मामूली सा कट लगने पर बहने लगे ज्यादा खून तो डायबिटीज नहीं शरीर में हो गई है इस विटामिन की कमी, जानें स्त्रोत

शरीर के किसी भी अंग पर कट लगने से अगर ज्यादा खून निकलता है तो आपके शरीर में इस विटामिन की कमी हो गई है।   

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaPublished at: Jun 02, 2020Updated at: Jun 02, 2020
मामूली सा कट लगने पर बहने लगे ज्यादा खून तो डायबिटीज नहीं शरीर में हो गई है इस विटामिन की कमी, जानें स्त्रोत

आपने कई बार गौर किया होगा कि आपके हाथ-पैर या फिर शरीर के किसी अंग पर लगा हल्का सा कट आपके लिए बहुत ज्यादा चिंता का सबब बन जाता है। दरअसल होता यूं है कि दिखने में लगने वाला मामूली से इन कट में से बहुत ज्यादा खून निकलता है और आप इस कारण बेहोश भी हो सकते हैं। इतना ही नहीं कई बार ज्यादा खून निकल जाने से किसी भी व्यक्ति की मौत हो सकती है। अक्सर लोग खून के ज्यादा बहने या कटने पर लगातार बहने वाले खून को डायबिटीज का संकेत मानते हैं लेकिन ऐसा होता नहीं है। हर बार इस बात के लिए डायबिटीज को जिम्मेदार ठहराना सही नहीं होता क्योंकि हमारे शरीर में ऐसे कई पोषक तत्व हैं, जो इस समस्या का कारण बन सकते हैं। जी हां, आपके शरीर में पोषक तत्वों की मात्रा इस समस्या का कारण हो सकती है। हल्के से कट पर लगातार खून बहना शरीर में विटामिन के (Vitamin K) की कमी का संकेत दर्शाता है। तो आइए जानते हैं कि कैसे विटामिन के आपके शरीर के लिए इतना जरूरी है।         

VITAMINK     

क्यों जरूरी है विटामिन के (Why Vitamin K is Important)

विटामिन के एक महत्वपूर्ण पोषक तत्व है जो वसा में घुलनशील विटामिन के समूह से संबंधित है। यह प्रोथ्रोम्बिन नाम के प्रोटीन के उत्पादन में मदद करता है, जो रक्त के थक्के के निर्माण और मेटाबॉलिज्म के में महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। विटामिन के (Vitamin K) के बिना, आपका शरीर इन आवश्यक थक्के कारक का उत्पादन नहीं कर सकता है और आपको मामूली कट के बाद भी अत्यधिक रक्तस्राव का सामना करना पड़ सकता है।                    

इसे भी पढ़ेंः गर्मियों में चेहरे पर कच्चा एलोवेरा लगाने से हो सकती है इचिंग! जानें जले, कटे, खुजली पर कितना लगाएं एलोवेरा रस    

किन लोगों में होती है विटामिन के की कमी (Deficiancy of vitamin k)

आमतौर पर, नवजात शिशु और कुपोषण की समस्या वाले लोगों में विटामिन के (Deficiancy of vitamin k) की कमी होती है। इसकी कमी के कारण खोपड़ी में रक्तस्राव हो सकता है और ये जानलेवा साबित हो सकता है। इसीलिए नए माताओं को विटामिन K से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन करने की सलाह दी जाती है ताकि उनके शिशुओं को स्तनपान के जरिए ये पोषक तत्व मिल सकें।   

 VITAMIN                             

विटामिन K के फायदे (Health Benefits of Vitamin k) 

विटामिन K हड्डियों के घनत्व को सुधारने और फ्रैक्चर के जोखिम को कम करने में भी मदद करता है। इसके अतिरिक्त, जिन लोगों के रक्त में इस पोषक तत्व का उच्च स्तर होता है उन लोगों में सबसे बेहतर याददाश्त संबंधी गुण पाया जाता है। विटामिन K आपके हृदय स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा है क्योंकि यह आपके रक्तचाप (ब्लड प्रेशर) को नियंत्रित करता है और धमनियों में खनिजों को जमा होने से रोकता है। यहां हम कुछ खाद्य पदार्थों के बारे में बता रहे हैं जो विटामिन के की कमी से होने वाली जटिलताओं से पीड़ित होने से बचने के लिए आप अपने डेली रूटीन में शामील कर सकते हैं।   

इसे भी पढ़ेंः दही में नमक डालना क्यों बन जाता है धीमा जहर? जानें घर पर हेल्दी, गाढ़ा, पौष्टिकता से भरपूर दही जमाने का तरीका        

विटामिन K से भरे फूड ( Foods Rich in Vitamin K) 

विटामिन K दो प्रकार के होते हैं जैसे कि विटामिन K1 (फ़ाइलोक्विनोन) और विटामिन K2 (मेनकिनटोन)। पहला विटामिन K1 प्रमुख रूप से प्लांट बेस्ड खाद्य पदार्थों में पाया जाता है। हालांकि, दूसरा विटामिन एनिमल बेस्ड खाद्य पदार्थों में मौजूद होता है। केल, सरसों का साग, पालक और ब्रोकोली विटामिन K1 से भरे होते हैं। विशेष रूप से, 100 ग्राम केल में 817 एमसीजी विटामिन के होता है। जबकि 100 ग्राम सरसों के हरे रंग में 593 मिलीग्राम पोषक तत्व होता है।

वहीं एनिमल बेस्ड सोर्स में बीफ़ लीवर, पोर्क चॉप्स और चिकन विटामिन K2 से भरे होते हैं। फैटी मीट और लिवर विटामिन K2 के सबसे समृद्ध स्रोत हैं। इस पोषक तत्व की अच्छी मात्रा प्राप्त करने के लिए आपके पास बेकन, डक ब्रेस्ट और चिकन लिवर भी हो सकते हैं।                    

Read More Article On Miscellaneous In Hindi

Disclaimer