती हैं। इसके परिणामस्वरूप स्किन पर रैशेज हो सकते हैं, जो कि गंभीर सनबर्न जैसे दिखते हैं। ये सूरज की रोशनी के संपर्क में आने के 24 घंटे के भीतर ही दिखाई देने लगते हैं।

फोटो एलर्जिक (Photoallergic)

फोटोएलर्जिक रिएक्शन कुछ दवाओं के दुष्प्रभावों के कारण भी हो सकता है। ये सनस्क्रीन और ब्यूटी उत्पादों में पाए जाने वाले केमिकल के कारण भी हो सकता है। इस प्रकार के रिएक्शन सामने आने में कुछ दिन लगते हैं लेकिन सूरज की रोशनी के संपर्क में आने के बाद हल्के-हल्के रैशेज हो सकते हैं।

फोटो सेंस्टिविटी के लक्षण (symptoms of photosensitivity)

फोटो सेंस्टिविटी के लक्षण हल्के से गंभीर तक अलग-अलग हो सकते हैं। सबसे आम लक्षण है त्वचा पर लाल रंग के चकत्ते होना या फिर सनबर्न। रैशेज हुए तो उनमें खुजली नहीं होगी। कुछ मामलों में सनबर्न इतना गंभीर हो जाता है कि त्वचा काली पड़ने लगती है। कुछ मामलों में त्वचा उखड़ने लगती है, जिसके कारण आपके शरीर में जलन होना स्वभाविक है। सूरज की रोशन के संपर्क में आने से प्रभाव भी लोगों पर अलग-अलग होते हैं। कुछ लोगों को सूरज की कम रोशनी के संपर्क में आने से रैशेज या सनबर्न हो सकता है जबकि कुछ को बहुत देर के बाद किसी प्रकार का रिएक्शन होता है।

इसे भी पढ़ेंः 25 की उम्र में बढ़ गया है ब्लड प्रेशर तो आज ही बदल दें अपनी ये 10 आदतें, कई घातक रोगों से बचेंगे आप

Photosensitivity tips

किन कारणों से होती है फोटो सेंस्टिविटी (causes of photosensitivity)

फोटो सेंस्टिविटी कई दवाओं के आम दुष्प्रभावों के कारण होती है, जिसमें

  • कुछ एंटी-बायोटिक्स
  • कीमोथेरेपी की दवाएं
  • मूत्रवर्धक औषधियां

कुछ चिकित्सा स्थितियों के कारण भी फोटो सेंस्टिविटी हो सकती है, जिसमें

ल्यूपस एरीथेमैट्युस (Lupus erythematous)

ल्यूपस एक कनेक्टिव टिश्यू रोग है। जिसमें सूरज की रोशनी के संपर्क में आने वाले अंगों की त्वचा पर लाल या बैंगनी चकत्ते हो सकते हैं।

पॉलीमोर्फस लाइट इरप्शन (Polymorphous light eruption)

इस स्थिति वाले लोगों को सूरज की रोशनी के संपर्क में आने से खुजली वाले चकत्ते हो सकते हैं। जब-जब आप सूरज की रोशनी के संपर्क में रहेंगे तो आपकी यूवी टॉलरेन्स बढ़ती जाएगी। इसके लक्षण आमतौर पर कम ही दिखते हैं। पुरुषों के मुकाबले महिलाओं के इस स्थिति से पीड़ित होने की संभावना दो से तीन गुना ज्यादा होती है।

एक्टिनिक प्रुरिगो (Actinic prurigo)

इस स्थिति से पीड़ित लोगों की स्किन पर सूरज के संपर्क में आने के बाद लाल धब्बे पड़ जाते हैं, जो कि पपड़ीदार पैच में बदल सकते हैं। यह विकार साल भर हो सकता है, यहां तक कि सर्दियों में भी जब सूरज के संपर्क में आने की संभावना कम होती है।

फोटो सेंस्टिविटी का निदान (photosensitivity diagnosed)

आपके डॉक्टर को आपके पूरी मेडिकल हिस्ट्री और सही निदान के लिए आप जो दवा ले रहे हैं उसकी समीक्षा करने की जरूरत होगी। डॉक्टर सूरज की रोशनी के संपर्क के संबंध में रैशेज के विकास और पैटर्न पर ध्यान देने की जरूरत होगी। कुछ मामलों में आपका डॉक्टर स्किन बायोप्सी की भी सलाह दे सकता है। 

इसे भी पढ़ेंः क्या लहसुन खाने से बढ़ता है ब्लड प्रेशर? पढ़ें एक्सपर्ट की राय और जानें लहसुन से ब्लड प्रेशर कम करने का तरीका

फोटो सेंस्टिविटी का उपचार (treatment of photosensitivity)

जब कोई स्किन रिएक्शन पहले ही विकसित हो चुका हो तो उपचार ही आपकी असहजता और त्वचा में जलन को कम कर सकता है। केमिस्ट की दुकान से ली गई दवाईयां दर्द कम कर सकती हैं और जलन को कम करने के लिए कोर्टिकोस्टेरॉयड क्रीम की सलाह दी जा सकती है। कुछ केमिकल फोटो सेंस्टिविटी का कारण बनते हैं और उनसे दूर रहना चाहिए। ये केमिकल कुछ दवाओं और उत्पाद में पाए जाते हैं जैसे कीमोथेरेपी की दवाएं। हालांकि कभी-कभार ये संभव नहीं होता कि इन दवाओं को बंद किया जा सके।

फोटो सेंस्टिविटी को कैसे रोकें (prevention of photosensitivity)

फोटो सेंस्टिविटी की रोकथाम का सबसे अच्छा तरीका है सूरज की रोशनी में कम से कम समय बिताया जाए। वे लोग, जिन्हें फोटो सेंस्टिविटी है उन्हें बाहर रहते हुए हमेशा सनस्क्रीन का प्रयोग करना चाहिए। रिएक्शन से बचने के लिए अपनी स्किन को ढक कर रखें। फोटो सेंस्टिविटी से पीड़ित लोगों को लक्षण कम करने के लिए टोपी, चश्मे, और पूरी बाजू की कमीजें पहननी चाहिए। यह साधारण टिप्स आपकी स्किन को सुरक्षित रखेंगे और एक हेल्दी जीवन देंगे।

Read More Articles On Other Diseases in Hindi

Disclaimer