बच्चों में डेंगू के इन 6 गंभीर लक्षणों को न करें नजरअंदाज, तुरंत लें डॉक्टर की सलाह

Dengue Symptoms:  बच्चों में डेंगू के लक्षण नजर आने पर तुरंत डॉक्टर से सलाह लें। आइए जानते हैं बच्चों में डेंगू के क्या लक्षण होते हैं। 

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraUpdated at: Nov 03, 2022 12:25 IST
बच्चों में डेंगू के इन 6 गंभीर लक्षणों को न करें नजरअंदाज, तुरंत लें डॉक्टर की सलाह

Dengue Symptoms: डेंगू बुख़ार एक संक्रमण है, मच्छर के कारण से फैलती है। यह किसी भी व्यक्ति को प्रभावित कर सकती है, लेकिन बच्चों की कमजोर इम्यूनिटी की वजह से यह उनके लिए घातक हो सकता है। इसके अलावा बड़ों की तुलना में बच्चे शाम के समय में घर से जाकर खेलते हैं, जिसकी वजह से यह एडीज मादा मच्छर के संपर्क में आ सकते हैं। दअरअसल, डेंगू के मच्छर शाम या फिर सुबह के समय अधिक काटते हैं। ऐसे में बच्चों को डेंगू से सतर्क रहने की जरूरत होती है। बच्चों में डेंगू के लक्षण दिखने पर तुरंत डॉक्टर से सलाह लेने की जरूरत होती है। इस विषय पर जानकारी के लिए हमने  नोएडा स्थित न्यू हॉस्पिटल के पीडियाट्रिशियन डॉक्टर विकास कुमार अग्रवाल (Neo Hospital Pediatrician Doctor Vikas Kumar Aggarwal) से बातचीत की। आइएजानते हैं इस बारे में- 

बच्चों में डेंगू के लक्षण क्या हैं?

डॉक्टर विकास अग्रवाल का कहना है कि आमतौर पर डेंगू के लक्षण कंफ्यूज करने वाले होते हैं, क्योंकि इसके लक्षण सामान्य बुखार की तरह होते हैं। मच्छर के काटने के करीब 2 से 4 दिन बाद इसके लक्षण सामने आने लगते हैं। इसके अलावा बीमारी की गंभीरता पर भी लक्षण नजर आते हैं। बच्चों में डेंगू के लक्षण तेज बुखार हो सकता है। इसके अलावा कुछ गंभीर लक्षण भी हो सकते हैं। जैसे-

इसे भी पढ़ें - डेंगू में प्लेटलेट काउंट कम होने पर क्या दिक्कतें होती हैं? जानें इसके खतरे

1. काफी तेज बुखार 40°C / 104°F टेंपरेचर होना। इस स्थिति में तुरंत डॉक्टर से सलाह लें। साथ ही बच्चे का ब्लड टेस्ट कराएं। 

2. बुखार के साथ-साथ बच्चों को तेज सिर दर्द

3. उल्टी आना

4. जोड़ों और हड्ड्यों में दर्द भी हो सकता है। 

5. स्थिति गंभीर होने पर स्किन पर लाल चकत्ते नजर आते हैं। 

6. मसूड़ों से खून आना या फिर खून की उल्टी आना बच्चों में डेंगू के गंभीर लक्षण हो सकते हैं। 

डॉक्टर विकास गुप्ता का कहना है कि बच्चों में डेंगू बुखार की गंभीरता को कम करने के लिए उन्हें पर्याप्त मात्रा में पानी दें साथ ही तुरंत डॉक्टर से संर्क करें। 

डेंगू से बचाव कैसे करें?

डॉक्टर का कहना है कि डेंगू का कोई विशिष्ट उपचार प्रक्रिया नहीं है। ऐसे में इसका बचाव ही उपचार होता है। खासतौर पर इस सीजन में अपने बच्चों की केयर करें। 

  • बच्चों की इम्यूनिटी को बूस्ट करें। उन्हें ताजे फल और सब्जियां दें। 
  • अदरक और शहद का सेवन बच्चों को करने दें। 
  • घर की साफ-सफाई का ध्यान रखें। 
  • शाम और सुबह के वक्त घर के दरवाजों और खिड़कियों को बंद करके रखें। 
  • मच्छरदानी लगाकर सोएं। 
  • घर के आसपास पानी एकत्र न होने दें। 

बच्चों को डेंगू की गंभीरता से बचाने के लिए उन्हें पर्याप्त मात्रा में पानी पिलाएं। उन्हें मच्छरों से दूर रखें। इसके अलावा अगर आपको बच्चों में डेंगू के लक्षण नजर आ रहे हैं तो तुरंत डॉक्टर से सलाह लेँ।  

 
Disclaimer