आपका टीनएज बच्चा कर रहा है मनमानी? हैंडल करने के लिए अपनाएं ये 3 टिप्स

Tips to Handle Difficult Teenagers in Hindi: अगर आपका टीनएज बच्चा भी मनमानी करता है, तो आप उसे इन तरीकों से हैंडल कर सकते हैं।

Anju Rawat
Written by: Anju RawatUpdated at: Oct 13, 2022 14:55 IST
आपका टीनएज बच्चा कर रहा है मनमानी? हैंडल करने के लिए अपनाएं ये 3 टिप्स

Tips to Handle Difficult Teenagers in Hindi: हम सभी को बचपन से लेकर बुजुर्ग होने तक कई स्टेज से गुजरना पड़ता है। इसमें सबसे पहले बचपन, टीनएज, युवा और बुजुर्ग जैसे उम्रों से गुजरना पड़ता है। जैसे-जैसे एक बच्चा बढ़ा होता है, तो वह टीनएज में पहुंचता है। टीनएज एक ऐसी उम्र होती है, जिसमें शरीर में कई तरह के हार्मोन संबंधी बदलाव होते हैं। हार्मोन के बदलने का असर उनके शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य पर साफ दिखाई देता है। ऐसे में अकसर टीनएज बच्चों को गुस्सा अधिक आता है, इस उम्र में वे सब अपने अनुसार करना चाहते हैं। ऐसे में पेरेंट्स को लगता है कि बच्चे अपने मनमाने ढंग से चल रहे हैं और वे गुस्सैल या जिद्दी बन रहे हैं। वैसे तो टीनएज में थोड़ा बहुत बदलाव होना सामान्य है, लेकिन अगर आपका बच्चा बहुत ज्यादा गुस्सैल या जिद्दी बन रहा है, तो आप उसे कुछ टिप्स की मदद से हैंडल कर सकते हैं। तो चलिए, जानते हैं बच्चों को शांत कैसे किया जाए (Teenager Baccho ko Kaise Samjhaye)? या फिर बच्चों को ज्यादा गुस्सा आए तो क्या करें? बच्चे कहना नहीं मानते तो क्या करें? 

टीनएज बच्चों की मनमानी हैंडल करने के लिए टिप्स- How to Handle Teenagers in Hindi

1. जरूर सामान खरीदते समय उनसे राय लें

कई बार टीनएज बच्चे तरह-तरह के सामनों की लिस्ट पकड़ा देते हैं और हर मांग को पूरा करने की जिद्द करते हैं। ऐसे में आपको उनकी हर मांग को पूरा करने की जरूरत नहीं है। अगर आपका बच्चा कुछ अनहेल्दी चीजें खाने की जिद्द करता है, तो उसे समझाएं कि यह सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है। इसके अलावा अगर आप कुछ घर के लिए खाने-पीने का सामान या कुछ अन्य चीजें मंगा रहे हैं, तो सामान खरीदते समय उनकी भी राय जरूर लें। ऐसा करने से बच्चों को अच्छा महसूस होगा और वे हर चीज को पूरा करने की मनमानी नहीं करेंगे।

इसे भी पढ़ें- पेरेंट्स अपने बेटे को जरूर सिखाएं ये 5 बातें, अच्छी परवरिश के लिए है जरूरी

2. बच्चों को एक्स्ट्रा एक्टिविटीज में शामिल करें

टीनएज एक ऐसी उम्र होती है, जिसमें उन्हें हर छोटी-छोटी बातों पर गुस्सा आ सकता है। ऐसे में आपको उनके गुस्से को शांत करना बहुत जरूरी होता है। इसके अलावा हर बच्चा गुस्से में मनमानी करता है, तो इससे बचने के लिए आपको बच्चों को एक्स्ट्रा एक्टिविटीज में शामिल कर देना चाहिए। इससे बच्चों की ग्रोथ भी अच्छी होगी। अगर बच्चों को गुस्सा आए, तो आप भी उनपर गुस्सा करना शुरू न कर दें। इस स्थिति में आपको बच्चों के साथ शांति से बातचीत करने की जरूरत होती है। आप बच्चे के गुस्से को शांत करने, उसका ध्यान अच्छी जगहों पर लगाने के लिए उसे अच्छे कामों को करने की सलाह दे सकते हैं।

3. गलती स्वीकारना सिखाएं

टीनएज में अकसर बच्चे गलतियां कर ही देते हैं। ऐसे में जब बच्चे गलतियां करते हैं, तो पेरेंट्स उन्हें डांटने लगते हैं। लेकिन आपको इस उम्र में बच्चों को डांटने या मारने से बचना चाहिए। इसके बजाय आप बच्चों को गलती को स्वीकारना सिखाएं। इस स्थिति में आप बच्चों को गलती की वजह से मिलने वाली सजाओं से अवगत करा सकते हैं। उन्हें गलती पर माफी मांगना भी समझाएं। अगर बच्चा गलती करने पर माफी मांग लेता है, तो आपको भी उसे माफ कर देना चाहिए। 

इसे भी पढ़ें- टीनएज बच्चों के माता-पिता को ध्यान रखनी चाहिए ये 5 बातें

टीनएज में बच्चों के व्यवहार में बदलाव आना सामान्य होता है। लेकिन अगर बच्चा बहुत ज्यादा जिद्दी होता जा रहा है, तो आपको उन्हें प्यार से समझाने की जरूरत होती है। अगर बच्चा गुस्से में है या बच्चा मनमानी कर रहा है, तो इस स्थिति में कभी भी आप उन पर गुस्सा न करें। बल्कि इस स्थिति में आपको अपने टीनएज बच्चों को प्यार और समझदारी से समझाने और अच्छी बातें सीखने की जरूरत होती है।

Disclaimer