Knee Replacement Surgery: क्या है घुटनों की रिप्लेसमेंट सर्जरी से जुड़े खतरे? जानें क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स

अगर आप भी अपने घुटनों के दर्द से परेशान हैं और घुटनों की रिप्लेसमेंट सर्जरी कराना चाहते हैं तो जान लें इससे जुड़ी सभी जरूरी जानकारियां।

Vishal Singh
विविधWritten by: Vishal SinghPublished at: Aug 17, 2020
Knee Replacement Surgery: क्या है घुटनों की रिप्लेसमेंट सर्जरी से जुड़े खतरे? जानें क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स

घुटने की रिप्लेसमेंट सर्जरी अब एक मानक प्रक्रिया है, लेकिन ऑपरेटिंग रूम में प्रवेश करने से पहले आपको जोखिमों के बारे में पता होना चाहिए। घुटने के प्रतिस्थापन सर्जरी घुटने के जोड़ के लिए इलाज के विकल्पों में से एक है। संयुक्त उपास्थि और अंतर्निहित हड्डी के टूटने के कारण ऑस्टियोआर्थराइटिस विकसित होता है। संयुक्त राज्य अमेरिका में हर साल 6,00,000 से ज्यादा लोग घुटने के प्रतिस्थापन सर्जरी से गुजरते हैं। अमेरिकन एकेडमी ऑफ ऑर्थोपेडिक सर्जन (AAOS) के अनुसार, कुल घुटने के प्रतिस्थापन वाले 90 प्रतिशत से ज्यादा लोगों को ऑपरेशन के बाद काफी कम दर्द होगा और चारों ओर घूमने और रोजाना के कामों को करने की ज्यादा क्षमता होगी। 

आपको बता दें कि घुटने की रिप्लेसमेंट सर्जरी में कई तरह के खतरे होते हैं। ऐसे में कुछ मामलों का परिणाम सीधे सर्जरी से होता है, जबकि दूसरे शरीर की प्रतिक्रिया से लेकर ऑपरेशन तक होता है।हम आपको इस लेख में घुटने की रिप्लेसमेंट सर्जरी के बारे मे बताएंगे जिसमें इसे जुड़े खतरे की जानकारी दी जाएगी। इससे पहले जानते हैं कि घुटनों की रिप्लेसमेंट सर्जरी क्या है।

घुटनों की रिप्लेसमेंट सर्जरी क्या है? (What Is Knee Replacement Surgery In Hindi)

पार्क ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल के ऑर्थोपेडिक डॉक्टर देबाशीष चंदा (Park Group Of Hospital, Orthopedic, Doctor  Debashish Chanda), बताते हैं कि ये सर्जरी ऑस्टियोआर्थराइटिस में की जाती है और ये उन मामलों में की जाती है जिनमें घुटनों के दर्द के लिए कोई भी इलाज काम न आए। इस सर्जरी के पीछे दूसरा कारण है कि घुटनों में असंतुलन होने के कारण, चोट लगने के बाद दवाओं का असर न होने पर इसे किया जाता है। डॉक्टर चंदा कहते हैं कि ऐसे में लोगों को घबराने की जरूरत नहीं होती है, बल्कि इस सर्जरी में सिर्फ एक सर्फेस को बदला जाता है। 

कैसे की जाती है घुटनों की रिप्लेसमेंट सर्जरी? (How Is Knee Replacement Surgery Done)

ऑर्थोपेडिक्स, जॉइंट रिप्लेसमेंट और स्पाइन के सीनियर कंसल्टेंट डॉक्टर यश गुलाटी बताते हैं कि ये सर्जरी कई सालों से बिना रुकावट की जा रही है जिसे काफी कामयाब माना जाता है। डॉक्टर यश गुलाटी बताते हैं कि इस सर्जरी का इस्तेमाल उन लोगों के लिए किया जाना चाहिए जिन्हें बहुत ज्यादा तेज दर्द हो, चलने-फिरने में परेशानी हो या फिर उन्हें घुटने की किसी मूवमेंट में परेशानी करें। इसके साथ ही ये जरूरी है कि आपको इस सर्जरी के बाद कई सावधानियां बरतनी चाहिए। डॉक्टर यश गुलाटी बताते हैं कि ये सर्जरी काफीआधुनिक तरीके से की जाती है जो काफी कामयाब साबित हो रही है, इससे मरीज दर्द रहित जीवन जीने में मदद मिलती है। 

इसे भी पढ़ें: बढ़ती उम्र नहीं इन 3 कारणों से होता है घुटने के पीछे दर्द? इस दर्द से छुटकारा पाने के लिए फॉलो करें ये 4 टिप्स

सर्जरी के संभावित जोखिम (Risks Of Knee Surgery)

दर्द और सूजन

किसी भी सर्जरी के बाद दर्द और सूजन एक आम समस्या है, लेकिन इन लक्षणों की गंभीरता एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में काफी अलग हो सकती है। डॉक्टर आमतौर पर सर्जरी के बाद किसी भी असुविधा का प्रबंधन करने में मदद करने के लिए दर्द निवारक निर्धारित करते हैं। यह नुस्खा आमतौर पर केवल छोटे समय के लिए ही होता है, लेकिन अगर सर्जरी के बाद कुछ महीनों तक दर्द जारी रहता है, तो डॉक्टर दूसरे उपचार आपके दे सकते हैं। 

खून के थक्के बनना

सर्जरी के बाद खून के थक्के घुटने के रिप्लेसमेंट सर्जरी के सबसे बड़े खतरों में से एक हो सकते हैं। अगर सर्जरी एक रक्त वाहिका को नुकसान पहुंचाती है या प्रक्रिया के बाद व्यक्ति कई दिनों तक नहीं चलता है, तो रक्त प्रवाह धीमा कर सकती है, जिसके कारण रक्त का थक्का बन सकते हैं। ऐसे में आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करने की जरूरत होती है। 

इसे भी पढ़ें: घुटने के दर्द के साथ आसानी से कर सकते हैं ये 3 एक्सरसाइज, जानें क्या है करने का तरीका

संक्रमण

त्वचा में सर्जरी के बाद कोई भी बैक्टीरिया को प्रवेश करने की अनुमति आसानी से मिल सकती है, जो एक संक्रमण का कारण बन सकता है। सर्जन सर्जरी के दौरान इस जोखिम को कम करने के लिए कई तरह की सावधानी बरततें हैं। ऐसे में कुछ संक्रमण ये हो सकते हैं:

  • लालपन।
  • सूजन।
  • सर्जिकल साइट से छुट्टी।
  • बुखार और ठंड लगना।

Read More Articles On Miscellaneous in Hindi

Disclaimer