बीमार होने पर पूरे दिन में करें ये 6 काम, तेजी से होगी रिकवरी और मिलेगा जल्द आराम

बीमार होने पर आप कुछ हेल्‍दी चीजों को अपने रूटीन में शाम‍िल करके जल्‍दी र‍िकवरी की ओर बढ़ सकते हैं, आइए जानते हैं इसके बारे में 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Jul 28, 2021Updated at: Jul 28, 2021
बीमार होने पर पूरे दिन में करें ये 6 काम, तेजी से होगी रिकवरी और मिलेगा जल्द आराम

बीमारी में समय ब‍िताना मुश्‍क‍िल होता है, ऐसे समय में ज्‍यादातर लोग पूरे द‍िन बेड पर लेटे रहते हैं पर बीमारी में पूरे द‍िन बेड पर लेटे रहने से न तो आपकी रोग प्रत‍िरोधक क्षमता बढ़ेगी और न ही आप जल्‍दी र‍िकवर हो पाएंगे। अगर आपको बीमारी से जल्‍दी उबरना है तो कुछ आसान उपायों को अपना सकते हैं जैसे बीमारी के दौरान मेड‍िटेट करना, इम्‍यून‍िटी बढ़ाने वाली चीजों का सेवन करना, काढ़़ा पीना, प्रकृत‍ि के आसपास रहना आद‍ि। इन चीजों को अपने रूटीन में शाम‍िल करेंगे तो आपकी बीमारी जल्‍दी ठीक हो जाएगी और आपकी बॉडी एक बार फ‍िर फ‍िट हो जाएगी। इस लेख में हम बात करेंगे क‍ि बीमार होने पर आपको अपना द‍िन क‍िन चीजों के साथ ब‍िताना चाहि‍ए जि‍ससे आपको जल्‍दी आराम म‍िले। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के लि‍ए हमने लखनऊ के केयर इंस्‍टिट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज की एमडी फ‍िजिश‍ियन डॉ सीमा यादव से बात की।

stay positive when you are sick

1. बीमारी से जल्‍दी ठीक होने के ल‍िए प्रकृत‍ि की मदद लें (Nature helps to get well soon)

अगर आप बीमार हैं तो आराम करने के अलावा प्रकृत‍ि के साथ समय ब‍िताएं। अगर आपके घर पर बालकनी, आंगन, छत या बगीचा है तो पेड़-पौधों के पास कुछ देर बैठें। ताजे फल, फूलों की खुशबू से मन और शरीर पर सकारात्‍मक प्रभाव पड़ता है। ये बेहद आसान तरीका है बीमारी से जल्‍दी ठीक होने का। प्रकृत‍ि के बीच आपको सनलाइट भी म‍िलेगी। सूरज की रौशनी से शरीर को व‍िटाम‍िन डी म‍िलेगा। व‍िटाम‍िन डी की पूर्त‍ि से आप आराम से सो पाएंगे क्‍योंकि‍ व‍िटाम‍िन डी के सेवन से नींद अच्‍छी आती है और ज‍ितना आप आराम करेंगे बीमारी उतना जल्‍दी ठीक होगी। 

इसे भी पढ़ें- वर्क फ्रॉम होम बना सकता है आपको बीमार, इन 5 स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं के हो सकते हैं आप शिकार

2. बीमारी के दौरान र‍िकवरी के ल‍िए कैसी डाइट लें? (Diet plan for recovery when you are sick)

diet when you are sick

  • सुबह उठकर आप तुलसी की 4-5 पत्‍त‍ियों को खाएं और हल्‍दी का दूध प‍िएं।
  • सुबह नाश्‍ते में आप बाजरे के आटे का सूप बनाकर पी सकते हैं, उसमें अदरक का पाउडर, गुड़, अजवाइन और घी म‍िलाकर प‍िएं।
  • दोपहर के समय आप मूंग दाल की ख‍िचड़ी खा सकते हैं। इसमें कॉर्ब्स, प्रोटीन, हेल्‍दी फैट्स, फाइबर, व‍िटाम‍िन सी आद‍ि पोषक तत्‍व होते हैं ज‍िसके सेवन से आप जल्‍दी र‍िकवर कर लेंगे। 
  • शाम के समय आप बादाम और नट्स डाल स्‍मूदी पी सकते हैं। इससे आपके शरीर में ताकत आएगी। 
  • रात के समय आपको सूप पीना चाहि‍ए, आप अपनी पसंद की सब्‍जी का सूप बनवाकर प‍िएं। 
  • कुछ लोगों को बीमारी में मीठा खाने का मन होता है तो आप कच्‍ची हल्‍दी का हलवा बनाकर खा सकते हैं, कच्‍ची हल्‍दी को भूनें और उसमें गुड़ मिलाकर खाएं। 

3. बीमारी में तनाव और दर्द कम करने के ल‍िए मेड‍िटेट करें (Meditation can reduce stress when you are sick)

meditate when you are sick

अगर आप बीमार हैं तो दर्द आपको परेशान कर सकता है। तकलीफ कम करने के ल‍िए आप मेड‍िटेट करें। ध्‍यान करने से तनाव कम होता है और इम्‍यून‍िटी बढ़ती है। जरूरी नहीं है क‍ि खराब तबीयत में आप बेड से उतरकर जाएं, आप बेड पर बैठे-बैठे भी मेड‍िटेशन के लाभ उठा सकते हैं। मेड‍िटेट करते समय गहरी सांस लें और अपनी सांस पर फोकस करें। आपको अपने शरीर से सांस अंदर और बाहर जाते समय उसे महसूस करना है। आप मेड‍िटेट करते समय हल्‍का संगीत भी सुन सकते हैं। 

  • बीमारी में मेड‍िटेट करने से आपको दर्द का अहसास कम होगा। 
  • बीमारी में तनाव को कम करने के ल‍िए मेड‍िटेशन सबसे बेहतर विकल्‍प है। 

4. बीमारी में हाइड्रेट रहना क्‍यों जरूरी है? (Importance of staying hydrated when you are sick)

बीमारी में आप खुद को ज‍ितना ज्‍यादा हाइड्रेट रखेंगे उतना जल्‍दी आप र‍िकवर हो सकेंगे। आपको पानी की मात्रा तो पूरी करनी ही है साथ ही कुछ हेल्‍दी ड्र‍िंक्‍स का भी सेवन करना चाहि‍ए जैसे नींबू पानी, एप्‍पल जूस, हर्बल टी आद‍ि। अगर आप बीमार हैं और पानी की कमी आपके शरीर में हो रही है मतलब बॉडी ड‍िहाइड्रेट हैं तो आपकी तबीयत ब‍िगड़ सकती है। बीमारी के दौरान ड‍िहाइड्रेशन से उल्‍टी, डायर‍िया, की समस्‍या होती है इसल‍िए आपको शरीर को हाइड्रेट रखना जरूरी है। 

इसे भी पढ़ें- क्या होगा यदि आप गलती से फफूंद खा लें तो?

5. बीमार हैं तो रोग प्रत‍िरोधक क्षमता बढ़ाने के ल‍िए काढ़ा प‍िएं (Kadha can boost your immunity)

drink kadha when you are sick

अगर आप बीमार हैं तो आपको खुद को हाइड्रेट रखना जरूरी है। आप पानी का सेवन करते रहें, इस बीच आप ग्रीन टी या नार‍ियल पानी का सेवन भी कर सकते हैं। डॉ सीमा ने बताया क‍ि बीमार होने पर आप फलों के रस के बजाय फल खाएं, फल के रस में चीनी की मात्रा ज्‍यादा होती है और रेशे न होने से फल के पोषक तत्‍व रस में नहीं आ पाते, बीमारी में आपको फल के रेशे फायेदा पहुंचाएंगे इसल‍िए आपको बीमारी में फलों का सेवन करना चाहि‍ए। बीमार होने पर आप आसान काढ़ा बनाकर प‍िएं-

काढ़ा बनाने का तरीका (Kadha recipe)

  • काढ़ा बनाने के ल‍िए हल्‍दी की गांठ, लॉन्‍ग, दालचीनी और तुलसी के पत्‍तों को पीस लें। 
  • ये सभी सामग्री रोग प्रत‍िरोधक क्षमता बढ़ाने में मदद करती है। 
  • अब गरम पानी करके इस म‍िश्रण को उसमें म‍िला दें और उबालें। 
  • जब पानी आधा हो जाए तो उसमें शहद म‍िलाकर प‍िएं। 

6. इम्‍यून‍िटी बढ़ाने वाली चीजों का सेवन करें (Foods that build immunity)

  • बीमारी के समय आपको इम्‍यून‍िटी बढ़ाने वाली चीजों का सेवन करना चाहि‍ए जैसे ताजे फल, सब्‍ज‍ियां, नट्स। 
  • दही के सेवन से भी रोग प्रत‍िरोधक क्षमता बढ़ती है और पेट भी ठीक रहता है इसल‍िए बीमार होने पर आपको दही का सेवन जरूर करना चाह‍िए।
  • कच्‍चे लहसुन को खाने से भी रोग प्रत‍िरोधक क्षमता बढ़ती है। 
  • रोग प्रत‍िरोधक क्षमता बढ़ाने के ल‍िए नींद पूरी करना भी जरूरी है। 

जब आप बीमार हों तो इन गलत‍ियों को अवॉइड करें (Avoid these mistakes when you are sick)

avoid mistakes when you are sick

  • बीमारी के समय आपको इलेक्‍ट्रोन‍िक गैजेट्स से दूर रहना चाह‍िए। फोन या लैपटॉप चलाने से आंखों से पानी न‍िकलने की समस्‍या, स‍िर में दर्द और नींद न आने की समस्‍या हो सकती है इसल‍िए बीमारी के समय तेज लाइट और गैजेट्स से दूर रहें। 
  • जब आप बीमार हों तो तला-भुना खाना या ज्‍यादा चीनी या तेल वाला खाना न खाएं, इससे आपका हाजमा ब‍िगड़ सकता है। 
  • बीमारी में शरीर को साफ रखें, अगर आप बुखार में नहा नहीं सकते तो भी आपको स्‍पंज की मदद से शरीर को साफ रखना चाह‍िए ज‍िससे स्‍क‍िन इंफेक्‍शन न हों।
  • अगर कई द‍िनों से बीमार हैं तो पूरे समय बेड पर लेटने की गलती न करें, इससे बेड सोर होने की आशंका बढ़ सकती है। आपको बैठने या चलने की कोश‍िश भी करनी चाह‍िए।

जो मरीज क‍िसी गंभीर बीमारी का श‍िकार हैं या जो पूरी तरह से बेड रेस्‍ट पर हैं उन्‍हें अपने डॉक्‍टर की सलाह के अनुसार ही द‍िनचर्या तय करनी चाह‍िए।

Read more on Miscellaneous in Hindi 

Disclaimer